Ahsaas pyar ka khubsurat sa - 27 in Hindi Novel Episodes by ARUANDHATEE GARG मीठी books and stories PDF | एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 27

एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 27








आज का दिन शायद सभी के लिए बहुत बड़ा होने वाला था । कुछ राज़ खुलने वाले थे , कुछ लोग अपनी कोशिशों को अंजाम देने वाले थे , कुछ अपनी दिल की बातों का इज़हार करने वाले थे , कुछ के ज़ख्म कुरेदे जाने वाले थे , तो कुछ के लिए मुश्किलें खड़ी होने वाली थी । कुलमिलाकर आज का दिन शायद , सभी की ज़िन्दगी का यादगार दिन बनने वाला था । बहुत कुछ होने वाला था, आज के इस पूरे दिन में, जिससे शायद सभी अंजान थे ।

कायरा और अनय ऑडिटोरियम के अंदर आए । उसी वक्त आरव और सारे बॉयज भी , सभी गर्ल्स के पास आए । आरव आकर सभी से बात करने लगा । किसी का भी ध्यान कायरा और अनय की ओर नहीं गया । पर मीशा ने दोनों को देख लिया। कायरा और अनय को साथ आया देख , मीशा को एक उम्मीद सी दिखी , तो वह आरव के पास आयी और उसे कायरा और अनय के तरफ इशारा कर कहा ।

मिशा - वो देखो आरव !!!!! कायरा और अनय एक साथ आ रहे हैं । क्या तुम्हें पता था , कि दोनों साथ आने वाले हैं??? और कायरा, अनय के साथ क्यों आयी??? वो तुम्हारे, रूही या हम दोस्तों में से किसी के साथ भी तो आ सकती थी ना!!!!!

मिशा के इतना कहने से, आरव कायरा की तरफ देखने लगा । और उसकी नज़र का पीछा करते हुए सारे दोस्त भी कायरा और अनय को देखने लगे । आरव तो बस कायरा को देख सारी चीजें ही भूल गया । कायरा ने आज येलो कलर का सिम्पल सा प्लाजो सूट पहना हुआ था । कानों में छोटे - छोटे मोती के इयररिंग्स पहने हुए थे उसने । माथे पर भगवान के पूजा का, कुमकुम का छोटा सा टीका लगा हुआ था । आंखों में हल्का सा काजल लगा हुआ था । और उसके होठ गुलाबी दिख रहे थे , जिसमें उसने सिर्फ़ लिपग्लॉस लगाया हुआ था । दुप्पटा उसने हमेशा की तरह ही , साइड से बाएं कंधे पर डाला हुआ था । बालों को उसने छोटे से क्लचर से हाफ ही किया हुआ था । जिससे उसके कान के पास के बालों की लटें , बार - बार उसके ललाट पर आ रही थी , मानो उसकी इस खूबसूरती को बार - बार चूम रही हो। कायरा ने किसी भी तरह का, मेकअप नहीं किया हुआ था । बल्कि आज वह डेली से भी, कम ही तैयार हुई थी । पर तब भी वह इतनी सुन्दर लग रही थी, कि आरव मीशा की कही गई बात को भूलकर, बस कायरा को ही देखता रह गया । इस समय कायरा उसे , तालाब के पानी से नहा कर निकले हुए हंस की तरह दिख रही थी । बिना किसी लाग - लपेट के , बिल्कुल सिम्पल खुद की भरपूर सुन्दरता लिए, हंस के सुन्दर से रूप की तरह ही खूबसूरत लग रही थी आज कायरा । जिसे देख कर आरव तो बस, मंत्र मुग्ध सा हो गया । और उसे कायरा को ऐसे देख सारे दोस्त मुस्कुरा रहे थे ।

अनय कायरा से बाद में मिलूंगा बोल कर चला गया , और कायरा सबके बीच आ गई । मिशा ने जब आरव को चुप - चाप देखा तो उसे फिर से आवाज़ लगाई । पर आरव के कानों में तो जैसे जूं तक नहीं रेंगी । मिशा को बहुत गुस्सा आया , और उसे अपनी ये कोशिश भी विफल सी दिखाई दी । जिसकी वजह से वह, मन ही मन कायरा को कोस रही थी । कायरा जब सबके नजदीक आयी , तो शिवानी ने उसे देखकर मुस्कुराते हुए कहा ।

शिवानी - बहुत सुंदर लग रही हो तुम कायरा । और जब तुम बिना मेकअप के इतनी प्यारी दिख रही हो , तो तैयार होने के बाद तो और भी सुन्दर दिखोगी । ( आरव की ओर देख कर ) फिर तो लोग शायद परफॉर्मेंस देना भूल कर, बस तुम्हें ही मूर्ति बने देखते ही रह जाएंगे ।

शिवानी की बात से सभी दोस्त हंस दिए । तो वहीं मीशा के तो, तन बदन में जैसे आग ही लग गई , शिवानी के द्वारा कायरा के तारीफों के पुल बांधने पर । जबकि आरव तो अभी भी कायरा को ही एक टक देख रहा था । उसके द्वारा इस तरह से अपने आपको को देखना , कायरा को सभी लोगों के बीच थोड़ा असहज सा महसूस करवा रहा था । जिसे सारे दोस्तों ने भी महसूस किया । तभी नील ने आरव के सिर पर एक हल्की सी थपकी मारी । जिससे आरव कायरा की खूबसूरती से बाहर आया और उसे अपने नजदीक देख झेंप गया । उसे झेंपते देख , आदित्य ने उससे कहा ।

आदित्य ( हंसते हुए ) - और भाई !!!! आ गया तू अपने खयालों की दुनिया से बाहर या हमें और कोई तरीका अपनाना पड़ेगा, तुझे तेरे खयालों से बाहर लाने के लिए ????!!!!

