बिज़नेस टाइकून की लव स्टोरी - 4 in Hindi Love Stories by Missamittal books and stories Free | बिज़नेस टाइकून की लव स्टोरी - 4

बिज़नेस टाइकून की लव स्टोरी - 4







जय श्री राम दोस्तों  🙏🙏
अगर आपने मेरी कहानी बिजनेस टाइकून की लव स्टोरी  के पहले5 पार्ट्स नहीं पढ़े हैं तो कृपा करके पहले उन्हें पढ़ें फिर आगे की स्टोरी पढ़ें.
🌹🌹🌹🙏🙏 मुझे उम्मीद है आपको यह कहानी जरूर पसंद आ आ रही होगी. यह कहानी  मेरी ओरिजिनल कहानी है किसी की कॉपी या डुप्लीकेट नहीं है. जनहित में जारी..😅


  अभी तक आपने पढ़ा 📌
  कायरा डॉक्टर की परमिशन लेकर घर के लिए निकल जाती है और अभी वह क्रॉस रोड क्रॉस कर रही होती है कि दूसरी तरफ से गाड़ी आ जाती है गाड़ी अभी टकराने वाली होती है कि रनवीर उसे आकर बचा लेता है दोनों को इस  एक साथ देख कर ऋषि रणवीर को मारने लग जाता है कायरा गुस्से में आकर रणबीर को किस कर लेती है

अब आगे
ऋषि जलती हुई आंखों से उन दोनों को देख रहा था,जैसे ही ऋषि जानें के निकल गया कायरा ने रणबीर को छोड़ दिया,

कयरा ऋषि को  जाते हुए देखने लग गई,
इधर रणबीर ने जब कायरा की  नजरों का पीछा किया तो वह ऋषि को देख रही थी,
रनवीर को इस बात पर गुस्सा आ गया,
तभी उसके कंधे पर रनवीर ने हाथ रख कर उसको अपनी तरफ घुमा लिया और
गुस्से से चिल्लाने लग गया, तुम समझती क्या हो अपने आपको जब चाहे
लालची बोल दिया,
फ्रॉड बोल दिया,
जब चाहे किस कर लिया
रणबीर उससे बहुत बुरी तरह डांट रहा था,
तुम दूसरों की फीलिंग की कोई कदर नहीं करती,
तुम हमेशा खुद के बारे में ही सोचती हो
अरे सोचुकी क्यों नहीं बिजनेस वूमेन जो हो ।
तुम दूसरों की फीलिंग की कोई फिक्र नहीं है जब चाहे गुस्सा कर लिया
जब चाहे दूर कर दिया, तुम हमेशा दूसरों को अपने हिसाब से इस्तेमाल करती आ रही हो,
इधर कायरा हो तो बस चुपचाप उसे सुन रही थी,
सही तो कह रहा था रनवीर
वैसे ही तो थी,
अपने मन की करने वाली ,ना किसी की फिकर ना कोई कदर,
रणवीर अभी भी उस पर चिल्ला रहा था,
कभी तो दूसरों की बारे में सोच लिया करो, वह क्या फील करते हैं,
रनवीर की आंखों में गुस्से के साथ-साथ दर्द भी था, ऐसी पहली बार हुआ था कि कायरा किसी के गुस्से का शिकार हुई थी,
नहीं तो हमेशा कायरा ही अपना गुस्सा दूसरों पर निकालती आ रही थी,
रनवीर ने कायरा को गुस्से में अपनी और खींचा और आंखों में देखकर बोला,
अब तुम्हारी नहीं चलेगी मैं तुम्हें बताऊंगा कि अगर किसी की फीलिंग के साथ खेलते हैं तो कैसा  फील होता है इतना कहते ही उसने कायरा को अपनी ओर खींचा और उसकी गालों पर किस करली,
उसके  हाथ उसकी गर्दन को पकड़े हुए थे,
Kaira खुद को उसकी पकड़ से छुड़वाने की नाकाम कोशिश कर रही थी,
रनवीर ने कायरा को छोड़ा और गुस्से में उसे रास्ते में छोड़कर वहां से चला गया ,
कायरा कीआंखों में आंसू आ गए,
उसने अपने हाथों से आंसू पहुंच लिए और धीरे धीरे घर की तरफ चली गई
़़़़़़़़़़़़़़़़़़़
इधर रणवीर चुपचाप उसे जाता हुआ देख रहा था उसकी आंखों में भी आंसू थे,
उसके चेहरे से नाराजगी साफ दिख रही थी, रणवीर ने उसे जाते हुए देखकर खुद से ही कहा"" क्यों तुम ऐसा ही करती हो,  जब तुमसे दूर जाने की कोशिश करता हूं ,तुम उतना ही मेरे करीब आ जाती हो लेकिन तुमने आज जो किया है ,उसके लिए मैं तुम्हें माफ नहीं करूंगा ,""

