इश्क़ जुनून - 2 in Hindi Love Stories by Mehul Pasaya books and stories Free | इश्क़ जुनून - 2

इश्क़ जुनून - 2


" हम्म अंकल ने कहा फ़ोन रख दिया येह रहा चलो फ़ोन भी मिल गया अब कुच भी बाकी नही है और गाडी मे भी कुच लेना बाकी नही है सो अब चलना पडेगा "

" विवान हो फोन मिला क्या "

" हा सर मिल गया अब चलो चले "

" हा चलो "

" ये लो अंकल आपका फ़ोन अंदर ही भुल गये थे आप "

" शुक्रिया बेटा आपका "

" अरे अंकल अब इन सब की कोई जरुरत नही और आगे से ये मत बोलना क्यू की अच्छा नही लगता अंकल प्लीज "

" ठीक है बेटा नही बोलेंगे अब खुश "

" हा बहुत ज्यादा "

" ओके अपका चाचा भतीजे का प्यार खत्तम हो गया हो यो अब चले "

" हा सर जरुर अंकल चलो गाडी स्टार्ट करो "

" हा बेटा अभी करता हू पर जाना कहा है कोई बतायेगा "

" रिलैक्स अंकल वोह हम राश्ते मे बता देंगे और दरसल बात येह है की हमे ना कही घुमने जाना है प्लीज अंकल कोई अच्छी सी जगह पे लेजाओ ना "

" ओके बेटा आप फ़िकर मत करो हम आपको ऐसी जगह पे लेजायेंगे की आप वहा से आने की भी बात नही करेंगे "

" रियली अंकल तो फिर जहा आप कहेंगे वहा हम चलने के लिये तयार है "

" हा बेटा और वहा सब बहत अच्छा है और घुमने के लिये जगह भी बहुत अच्छी है सो अब वही लेके चलेंगे आप लोगो को "

" थैंक यू अंकल जी सो मच "

" इट्स ओके बेटा जी "

" वैसे विवान घर मे सब कैसे है तुम्हारे "

" जी सर सब ठीक है घर मे और एक दिन आपको जरुर अपने घर लेजाऊंगा इ प्रोमिस सर "

" चलो बहुत बड़िया और अंकल जी आप कुच बताओ आपके घर के क्या हाल है "

" दरसल बेटा हमारे घर मे भी सब ठीक ही है खैर आप तुम बताओ बेटा सब कैसा है आपके घर मे "

" अरे हा सर आपने तो नही बताया अपने घर के बारें में बताओ तो की सब ठीक है की नही "

" जी अंकल और विवान हम भी ठीक है और हमारे घर मे भी सब ठीक है खैर आज एक वादा करते है की अगर हमारे तीन मेसे कोई भी कोई समश्या मे फश जाये तो हम तीनो मिल कर सुलझाएंगे ओके सो डन ना "

" डन सर "

डन बेटा जी "

" वैसे अंकल जी और कितनी देर लगेगी हमे "

" बेटा जी अब सिर्फ 5 मिनट् मे पहुच जायेंगे डोंट वरि "

  

फाईव मिनट्स लेटर...


" लिजिये आगये हम जहा हम को आना था सो लेट्स गो नाव गाइज़ कॉम ऑन "

" ओके तो चलो देखते है यहा पे क्या नया है विवान तुम पहले सब चेक करलो यहा सब इन्तेजाम वाली जगह है भी या नही "

" जी सर करते है रुकिये जरा "

" अरे विवान बेटा इसकी कोई जरुरत नही हम सब आपको बता देंगे और रहने की सुविधा भी मिल जायेगी आप फिक्र मत करो ठीक है "

" ठीक है अंकल जी आप कह रहे हो तो हमे आप पे पुरा भरोसा है "

" जी शुक्रिया बेटे जी और हम आपको शिकायत का मौका तक नही देंगे देख लीजियेगा आप दोनो "

" चलो ठीक है देख ते है क्या होता है आखिर "

" अरे लक्स बेटा तुम चुप बताओ तो जरा की पहले जाना कहा है "

" जी अंकल पहले हमारे रहने का इन्तेजाम करते है सो पहले किसी अच्छे गेस्ट हाउस मे लेजाओ और अच्छे से अच्छा सब खाना पिना मिले उसमे लेजाइयेगा ठीक है "

" अरे लक्स बेटा डोंट वरि हम है ना सब अच्छे से कर देंगे आप निचिन्त रहिये ठीक है "

" ठीक है अंकल जी "

                To be continue...

Rate & Review

Ankit kumar

Ankit kumar 2 months ago

Writer Mehul

Writer Mehul 9 months ago

Mehul Pasaya

Mehul Pasaya Matrubharti Verified 9 months ago

ArUu

ArUu 9 months ago