आरव ( उसे घूरते हुए बोला ) - ज्यादा बक - बक मत कर । वरना तू अपने खयालों में जाने लायक नहीं बचेगा ।

आदित्य ने उसकी बात सुनकर, बस उसे अपनी बत्तीसी दिखा दी, जबकि बाकी सब हंस दिए । कायरा ने मुस्कुराकर शिवानी से कहा।

कायरा - थैंक्यू वेरी मच शिवानी ।

बदले में शिवानी मुस्कुरा दी । तभी रूही ने कायरा के ऊपर झूठा गुस्सा दिखाते हुए कहा ।

रूही - कहां थी तू अब तक ???? हम सभी तेरा कब से वेट कर रहे हैं ??? कितनी बार फोन किया है मैंने तुझे , पर मैडम ने ना तो फोन उठाया और ना ही अपने आने की खबर दी ।

कायरा को याद आया, कि उसने तो अपना फोन बैग में रखा था । उसने तुरंत अपने बैग में फोन ढूंढा , तो उसे उसका फोन बैग की साइड में रखे क्लच में मिला । जिसमें उसने सुबह इयररिंग रखते टाइम रखा था , और फिर इयररिंग के गुम जाने के बाद, वो अपने क्लच और फोन को भूल गई थी । कायरा ने अपना फोन निकाला और उसे ऑन किया , तो देखा कि वो साइलेंट में था । उसने रूही को फोन दिखाते हुए कहा ।

कायरा - सॉरी यार ......, ये देख फोन साइलेंट में था मेरा । सुबह इयररिंग ढूढने के कारण, मैं भूल ही गई थी फोन को बैग में डालकर ।

रूही ( उसे आश्चर्य से देखकर बोली ) - इयररिंग ढूढने में मतलब ??? और एक बात...., तू अनय के साथ क्यों आयी??? बता तो ज़रा .....!!!!

कायरा ने सभी को देखा कर , सुबह इयररिंग गुमने से लेकर, अनय के कॉलेज छोड़ने तक कि सारी बातें, सभी दोस्तों को बता दी । उसकी बात सुनकर आरव बोला ।

आरव - कोई बात नहीं , हो जाता है कभी - कभी ऐसा।

आरव की बात पर सभी ने सहमति जताई । जबकि मीशा आरव की बात सुन कर, गुस्से से तमतमा रही थी । तभी रूही उसके पास आयी और उसके जस्ट पीछे खड़े होकर, उसके कान के करीब आकर , उसने धीमी आवाज़ में मीशा से कहा।

रूही - मिल गई शांति !!!!???? सुन लिया ना , कि कायरा अनय के साथ क्यों आयी!!!!!

मिशा रूही की आवाज़ सुन , घबराते हुए पीछे की तरफ मुड़ी । तो उसे रूही अपने जस्ट पीछे खड़ी दिखी । मिशा ने रूही को हैरानी से देखा, तो रूही मुस्कुराते हुए , मीशा को चिढ़ाने के अंदाज़ में बोली ।

रूही - वैसे मिल तो गई ही होगी अब तुम्हें शांति । और अगर नहीं भी मिली होगी , तो मुझे उससे क्या !!! ( मिशा को गुस्से से घूरते हुए उसने कहा ) तुम्हें क्या लगता है ??? तुम जाल बिछाओगी और उसमें आरव फंस जाएगा ???? इतना बेवकूफ समझ कर रखा है क्या तुमने उसे ??? और तुमने ये कैसे सोच लिया , कि तुम आरव के दिल में , कायरा के खिलाफ नफ़रत भरने की कोशिश करोगी और मुझे पता नहीं लगेगा ??? तुमने शायद ध्यान नहीं दिया था मीशा , लेकिन जब तुम अपनी इस घटिया जबान से, आरव को कायरा के खिलाफ भड़का रही थी , उस वक्त तुम्हारे और आरव के बगल में, मैं खड़ी थी । और मैंने तुम्हारी सारी बातें सुन ली थी । ( आरव की ओर इशारा कर ) पर देखो मीशा , तुम्हारी बातों का तो आरव के ऊपर कोई असर ही नहीं हुआ । इन्फेक्ट उसने तो तुम्हारी बातों को ऐसे इग्नोर कर दिया, जैसे उसने तुम्हारी बात सुनी ही ना हो । बल्कि वो तो कायरा को देख कर, सारी बातें ही भूल गया । कितनी अजीब बात है ना !!!!! कायरा के आगे उसने तुम्हें भी इग्नोर कर दिया । ( मिशा को गुस्से से देखते हुए उसने कहा ) एक बात कान खोल कर सुन लो मीशा !!! आज जो तुमने किया , उसे दोबारा करने की कोशिश भी मत करना । वरना तुम्हारा मैं वो हश्र करूंगी , कि तुम आरव के दिल में कायरा के खिलाफ जहर घोलना तो दूर , खुद शांति से जहर खाने लायक भी नहीं बचोगी । ध्यान रखना मेरी बात तुम .... और वो भी अच्छे से।