किसी दिन तुम्हारा यही गुस्सा तुम्हें बहुत बड़ी मुसीबत में डाल देगा,
...................
इधर किसी होटल के रूम में
एक वही एक लड़का और लड़की आपस में बातें कर रहे थे , तभी दूसरा लड़का कमरे में आया उन दोनों को गुस्से में देखते हुए बोलने लग गया ""तुम्हारा दिमाग खराब हो गया है दोनों का ''
आज यह सब करने की क्या जरूरत थी,अगर उसको कुछ हो जाता तो
तभी लड़की ने उस लड़के का कॉलर पकड़ते हुए बोलने लगे"" तुम्हें बड़ी चिंता हो रही है उसकी कहीं तुम सच में उसे प्यार तो नहीं करने लग गए""??
लड़के ने कहा ""तुम्हारा दिमाग खराब हो गया है सच्चाई ,तुम जानती हो तुम दोनों एक नंबर की बेवकूफ हो"""
अगर वह आज उस गाड़ी से मर जाती ,तो पुलिस इन्वेस्टिगेशन में उस गाड़ी के बारे में सारी डिटेल पता लग जाती है, फिर वह ड्राइवर हमको फंसा सकता था,,वह तो उस लड़के ने उसे बचा लिया,नहीं तो हम बुरी तरह फस जाते,,
लेकिन वह लड़की अभी भी वो लड़की से गुस्से में बोलने लगी"" मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता मेरे साथ कुछ भी हो लेकिन मैं उसे और जीतेजी नहीं देख सकती"" तभी पहले लड़के ने उस लड़की को पानी देते हुए कहा ""दीदी चिंता मत करो,यह सही कह रहे हैं(  दूसरे लड़के की तरफ इशारा करते हुए कहा) हमें कुछ ऐसा करना होगा कि जिससे  सांप भी मर जाए और लाठी भी ना टूटे ",
तभी उस दूसरे लड़के ने उस लड़की का हाथ पकड़ते हुए बोला ""जान"", तुम चिंता मत करो बस कुछ और दिन,
मैंने सब सेट कर दिया है
बस कुछ टाइम के बाद हमारी लाइफ सेट हो जाएगी,
हमारे सपने पूरे हो जाएंगे,फिर हम यहां से बहुत दूर चले जाएंगे,
उस लड़की ने उस लड़के की आंखों में देखते हुए कहा "सच"
हाँ,
लेकिन अब तुम कुछ ऐसा मत करना कि मेरा प्लान खराब हो जाए,
वादा करो,
"वादा"उस लड़की ने कहा:
तभी पहले लड़के ने वाइन का ग्लास उन दोनों को देते हुए बोला ,
इसी बात पर चेयर और तीनों वाइन पीने लग गए ,
वाइन पीते पीते उस लड़की ने कहा "लेकिन ऐसा तुम क्या करोगे "
उस दूसरे लड़के ने कहा "जान ,तुम उसकी टेंशन मत करो, बस तुम अपना ख्याल रखो और जैसा जैसा मैं बोलता जाऊंगा,
वैसा वैसा करना और ध्यान रहे
काम ऐसे होना चाहिए कि किसी को कानों कान खबर नहीं हो ,
"ठीक है," उस लड़की ने कहा:
फिर उसी वक्त   पहले लड़के का फोन बजा,फोन उठाते ही उसने कहा"
दीदी, मुझे काम आ गया है,
मैं चलता हूं,
ठीक है,उस लड़की ने कहा
उस लड़के के जाते ही
वह  दूसरा लड़का और वह लड़की शराब के नशे में मदहोश होकर एक दूसरे को प्यार करने लग गए,

