रक्षक - 1 in Hindi Adventure Stories by Kayal King books and stories Free | रक्षक - 1

रक्षक - 1

किताब एक रास्ता
     
  रेवन जो अनाथले में रहता था, उसके माता पिता बचपन से ही  मर गए थे , उसकी उम्र 19 साल थी  उस को किसी ने   एक किताब भेजी थी जो रेवान पड़ रहा था वह किताब अनोखी उस किया पर समय का चिन्ह था रेवन ने अभी किताब खोली है, थी अचानक उस किताब मे से रोशनी निकालने लगी ,तब उस रोशनी ने कमरे को पूरी तरह घेर लिया , धीरे धीरे रेवन का पूरा शरीर  धूवा धुवा होकर किताब में चला गया ।
       रेवन की जब आंख खुली तो  ओ एक मेहल में था उसे कुछ भी समझ में नहीं आया जब कुछ लोगो ने उसे रक्षक कहेकर बुलाया तब भी उसे कुछ समझ में नहीं आया, ओर कुछ दूर एक राजा खड़ा था उसने रेवन को बताया कि तुम एक रक्षक हो तुम्हे बुलाने का कारण मेरी बेटी रेवा है उसे एक चेतान जादूगर पकड़ लिया है । उस जदुगरका नाम रेमो है जो सब जादूगरों राजा है , उसके पास काली ताकत भी है और उसे कोई नहीं मार सकता है , कई साल पहले एक बाबाने राज कुमारी रेवा के जन्म समय कहा कि इस राज कुमारी पर 18 साल के बाद खतरा मंडराएगा  उसका हल पूछने पर बाबा ने कहा कि भविष्य से एक रक्षक आएगा जिसके हाथ पर सूर्य को चिन्ह होगा।
    
    रेवन ने पूछा कि कैसे राजकुमारी रेवा को बचाया जा सकता है, तभी राजा ने कहा कि पहले तुम्हे तुम्हारी 5 सक्ती को हासिल करना होगा जो वह शक्ति अलग-अलग दिशाओं में से अलग-अलग स्थानों पर मिलेगी और एक शक्ति इस महल में से तुम्हें प्राप्त होगी, पहली शक्ति अग्नि की है जो तुम्हें अग्नि बर्दाश्त करने की और किसी भी चीज को जलाने की ताकत देती है, दूसरी शक्ति किसी भी जहर से बचने की है जो सांप, बीच और कोई भी जहर से बचाती है, तीसरी शक्ति अदृश्य होने की जब चाहो तब अदृश्य हो सकते हो, चौथी शक्ति उड़ने की और पांचवें और अंतिम शक्ति एक पल में किसी भी स्थान पर पहुंचा सकती हैं। 
     
    पहले शक्ति जो अग्नि की थी और शक्ति राजकुमारी के कमरे में एक आईने से मिली। दूसरी शक्ति पाने के लिए रेवन उत्तर की तरह चलने लगा वहां एक काली पहाड़ी थी उस काली पहाड़ी पर एक मंदिर  था मंदिर में महाकाली मां की विशाल मूर्ति थी उस विशाल मूर्ति की तीसरी आंख चुने से उसे दूसरी शक्ति मिल गई जो हर जहर का तोड़ थी । तीसरी शक्ति दक्षिण की ओर एक दूर गुफा दी उस गुफा में एक असुर रहता था जो बहुत बड़ा था और ससुर के हाथ में एक अंगूठी दे अंगूठे में जो पत्थर था उस पत्थर में रेवन की तीसरी शक्ति छुपी हुई थी जब रेवन उस असुर तक पहुंच जा तब उसे सुनने रेवन को खाने की कोशिश की तब रेवन ने उसको उसके ही हथियार से मार दीया मारने के बाद रेवन ने उसकी अंगूठी चुली तब तीसरी ताकत भी उसे मिल गई जो अदृश्य होने की थी। चौथी ताकत प्राप्त करने के लिए उसे एक वेद के जंगल में जाना पड़ा जहां उसे मिलने वाली थी उड़ने की ताकत लटकते हुए जंगल में बहुत सारे प्रेत थे उसके पास उड़ने वाला रसायन था जिसे पीने से कोई भी इंसान उड़ सकता था, यह शक्ति प्राप्त करने के लिए बहुत देर तक प्रेतों से मुकाबला कर तारा और एक एक  करते हुए हुए सारे प्रेतो को मार दिया और चौथी शक्ति  भी उसके पास आ गई, अब बारी थी अंतिम और पांचवी शक्ति की जो एक ही पल में एक जगह से दूसरी जगह पहुंचा सकें वह शक्ति थी कब्रिस्तान के जीन के पास उस शक्ति को प्राप्त करने के लिए उसे जिनकी चोटी काटनी पड़ती है जग रेवन वहां गया तब रेवन अदृश्य हो गया और धीरे-धीरे जिनकी चोटी काटने उसके पास 5 शक्ति  थी। 5 शक्ति या लेकर महल आया तब राजा ने उसे कवच और तलवार के बारे में बताया ।
   
  कवच की खोज में ......

      
                       # Kayal king 👑


Rate & Review

Kayal King

Kayal King 3 months ago

Kayal King

Kayal King 5 months ago