इतना कहकर, रूही नफ़रत से भरी हुई आंखों से मीशा को देखकर , कायरा के पास आ गई । मिशा का रूही की बात सुन , गुस्से से पारा संतावे आसमान पर पहुंच गया और वह पैर पटकते हुए वहां से चली गई। रूही उसे इस तरह गुस्से में जाते देख , फीका सा हंस दी । तभी वहां पर अंशिका आयी। अंशिका के आने से , रेहान तो बस उसमें ही खो गया। अंशिका ने जब सभी को बातों में उलझे हुए देखा, तो सभी के पास आकर उसने कहा ।

अंशिका - आप लोग यहां पर खड़े बातें क्यों कर रहे हो ??? आप सब को रेडी नहीं होना क्या ???

कायरा - पर अंशिका मैं परफॉर्मेंस के कुछ वक्त पहले ही रेडी होने जाऊंगी । यूं रेडी होकर अपनी परफॉर्मेंस की बारी आने का वेट करना , मुझे अच्छा नहीं लगता ।

सभी ने कायरा की बातों में सहमति जताई और सभी ने परफॉर्मेंस के कुछ वक्त पहले रेडी होना ही बेहतर समझा । तभी आरव ने सभी से कहा ।

आरव - बाकी लोग भले ही बाद में रेडी हो जाना। पर नील , शिवानी , राहुल और रूही तुम लोग अभी से ही रेडी होना स्टार्ट कर दो । क्योंकि तुम लोगों का डांस परफॉर्मेंस, हम सभी से पहले है ।

आरव की बात पर , नील , शिवानी , राहुल और रूही ने हामी भरी और चारों ही रेडी होने चले गए । सारी गर्ल्स शिवानी और रूही की रेडी होने में, हेल्प करने चले गई और नील और राहुल को छोड़ कर बाकी सब वहीं चेयर्स पर बैठ गए । फंक्शन स्टार्ट हो चुका था , तभी एक सीनियर ने , आरव को किसी काम से अपने पास बुलाया । आरव उनके साथ चला गया । अब आदित्य और रेहान ही बचे, तो वो दोनों वहीं पर बैठ कर फंक्शन इंजॉय करने लगे ।

थोड़ी देर बाद शिवानी और रूही रेडी हो चुकी थी । तो दोनों ही स्टेज के पीछे चली गई । जबकि कायरा , सौम्या और अंशिका रेहान और आदित्य के साथ बैठ कर फंक्शन इंजॉय करने लगी । तभी नील और राहुल भी, शिवानी और रूही के पास, रेडी होकर आ गए । जैसे ही दोनों ने शिवनी और रूही को देखा, तो बस देखते ही रह गए । और यही हाल शिवानी और रूही का भी था , उन्होंने भी जब राहुल और नील को देखा तो बस देखती ही रह गई ।

शिवानी ने ब्लू कलर की फुल स्लीव की फ्रांक टाइप की ड्रेस पहनी हुई थी , जो उसके घुटनो के कुछ इंच नीचे तक आ रही थी । उसने अपने बालों में बहुत सुंदर सा, हैरस्टाइल डाला हुआ था , और कानों में छोटी - छोटी व्हाइट कलर की इयररिंग पहनी हुई थी । आंखों पर गहरा काजल , चेहरे पर हल्का सा मेकअप और होठों पर लाइट पिंक कलर की लिपस्टिक उसने लगाई हुई थी । और उसका रंग भी गोरा था, जिससे वह बिल्कुल किसी प्यारी सी, छोटी सी डॉल की तरह लग रही थी । शायद इसी लिए, नील की आंखें बस उसे ही देखे जा रही थी । जबकि नील ने , ब्लू कलर की शर्ट और व्हाइट कलर का पैन्ट पहना हुआ था । वह भी उस ब्लू शर्ट में इतना हैंडसम लग रहा था, कि शिवानी तो उससे अपनी नजरें ही नहीं हटा पा रही थी ।