....................😍😍😍😍😍😍😍😍
कायरा धीरे-धीरे घर के अंदर चली गई,
घर बहुत बड़ा था, लेकिन रहने वाले सिर्फ कायरा और उसका गुस्सा ,😜😜
नौकर ,चाकर ,पैसा , दौलत, शोहरत सब था उसके पास.
लेकिन कोई अपना कोई खास, जो उसे समझा सके ,प्यार दे सके ,या डांट सके, ऐसा उसके पास कोई नहीं था,
कायरा धीरे धीरे चल कर सोफे पर आकर बैठ गई,
उसके दिमाग में सिर्फ रणवीर की कही हुई बातें ही घूम रही थी,कितना सही समझता था वह कायरा को,
आज तक कायरा ने सिर्फ अपने बारे में ही सोचा था,कोई उसके बारे में क्या सोचता है उसने कभी नहीं सोचा था ,
लेकिन आज उसको बहुत रोना आ रहा था ,
उसने आंखें बंद की और अपनी मम्मी को याद करने लग गई,
एक मम्मी ही तो थी,
जो उससे बहुत प्यार करती थी ,
जब कायरा कॉलेज के फर्स्ट ईयर में थी,
तभी उसकी मम्मी की मौत हो गई थी, डॉक्टर ने उनकी मौत की वजह कैंसर बताई थी,
वैसे कायरा के पापा भी थे, पापा तो नाम के थे
उन्होंने तो कभी कोई जिम्मेदारी निभाई ही नहीं,
माँ  थी जो सब कुछ करती थी लोगों के काम करके पैसे कमा कर घर चलाती थी, उसका बाप तो बस नशे की हालत में ही रहता था नशा करते करते एक दिन नशा ही उनको खा गया तब से कायरा  अकेली ही थी,
उसने खुद पढ़ाई की खुद बिजनेस स्टार्ट किया और आज जहां भी है खुद अपने ही मेहनत से है,
कायरा ने सब कुछ भूल कर अपना पूरा समय बिजनेस को दे दिया ,क्योंकि उसकी मां का सपना का सपना था कि वह एक अच्छी जिंदगी जिए,
वह नहीं चाहती थी कि वह उनकी तरह गरीबी और जिल्लत भरी जिंदगी गुजारे,
फिर 1 दिन किसी भी बिजनेस मीटिंग में कायरा की मुलाकात ऋषि के साथ हुई जैसे-जैसे समय बीतेगा दोनों की दोस्ती हो गई,
एक दिन ऋषि ने कायरा को शादी के लिए प्रपोज कर दिया कायरा को भी ऋषि ठीक लगता था क्योंकि वह उसे सपोर्ट करता था, प्यार का तो पता नहीं लेकिन वह उसे अच्छा लगता था ,
इसलिए कायरा ने भी उसे हां कर दी
लेकिन कहते है ना हाथी के दांत दिखाने के और और खाने के और होते हैं
ऐसे ही एक दिन कायरा के पास कोरियर से एक पैकेट आया ,जिसमें ऋषि और एक लड़की की फोटोस थी फोटोस किसी होटल के कमरे की थी नीचे एड्रेस भी लिखा था रूम नंबर सारी डिटेल्स थी,
कायरा को तो जैसे किसी ने खींच के थप्पड़ मारा हुआ ऐसा लगा था,
उसे जल्दी से ऋषि को फोन किया तो ऋषि ने फोन तो नहीं उठाया लेकिन मैसेज करके कह दिया कि वह मीटिंग में है तभी कायरा के फोन में किसी अननोन नंबर से मैसेज आया और उसमें ऋषि और और किसी लड़की की और फोटो थी तो तो कायरा जल्दी से उस होटल में गई  होटल वह जल्दी से उस कमरे की तरफ गई और जैसे ही  कमरे की बेल बजाई तो किसी लड़की ने दरवाजा खोला  कायरा अभी कुछ बोल पाती के अंदर से ऋषि की आवाज है,
"बेबी कहां रह गई ,जल्दी अंदर आओ ,मुझसे इंतजार नहीं हो रहा जैसे ही  कायरा न ऋषि की आवाज सुनी है वह तो वही पर जम गई ,
उसने गुस्से से उस लड़की को धक्का दिया और अंदर चली गई अंदर जाकर देखा तो ऋषि बेड पर आराम से नंगा पड़ा था ,
कायरा को देखते ही ऋषि के  ऊपर जैसे बिजली गिर गई हो ,कायरा ने तो जैसे बिना कुछ देखे ही उसको पीटना शुरू कर दिया और उसकी पहनाई हुई रिंग भी उसके मुंह पर मार दी ,
ऋषि ने सिर्फ उससे पैसों और पावर के लिए प्यार किया था सॉरी प्यार नहीं प्यार का नाटक किया था ,
उस दिन कायरा अंदर ही अंदर बहुत टूटी थी कितना रोई थी वह घर आकर ,
कोई था भी नहीं जो उसे संभाल सके
आज उस को खाली घर काटने को हो रहा था 😥
यह सब सोचते सोचते ही  कायरा रोने लग गई  और रोते रोते ही वहीं सोफे पर सो गई,
अगली सुबह फोन की घंटी से कायरा की नींद खुली,
कायरा ने फोन को देखा तो पिए का फोन आ रहा था.

