स्टेट बंक ऑफ़ इंडिया socialem(the socialization) - 4 in Hindi Novel Episodes by Nirav Vanshavalya books and stories PDF | स्टेट बंक ऑफ़ इंडिया socialem(the socialization) - 4

स्टेट बंक ऑफ़ इंडिया socialem(the socialization) - 4

अदैन्य कुछ बोलने जाए उसके पहले ही एक सात वी वॉक्सवैगन का शॉर्ट ब्रेक पोलूशन सुनाई देता है. और अदैन्य पीछे मुड़कर आवाज़् की दिशा में देखता है.


अदैन्य को एक साथ दो आवाजें सुनाई देने लगी.

एक तो उसकी कार की सीट पर पडे हुए मोबाइल रिंग की. और दूसरी पीछे से आती हुई वोक्सवैगन की शॉर्ट ब्रेक की.

शॉर्ट ब्रेक की आवाज तो थोड़ी ही देर में चुप हो गई मगर मोबाइल अभी भी बज रहा है.
अदैन्य ने अपना हाथ कार की खिड़की में डाला और मोबाइल भी चुप हो गया.

शॉर्ट ब्रेक के बाद पीछे से आई वोक्सवैगन गोल घूम गई थी इसलिए अदैन्य को वह कार मैं बैठी हुई केवल मादा चालक ही दिख रही है. उसका चेहरा नहीं.

अदैन्य समझ गया और वह कैजुअल हुआ.

वायु गति से कार का डोर ओपन होता है और उसी वायु गति से मादा चालक कार के बाहर निकलती है.

इस सुंदर ललना को देखकर वनी प्रकृति रह न सकी और उसने वन में खुशबू फैला दी और अपना निजी संगीत भी छेड़ दिया.

अदैन्य ने खिड़की में से अपना मोबाइल कार की सीट पर फेंका और बोला "झंखना" तुम!!

झंखना पीछे मुड़ी और उसने तुरंत ही कैसुअल टोन में कहा, हां मैं एनी प्रॉब्लम?

अदैन्य ने कहा मगर तुम तो...... और तुरंत ही झंखना ने बीच में कहां हां सो?
वनी स्वान सुन रहा है और झंखना ने बोलना शुरू किया.

झंखना ने कहा तुम सभी मर्दों को वुमन सिक्सथ सेंस के आगे अपना सर झुका देना चाहिए.

कैमरा मैंन ने कहा मगर तुम तो फाइनल माइल पर ही थी और यहां कैसे!

झंखना ने चलना शुरू किया और कहां धेटस व्हाट आई वांट से यू.

हडसन ने कंधे उछाल कर कहां मैं कुछ समझा नहीं.

झंखना ने अदैन्य के सामने देखा और मुस्कुराइए.

झंखना ने अदी की बाहों में अपनी बाहें डाली और कहां अदि क्नोव्स मी वेरी वेल.

अदैन्य ने अपना हाथ छुड़ाया और कहां कम ऑन झंखना धीस नोट टाइम फॉर धीस

झंखना ने अदैन्य की कार का दरवाजा खोला और उसमें से चाबी निकाली.

झंखना ने वह चाबी पांचवी कार के बाहर खड़े एक टीम मेंबर की और फेंकी और सब को कहा शूटिंग कंप्लीट.

कैमरामैन तुरंत बोला नो नो इट्स नॉट कंपलीट. अभी 10 मिनट और बाकी है. और अब तो पूरा शूटिंग पहली मिनिट से ही शुरू करना होगा.

आई मीन टू से 5 अवर्स ही.

डिटेकटर हडसन ने अंगूठा कैमरामैन की और किया और कहा, ही इस राइट. ईमानदारी भी कोई चीज होती है, यार.

झंखना ने कहा मुझे लगता है की केलकुलेटर की शोध तुम जैसे इमप्रैक्टिकल लोगों के लिए ही हुई है.

हडसन ने पूछा व्हाट डू यू मीन बाय केलकुलेटर एंड इम प्रैक्टिकल पीपल्स वि.

झंखना ने कहा कार का टेंपरेचर मापो और केलकुलेटर उठाओ.

हडसन ने कमर पर हाथ रख कर पूछा, फिर!

झंखना ने कहा टेंपरेचर को 5 घंटे से डिवाइड करो और उसमें से 10 मिनट का हिसाब निकाल के 10 मिनट उसमें जोड़ दो, वेरी सिंपल!!

कैमरा मैंन ने पूछा और यदी अगर आने वाली 10 मिनट के बाद टेंपरेचर को कैलकुलेट करने वाली होती है तो!!

झंखना ने कहा धीस इज फॉक्सवैगन नाम कमोन. बी प्रैक्टिकल. तुम्हारा ऐड हीरो आज ऑफ मूड है.

कैमरा मैन ने झंखना से कहा मगर मैं अपने कैमरे में लगे हुए टाइमर को कैसे समझाऊंगा?

झंखना ने कहा वह तुम्हारा कैमरा है, तुम्हारी बात जरूर मानेगा






Rate & Review

DEEPAK MODI

DEEPAK MODI 3 months ago

Shakti Singh Negi

Shakti Singh Negi Matrubharti Verified 11 months ago