कुछ ऐसा ही हाल, राहुल और रूही के साथ भी था । रूही ने बेबी पिक कलर की, बहुत सुंदर सी गाउन पहनी थी । जिसकी स्लीव्स लॉन्ग थी , और बालों में उसने भी बहुत प्यारी सी हेयरस्टाइल की हुई थी । कानों में ड्रेस के कलर से मैचिंग, उसने बेबी पिंक और व्हाइट मोतियों की मिक्स इयररिंग पहनी हुई थी । उसने हल्का सा मेकअप किया हुआ था । उसने आंखों पर गहरा काजल लगा रखा था और होठों पर हल्के ऑरेंज से कलर की लिपस्टिक लगा रखी थी। हल्के मेकअप करने से , उसका गोरा रंग और खिल कर बाहर आ रहा था । उस समय रूही , बहुत ही सुन्दर लग रही थी । उसे देखकर ऐसा लग रहा था, जैसे कोई परी आज आसमान से, जमीन पर उतर आयी हो । राहुल का तो रूही को देख कर ही दिल धड़क उठा , और उसके दिल की धड़कनों की रफ्तार इतनी तेज़ हो गई , कि उसे खुद भी महसूस होने लगी । और ऐसा ही कुछ हाल, रूही का हो रखा था। उसे तो आज राहुल के अलावा, कुछ और नजर ही नहीं आ रहा था । राहुल ने , बेबी पिंक कलर की टी - शर्ट के ऊपर व्हाइट कलर की जैकेट पहनी हुई थी और साथ में व्हाइट कलर का ही पैन्ट पहना हुआ था । रूही चाह कर भी आज अपने, दिल की बढ़ी हुई गति को कम नहीं कर पा रही थी ।

तभी स्टेज पर शिवानी और नील के डांस परॉर्मेंस की अनाउंसमेंट हुई । पर चारों को एनाउंसर कि आवाज़ सुनाई ही नहीं दी । तभी आरव वहां आया , और उसने नील को कंधे से पकड़ कर कहा ।

आरव - तुम लोग यहां क्या कर रहे हो ??? वहां तुम दोनों को स्टेज पर बुलाया जा रहा है ।

आरव की आवाज़ सुन चारों को होश आया । और नील और शिवानी आरव से आंखें चुराते हुए स्टेज पर चले गए । तभी आरव ने राहुल और रूही को देखा, जो शायद उससे नजरें चुराकर जमीन की ओर देख रहे थे । आरव को उन्हें ऐसे शांत देख कर थोड़ा अजीब लगा , कि दोनों मूक से क्यों खड़े हैं , एक दूसरे से बात क्यों नहीं कर रहे ??? आरव ने उनके पास आकर राहुल से कहा ।

आरव - राहुल !!! सब ठीक है ना ???

राहुल ( सकपकाते हुए बोला ) - हां आरव!!! सब ठीक है ।

आरव - तो फिर तुम दोनो, ऐसे मूक बने क्यों खड़े हो ??? जैसे एक दूसरे को जानते ही ना हो !!!!!

राहुल - अरे नहीं भाई ऐसा कुछ नहीं है । ( उसने बात बदलते हुए कहा ) चल ना!!!! नील और शिवानी का डांस इंजॉय करते हैं ।

आरव उसकी बात मान कर, नील और शिवानी का डांस देखने लगा । जबकि राहुल और रूही, एक दूसरे को कनखियों से देख रहे थे । यहां शिवानी और नील स्टेज पर पहुंचे। तभी उनका सेलेक्ट किया हुआ गाना बजा । आज दोनों को उस गाने पर डांस करके, एक अलग सी फीलिंग महसूस हो रही थी । जैसे आज दोनों ही उस गाने के साथ - साथ अपनी - अपनी फीलिंग्स, एक - दूसरे को एक्सप्रेस कर रहे हों ।

गाने के बोल जैसे ही नील के कानों पर पड़े , उसने शिवानी को प्यार भरी नजरों से देख कर, गाने के साथ - साथ गुनगुनाया।

तुझपे मेरी है दावेदारियां
तुझसे है दिल की साझेदारियां, साझेदारियां......,

शिवानी की नज़रों ने जैसे ही नील की नज़रों को देखा, तो उसके होठों पर अपने आप ही मुस्कुराहट बिखर गई । वह मुस्कुराकर कर नील के साथ डांस करने लगी । उसे मुस्कुराते हुए देख कर, नील भी मुस्कुराया और गाने लगा ...,

तुझपे मेरी है दावेदारियां
तुझसे है दिल की साझेदारियां

नील ने शिवानी को खुद के करीब किया , तो शिवानी की सांसें तेज़ रफ़्तार से चलने लगी , साथ ही नील के दिल की धड़कनों ने भी, अपनी रफ़्तार पकड़ ली । दोनों को ही अपने, दिल की धड़कने महसूस हो रही थी । नील ने शिवानी के साथ, एक प्यारा सा डांस स्टेप करके गाने के बोल के साथ कहा .....,

तेरे बिन सांसें लूं तो जी ना सकूं
अब तू ही बता क्या मैं करूं
क्या करूं, क्या करूं

तभी दोनों ने स्टेप चेंज किया और एक दूसरे की आंखों में देखने लगे । नील ने उससे आंखों ही आंखों में, गाने के साथ गाकर कहा.... ।

Girl I need you
Girl I need you
Girl I need you
Never leave you ❤️

नील ने स्टेप्स चेंज करने के साथ ही, शिवानी का चेहरा अपने हाथों में लिया और उसे देख कर कहा .....।

सुबह से शाम तक लम्हें
बाहों में तेरी गुजारूं
चेहरा तेरा सामने रख के
इस दिल में आज उतारूँ