कायरा ने आंखें मलते हुए फोन उठाया और बोली हां वर्षा बोलो ( कायरा की पीए का नाम वर्षा है),
पीए ने कहा  "मैम कुछ डाक्यूमेंट्स पर आपके साइन चाहिए थे ,"
आज दोपहर तक डाक्यूमेंट्स आगे भेजने हैं,
तो क्या आप ,,,
कायरा ने कहा" ऐसा करो किसी के हाथ डॉक्यूमेंट भेज दो मैं साइन करके वापस भेज दूंगी"
पीए ने कहा "लेकिन मैम"
डॉक्यूमेंट कॉन्फिडेंशियल है, अगर किसी ने उनको खोल कर देख लिया तो हमें नुकसान हो सकता है,
कायरा ने फिर थोड़ी देर सोचा और बोली" अच्छा चलो मैं ऑफिस आती हूं,
ऐसा करना जितने भी डाक्यूमेंट्स पर साइन चाहिए आज ही करवा लेना,
और जो बाकी पेंडिग वर्क्स  है,
उनके बारे में भी मुझे डिटेल चाहिए,
"ओके मैम"  पीए ने कहा,
इतना कहते ही कायरा ने फोन काट दिया,
कायरा सोफे से उठी और धीरे-धीरे अपने कमरे की तरफ तैयार होने के लिए चली गई,
थोड़ी देर बाद कायरा तैयार होकर नीचे आ गई,
वह दरवाजे की तरफ जाने लगी कि तभी किसी ने उसे आवाज मारते हुए रोक लिया
आवाज सुनकर कायरा रुक गई, और पीछे घूम गई पीछे मुड़कर देखा तो,
एक लडका जिसकी उम्र करीब 22 23 साल की थी साधारण से कपड़े, चेहरे पर मुस्कुराहट, ठीक-ठाक बॉडी
6 फीट हाइट,बिखरे हुए लंबे बाल
हाथों में खाने की प्लेट लिए खड़ा था.
उसे देखते ही कायरा के चेहरे पर स्माइल आ गई,
उस लड़के ने कहा "कायरा बेबी खाना खा लीजिए
मैं खाना लगा रहा हूं, खाना खा कर जाना"
पवन अभी भूख नहीं है,
""ऐसा करो तुम खा लो मुझे लेट हो रहा है,मैं जा रही हूं""
कायरा ने कहा
"देखो बेबी" ,उस लड़के पवन ने कहा
अगर आप नहीं खाएंगे तो,मैं भी नहीं खाऊंगा,
उसने थोड़ा गुस्से में आते हुए कहा
"पवन यह कैसी जिद है"",कायरा ने थोड़ा गुस्सा दिखाते हुए कहा,""
जैसी आप जिद करती है वैसे ही मेरी जिद है
कायरा के चेहरे पर थोड़ी और मुस्कुराहट आ गई
अच्छा ठीक है ज्यादा मत सुनाओ ,जल्दी से खाना लगा दो और सुनो,
तुम भी खा लेना,नहीं ऐसा करो
तुम भी अपना खाना भी साथ में लगा लो
नहीं कायरा, बेबी आपको पता है, आपके खाने के बाद ही मैं खा लूंगा  हमेशा की तरह
अच्छा बाबा ठीक है,
इतना कहते ही पवन ने कायरा के लिए प्लेट में खाना लगाना शुरू किया और कायरा ने खाना खाया और पवन को घर का ख्याल रखने के लिए बोल कर बाहर चली गई,
कायरा धीरे धीरे कर के अपनी गाड़ी में आकर बैठ गई ,
कायरा खिड़की के बाहर देखते देखते सोचने लगी कि कैसे वह पवन से मिली थी,
वह तीन चार साल पहले की यादों में  चली गई ,
कायरा की मम्मी का उस दिन जन्मदिन था,