तभी एक बार फिर नील ने स्टेप चेंज किया और अपने हाथों से शिवानी को थामकर, उसकी आंखों में देखते हुए कहा .....,

आँखों का नशा गुलाबी
अब रहा ना जाए ज़रा भी
तू दे परमिशन पी लूं
तेरे नाम का बनू शराबी
उतरे ना तेरी ख़ुमारी
भूलूं मैं दुनिया सारी
Oh girl every time I see you
बढती जाए बेताबी☺️💋

इस बार नील ने शिवानी का एक हाथ थामा और एक हाथ उसकी कमर पर रखा और अपने पैरों की गति बढ़ा कर डांस करने लगा । शिवानी ने जब नील का हाथ अपनी कमर पर महसूस किया, जिसके कारण नील उसके काफी करीब आ चुका था , तो उसे अपने बदन पर एक सिहरन सी महसूस हुई । वह नील की नजदीकियों में खो कर ही डांस करने लगी । नील ने उसके चेहरे को पढ़ते हुए, गाना गुनगुनाया....,

Girl I need you ...,
Girl I need you
हुआ है ऐसा पहली - पहली बार.....,
Girl I need you....,
हुआ है ऐसा पहली - पहली बार.....,
Never leave you

तभी शिवानी नील के थोड़ा और करीब आयी और उसने नील की आंखों में देख कर खोते हुए गाना गुनगुनाया ....,

पहली दफा
आँखों से है ये नींदें खफ़ा
के तेरी ओर चल पड़ा
ये दिल का रास्ता 😍

नील उसके कहने के अंदाज़ पर ही फिदा होकर मुस्कुरा दिया , दोनों ने स्टेप्स चेंज किए , और शिवानी एक बार फिर उसे देख कर, गाने के बोल के साथ बोली ....,

पहली दफा
आँखों से है ये नींदें खफ़ा
के तेरी ओर चल पड़ा
ये दिल का रास्ता

नील शिवानी को एक बार फिर अपने करीब लाया और उसकी आंखों में देख कर, उसकी बढ़ी हुई धड़कनों को खुद में महसूस कर, अपनी भी बढ़ी हुई धड़कनों के साथ बोला ....,

अब तेरी धड़कन से मेरी धड़कन
अब जुड़ने लगी क्या मैं करूं
क्या करूं, क्या करूं

शिवानी उसके इस तरह से कहने से शर्मा गई , तो नील मुस्कुराकर, उसे देख कर बोला .....,

Girl I need you
Girl I need you
Girl I need you
Never leave you 🤩😊

शिवानी ने उसका हाथ पकड़ा और डांस स्टेप करते हुए आंखों के इशारों के साथ, मुस्कुराकर बोली ......,

लम्हे मैंने तेरे लिए हैं रख दिए
दिल ये तुझको दे दिया है बिन कुछ लिए💝

नील उसके आंखों के इशारों को समझ कर बहुत खुश हुआ , और बदलें में शिवानी को देखकर मुस्कुरा दिया । तो शिवानी एक बार फिर शर्मा कर बोली .....,

लम्हे मैंने तेरे लिए हैं रख दिए
दिल ये तुझको दे दिया है बिन कुछ लिए

नील , आखों में प्यार कि मदहोशी सी लिए, शिवानी के धीरे - धीरे करीब आते हुए बोला ......,

तेरी नज़रों की तरफ़ नज़रें
अब मुड़ने लगी क्या मैं करूं
क्या करूं, क्या करूं💞

तभी दोनों ने एक बार फिर डांस स्टेप चेंज किया और एक बार फिर, एक दूसरे की आंखों में खोते हुए डांस करने लगे । साथ ही नील गाना गुनगुनाने लगा .....,

Girl I need you
Girl I need you.....,
हुआ है ऐसा पहली - पहली बार.....,
Girl I need you.......,
हुआ है ऐसा पहली - पहली बार.....,
Never leave you

सोंग फिनिश हुआ , पर शायद नील और शिवानी के एहसास अभी फिनिश नहीं हुए थे । वे दोनों अभी भी एक दूसरे की आंखों में देख , एक दूसरे के दिलों के जज्बातों को महसूस कर रहे थे । सारे दोस्तों को उनकी नजदीकियां देख कर, कुछ - कुछ तो समझ में आ रहा था । तो वहीं सौम्या, दोनों के बीच के आंखों के इशारों को और उनकी नजदीकियों को अच्छे से समझ रही थी । वह दोनों को एक दूसरे के करीब देख बेहद खुश थी , क्योंकि वह समझ चुकी थी, कि दोनों ने डांस के साथ ही , एक दूसरे की आंखों में खोते हुए, एक दूसरे को अपने प्यार का इज़हार कर दिया है । तभी हॉल में इकट्ठा भीड़ ने, उन दोनों के लिए जोरदार तालियां बजाई , जिसकी गड़गड़ाहट से दोनों अपने एहसासों से बाहर आए । लोगों की तालियों की आवाज़ इतनी तेज़ थी, कि पूरा हॉल तेज़ आवाज़ से भर गया , जिससे साफ स्पष्ट हो रहा था, कि नील और शिवानी ने कितना अच्छा डांस किया है । दोनों ही ऑडियंस को थैंक्यू बोल कर वापस स्टेज के पीछे आ गए । वहां पर रूही ने शिवानी को कस कर गले लगा लिया और मुस्कुराकर दोनों से कहा ।

रूही - बहुत अच्छा डांस किया आज तुमने और नील ने । ऐसा लग रहा था, जैसे हम किसी प्यारे से कपल को डांस करते हुए देख रहे हों ।

शिवानी रूही की बात सुन शर्मा गई , तो वहीं नील ने मुस्करा कर रूही को थैंक्यू बोला । तो आरव और राहुल ने उसे, एक साथ गले लगा कर कहा ।

आरव - क्या बात है नील ...., मतलब आखों ही आंखों में बहुत कुछ कह डाला आज तुमने ।

राहुल ( आरव की बात का समर्थन करते हुए बोला ) - अरे भाई!!! सिर्फ नील ही क्यों , यहां तो दोनों तरफ से आंखों ही आंखों में बातें और इशारे हो रहे थे । क्यों नील ??? मैं सही कह रहा हूं ना !!!!!

आरव और राहुल कि बात सुन, नील ने कस कर दोनों को गले लगाया और उनसे अलग होकर मुस्कुरा दिया , तो वहीं शिवानी , आरव और राहुल कि बात सुन , शर्मा कर वहां से भाग गई । उसके इस तरह से भाग जाने से, स्टेज के पीछे खड़े चारों दोस्त हंस दिए ।

राहुल और रूही का डांस एक दो डांस के बाद होने वाला था । इस लिए दोनों वहीं खड़े हुए थे , उनके साथ आरव भी खड़ा था । तभी वहां पर कायरा भी आ गई और रूही के साथ बातें करने लगी। नील और शिवानी अपने कपड़े चेंज कर, पहले वाले रूप में आ चुके थे , जो वो घर से बन कर आए हुए थे । दोनों ही सौम्या और आदित्य के अलग - बगल आकर बैठ गए । सौम्या ने शिवानी और आदित्य ने नील को मुस्कुराकर देखा। तो दोनों ही उनके इस तरह मुस्कुरा कर देखने से शर्मा गए । तभी रूही और राहुल के डांस परफॉर्मेंस की अनाउंसमेंट हुई । तो कायरा ने रूही को बेस्ट ऑफ़ लक कहा और आरव ने भी राहुल को बेस्ट ऑफ़ लक कह कर, स्टेज पर जाने के किए कहा । रूही और राहुल ने एक दूसरे को एक नजर देखा और फिर स्टेज की ओर बढ़ गए ।

उनके जाते ही आरव ने कायरा का हाथ पकड़ा और उसे पीछे दीवाल से लगा दिया और उसे प्यार भरी निगाहों से देखने लगा । कायरा उसकी इस हरकत से हतप्रभ होकर उसे देखने लगी और सोचने लगी, कि ये आरव ने क्या किया । उस वक्त वहां पर आरव और कायरा के सिवा और कोई नहीं था । कायरा ने आरव की नज़रों को नोटिस किया और उसने अपनी नजरें चुराते हुए आरव से कहा।

कायरा - आप ये क्या कर रहे हैं ??? मुझे इस तरह अपने करीब लाकर , ऐसे क्यों देख रहे हैं आप???

आरव ( कायरा की खूबसूरती में खोते हुए बोला ) - देख रहा हूं , कि तुम सादगी में भी कितनी खूबसूरत लगती हो । बिल्कुल आसमान की चांद की तरह चमकदार और खूबसूरत .......🌜😍 ।

कायरा ने उसकी बात सुनी, तो उसने अपनी बड़ी - बड़ी भूरी आखों से आरव को हैरानी से देखकर कहा।

कायरा - ये आप क्या कह रहे हैं ????

आरव ने उसकी हैरानी से भरी हुई आंखें देखीं, तो झेंप गया । और उसने कायरा से दूर होकर, अपने आपको नॉर्मल करते हुए कहा ।

आरव - वो कल से बात नहीं हुई थी ठीक से हमारे बीच, तो तुमसे बात करना था । इस लिए मैं.........!!!!

कायर ( उसे गुस्से से देखते हुए बोली ) - अच्छा ....!!! तो आप मुझसे इस तरह से, ऐसे मेरे करीब आकर बात करना चाहते थे ?????

आरव ( कायरा की ओर देख कर बोला ) - नहीं ..., नहीं ......, कायरा !!!!! तुम गलत समझ रही हो, मैं ऐसा कुछ भी नहीं करना चाहता था , पर पता नहीं कैसे हो गया । सॉरी , अगर तुम्हें बुरा लगा हो तो.......।

कायरा - मुझे लगता है कि, अभी हमें रूही और राहुल का डांस देखना चाहिए । बातें हम तब भी कर सकते हैं , जब हम एकदम ही फ्री हों .....।

इतना कह कर कायरा स्टेज के पास चली गई और वहां इतना शोर हो रहा था, कि किसी की भी आवाज़ सुनाई नहीं दे रही थी । आरव ने उसे जाते हुए देखा तो उसे आवाज़ दी ।