वह हमेशा की तरह अनाथालय में सभी बच्चों को मिलने के लिए गई,
वहां पर कायरा ने सभी बच्चों को खाना गिफ्ट्स और बुक्स भी दिए,
सभी बच्चों से मिलने के बाद वह स्टाफ मेंबर्स को कुछ गिफ्ट देने के लिए ऑफिस में गई,
तो देखा एक 17 अट्ठारह साल का लड़का डर के मारे काँप रहा था,
उसके सामने स्टाफ मेंबर्स के कुछ लोग बैठे थे
उस लड़के को देखकर कायरा को कुछ अपनापन महसूस हुआ,
कायरा जाकर मैनेजमेंट कमेटी के मेंबर्स के सामने बैठ गई सभी उसे देखकर अपनी जगह से खड़े हुए,
कायरा मेंम,
आप यहां?
वेलकम मैम वेलकम🙏🏻
सॉरी मैं आपको रिसीव करने नहीं आ सके,
इट्स ओके,
कायरा चेयर पर बैठते हुए उस लड़के की तरफ देखते हुए कहा
"अरे रामू, मैडम के लिए चाय पानी लेकर आओ," स्टाफ के एक मेंबर ने कहा,
नहीं नहीं मुझे कुछ नहीं चाहिए,
उसने अपने servant को इशारा किया और सारे गिफ्ट्स टेबल पर रख रखकर सारे सरवँट बाहर आ गए,
कायरा ने गिफ्ट्स की तरफ इशारा करते हुए कहा
यह सब आपके लिए है
थैंक्यू मैम
लेकिन आप बच्चों के लिए इतना कुछ करती है तो आप हमें क्यों दे रही है
यह सब आप बस बच्चों के लिए ही लेकर आया करिए
एक आदमी ने कहा
कायरा ने थोड़ी कुटिल मुस्कान के साथ कहा" अगर आप सभी खुश होंगे, तभी तो आप सभी बच्चों को खुश रख सकेंगे"
कायरा ने उस लड़के की तरफ इशारा करते हुए कहा यह कौन है?
पहले तो कभी देखा नहीं!
रो क्यों रहा है ?
तभी एक आदमी ने कहा" कुछ नहीं मैडम कल ही आया है ,यह कहीं पर चोरी करते हुए पकड़ लिया था पुलिस ने,
उम्र छोटी होने के कारण इसे कोई सजा भी नहीं मिल सकती थी,
इसलिए इसे यहां छोड़ गए
लेकिन कहते हैं ना मैडम को कुत्ते की पूंछ कभी सीधी नहीं हो सकती वही हाल इसका है,
पहले बाहर चोरी कर ली थी और आज इसी अनाथालय में चोरी कर करते हुए पकड़ा गया,
अच्छा!
लेकिन यह रो क्यों रहा है?
अरे कुछ नहीं मैडम फिर से चोरी करता पकड़ा गया इसलिए रो रहा है ,
अभी हम मीटिंग कर ही रहे थे कि तभी आप आ गई हम तो डिस्कस कर रहे थे कि इसका क्या करें,
कायरा बातें तो सुन रही थी" लेकिन देख लड़के की तरफ रही थी, रो-रो कर उस लड़के की नाक लाल हो गई थी,
बिखरे हुए बाल ,फटी हुई कमीज ,पैरों में ना कोई चप्पल ना कोई सैंडल,
कायरा को उस लड़के के साथ अजीब सा रिश्ता महसूस हुआ,
जैसे उसके साथ उसका कोई कनेक्शन  हो,
कायरा ने मेंबर्स की तरफ देखकर पूछा क्या नाम है इसका "मैडम नाम तो नहीं बताया ,इसलिए बस बेबी बेबी बोलता रहता है,जब उसको नाम पूछो
कायरा घूमकर लड़के की तरफ देखा ,तो वह जमीन को देख रहा था,
कायरा उठी और उस लड़के की तरफ जाने लगी,