आरव - पर कायरा ......, मेरी एक बार बात तो सुनो.......।

पर माइक के शोर के चलते कायरा को उसकी आवाज़ सुनाई नहीं दी । और आरव को भी अब कायरा से कुछ भी कहने में परेशानी होने लगी। तो वह शांत होकर कायरा के बगल में ही जाकर खड़ा हो गया और रूही और राहुल का डांस देखने लगा ।

इधर रूही और राहुल स्टेज पर पहुंचे और उन्होंने एक दूसरे को देखा तभी सॉन्ग प्ले हुआ और दोनों ही खामोशी से डांस करने लगे ।

राहुल ने अपने दिल का हाल रूही के सामने रखने की कोशिश करते हुए, उसके साथ डांस करते हुए गाने के साथ गाकर कहा ......,

गुम है किसी के प्यार में दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊं, मैं उसका नाम, हाय राम

रूही ने जब राहुल के जज्बातों को समझा, तो वो भी उसके आंखों में खो कर बोली .....,

गुम है किसी के प्यार में दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊं, मैं उसका नाम, हाय राम

दोनों ने अपने डांस स्टेप्स चेंज किए और दोनों ही एक दूसरे की आंखों में देख कर डांस करने लगे । राहुल ने रूही को देख कर मन में खुद से कहा ।

राहुल - आखिर क्या छुपा रही हो तुम रूही ???? तुम्हारी आंखों में इस वक्त, किसी भी प्रकार के भाव क्यों नहीं है । क्यों इस भरी भीड़ में भी तुम्हारी आंखें, खाली सी हैं । ऐसा क्या है तुम्हारे दिल में, जिसके कारण तुम मेरे सामने आते ही चुप हो जाती हो ??? सबसे हंस कर, मुस्कुराकर बातें करती हो । पर मेरे ही सामने आने में , तुम्हारे चेहरे पर उदासी क्यों आ जाती है । मैंने तुम्हारी आखों में खुद के लिए प्यार देखा है । कई बार महसूस भी किया है मैंने खुद तुम्हारे प्यार को । और इसी वजह से, आज मैं तुम्हें अपने दिल की बात बताना चाहता हूं । पर तुम्हारे आंखों का ये खालीपन देखकर , मुझे अच्छा नहीं लग रहा है । अब मैं, जब तक तुम्हारे आंखों के खाली पन का ये राज़ नहीं जान लेता , तुम्हारे चेहरे की उदासी का कारण पता नहीं कर लेता। तब तक मैं तुम्हें अपने दिल का हाल नहीं बताऊंगा ।

इतना सोच कर राहुल ने रूही को थोड़ा अपने करीब लाकर कहा ......,

सोचा है एक दिन मैं उससे मिल के
कह डालूँ अपने, सब हाल दिल के
और कर दूँ जीवन उसके हवाले
फिर छोड़ दे चाहे अपना बना ले

राहुल ने रूही का हाथ पकड़ कर गोल घुमाया और उसे फिर से अपने सामने लाकर डांस करते हुए कहा ....।

मैं तो उसका रे, हुआ दीवाना
अब तो जैसा भी, मेरा हो अंजाम

राहुल ने रूही को अपने करीब खींचा , जिससे दोनों ही काफी नज़दीक आ चुके थे और दोनों की ही सांसें तेज़ चलने लगी थी । राहुल ने हल्के से अपने एक हाथ से, रूही के होठों के नीचे की चिन को पकड़ कर, उसका चेहरा उठाया और वह उसकी आंखों में देख कर बोला .....,

गुम है किसी के प्यार में दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊं, मैं उसका नाम, हाय राम

दोनों ही एक बार फिर एक दूसरे की आखों में खो चुके थे और एक दूसरे के करीब रह कर ही डांस कर रहे थे। रूही ने राहुल को देख, उदास और बेबसी से भरे हुए लफ्जों में खुद से मन ही मन कहा ।

रूही - मैं जानती हूं राहुल !!! कि आप मुझसे प्यार करने लगे हैं । हां मुझे पता है, कि आपको मुझसे बेइंतहा मोहब्बत हो गई है । पर क्या फायदा इस मोहब्बत का राहुल ??? क्योंकि मैं तो चाह कर भी आपकी इस मोहब्बत को एक्सेप्ट नहीं कर सकती । आपको प्यार हुआ भी तो किससे राहुल!!! उस लड़की से, जो अपनी मर्ज़ी से खुली हवा में सांस भी नहीं ले सकती ??? ना ही आपको अपने जज्बातों से बांध सकती है और ना ही आपसे अपने प्यार का इजहार कर सकती है । हां राहुल , मुझे भी आपसे बेपनाह मोहब्बत है , पर मैं....., मैं आपको चाह कर भी नहीं बता सकती । शायद हमारी इस खामोश मोहब्बत का कोई अंजाम नहीं है राहुल । भूल जाइए मुझे , निकाल फेंकिए आप मुझे अपने दिल से , किसी कांच के टुकड़े की तरह । जिसे कोई भी अपने जिस्म से लगा कर नहीं रखना चाहता। क्योंकि अगर हमने एक दूसरे से अपने प्यार का इजहार किया , तो हमें बहुत सी कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा और मैं आपको किसी भी मुसीबत में नहीं डालना चाहती ।