उसने उस लड़के के सर पर हाथ रखा, तो उस लड़के ने ऊपर की तरफ देखा ,
उस लड़के की आंखें रो रो कर पूरी लाल हो चुकी थी चेहरा सफेद था
बेटा क्या नाम है?
आपका उस लड़के ने कोई जवाब नहीं दिया,
कायराअपने घुटनों के बल बैठ गई
(कायरा वैसे गुस्से सुभाव की थी
लेकिन वह दिल की अच्छी थी हमेशा लोगों की मदद करती रहती थी
कभी-कभी लोगों के सामने से कभी उनके पीछे से )
देखो बेटा, डरो मत मैं हूं ना, यहां पर तुम्हें कोई कुछ नहीं कहेगा,
कायरा ने उस लड़के को बड़े प्यार से हाथों में हाथ देते हुए कहा,
देखो चुप हो जाओ रो मत,
कायरा उस लड़के के आंखों से आंसू पहुंचती है,
उस लड़के की चेहरे पर अलग ही तेज था वह कुछ बोलने को हुआ कि
तभी ऑफिस स्टाफ के 1 मेंबर्स ने बोलना शुरू किया
अरे मैडम आप क्यों इस चोर के मुंह लग रही है, खामखा अपना टाइम वेस्ट कर रही है,आपको तो पता ही है यह अनाथो का कुछ नहीं हो सकता,
आप जितना इसे प्यार करेंगे उतना ही आपको परेशान करेगा,
अरे मैडम ,अभी इसलिए इसी उम्र में 2 बार चोरी कर ली है आगे जाकर पता नहीं क्या-क्या करेगा,
वह कुछ आगे बोल पाता कि
कायरा ने गुस्से से उसकी तरफ देखते हुए हैं कहा" किसी बच्चे के साथ कैसे बात करते हैं,
आपको अकल नहीं है!
यह क्या चोर चोर लगा रखा है""
आगे से ध्यान रखना ,अगली बार कुछ बोलने से पहले याद रखना कि मैं कौन हूं ,समझे मैं तुम्हें 2 मिनट में यहां से भगा सकती हूं,
कायरा अभी कुछ बोलने को हुई कि
उसे महसूस हुआ कि उस लड़के ने उसकी  कमीज को जोर से पकड़ लिया है, 
कायरा ने उस लड़के की तरफ देखा जो अभी भी डरा हुआ था =
कायरा ने सभी लोगों को कमरे के बाहर जाने के लिए बोल दिया और फिर
उस लड़के के चेहरे पर हाथ रख कर धीरे से बोलने लगी
"बेटा तुम क्यों डर रहे हो देखो मैं हूं ना,"
तुम्हें कोई कुछ नहीं कहेगा,
इतना बोलता ही उसने उस लड़के का हाथ अपने हाथ में लिया और बाहर की तरफ चलने लगी,
कायरा ने उस लड़के से बातें करना शुरू करी
अच्छा मेरा नाम कायरा है तुम्हारा!
उस लड़के ने धीरे से कहा पवन,
अरे वाह पवन तो बहुत अच्छा नाम है,
इतना सुनते ही उस लड़के के चेहरे पर थोड़ी सी मुस्कुराहट आ गई,
कायरा को यह देख कर थोड़ा सुकून मिला,
अगर तुम्हारा नाम पवन है तो
तुम सबको बेबी बेबी क्यों बोल रहे थे?
कि तुम्हारा नाम बेबी है!

To be continue

#Missamittal

Rate & Review

Suresh

Suresh 6 months ago

ashit mehta

ashit mehta 6 months ago

Hardas

Hardas 6 months ago

Shetal Shah

Shetal Shah 7 months ago