रूही अपने मन के खयालों में और राहुल कि आंखों में इतना खो चुकी थी, कि गाने के बोल के साथ ही उसने अपने दिल के जज्बातों को भी, राहुल के सामने खोल कर रख दिया । रूही ने गाने के शब्दों के साथ, अपने जज्बातों को मिला कर कहा .....,

चाहा है तुमने, जिस बावरी को
वो भी सजन वो, चाहे तुम्हीं को
नैना उठाए, तो प्यार समझो
पलकें झुका दे तो, इकरार समझो

रूही को एहसास हुआ कि उसने क्या कह दिया है, तो वह राहुल से अलग हुई और अपने जज्बातों को छुपाने के लिए राहुल से नजरें चुरा कर डांस करने लगी । राहुल को रूही के दिल के जज्बातों का एहसास हो चुका था । इस लिए वह एक बार फिर उसके मुंह से और उसकी आंखों से, उसके दिल के जज्बातों का बखान सुनना चाहता था। इसी वजह से राहुल ने, झटके से उसे फिर से अपने करीब किया, तो रूही एक बार फिर उसके आंखों में देख कर बोली ....,

रखती है कबसे, छुपा छुपा के
अपने होठों में, पिया तेरा नाम

राहुल ने जब रूही को खुद से अलग नहीं किया, तो रूही ने उसकी आखों में देखकर, खुद की बेबसी और लाचारगी जताते हुए कहा... , जिससे उसके आंखों के कोरों से आसूं का एक कतरा बह निकला .....,

गुम है किसी के प्यार में दिल सुबह शाम
पर तुम्हें लिख नहीं पाऊं, मैं उसका नाम, हाय राम

गाना खत्म हुआ तो रूही वहां से भाग कर जाने लगी , पर तभी राहुल ने उसका हाथ पकड़ा और उसे अपने करीब खींच लिया । जिससे दोनों की धड़कने, एक बार फिर तेज़ आवाज़ करने लगी । रूही राहुल को, आसुओं से भरी हुई आंखों से देखने लगी । जबकि राहुल उसकी आंखों में देख कर, उसके जज्बात समझने की कोशिश कर रहा था । तभी तालियों की तेज़ गड़गड़ाहट की आवाज़ आयी , जिससे राहुल का ध्यान रूही से हट कर, ऑडियंस की तरफ चला गया और राहुल ऑडियंस को थैंक्यू कहने लगा , कि तभी रूही ने राहुल से अपना हाथ छुड़ाया और तेज़ क़दमों से, अपने आंखों में आसूं लिए, रोते हुए स्टेज से उतर गई और दौड़ते हुए ऑडिटोरियम से बाहर चली गई ।

राहुल उसके इस तरह के व्यवहार को समझ नहीं पाया , और वह भी स्टेज से नीचे उतर आया । जबकि कायरा और आरव भी रूही के इस तरह के व्यवहार से हैरान थे । आरव ने राहुल के कंधे पर हाथ रख कर कहा ।

आरव - क्या हुआ है राहुल ??? सब ठीक तो है ना ??? रूही इस तरह से .....!!!

राहुल ( परेशान सा बोला ) - पता नहीं यार , उसे क्या हुआ है !!! मुझे भी कुछ समझ नहीं आ रहा है ।

कायरा ( रूही के लिए परेशान होकर बोली ) - पर वो तो ऐसा कभी नहीं करती, तो फिर आज ऐसा क्या हो गया ??? एक काम करती हूं, मैं उससे बात करती हूं ....।

इतना कह कर कायरा, रूही से बात करने जाने लगी, कि तभी राहुल ने उससे कहा ।

राहुल - रुक जाओ कायरा ....!!!! रूही से मैं बात करूंगा , तुम जाकर डांस परफर्मेंस के लिए रेडी हो जाओ ।

कायरा - पर राहुल!!! वो मेरी बेस्ट फ्रैंड है । उसे मैं अच्छे से जानती हूं ....., मैं उससे ......।

आरव ( कायरा की बात बीच में काट कर, रुड़ली होकर और उसका हाथ पकड़कर बोला ) - कायरा !!!! इस वक्त तुम्हारा रेडी होना ज्यादा जरूरी है । और राहुल को रूही से बात करने दो, वह ज्यादा अच्छी तरह उसे संभाल लेगा । तुम जा कर रेडी हो जाओ । कुछ देर में डांस परफर्मेंस है हमारी ।

कायरा ने आरव की गुस्से से भरी आवाज़ सुनी, तो वह चुप हो गई । और शांति से रेडी होने चली गई । उसके जाने के बाद, राहुल ने आरव को थैंक्यू कहा । तो आरव ने उसे गले लगा लिया , और जाकर रूही से बात करने के लिए कहा ......।

क्रमशः


Rate & Review

Vishwa

Vishwa 8 months ago

Usha Dattani Dattani
Sushma Singh

Sushma Singh 9 months ago

SANTOSHI PANWAR�
sangeeta ben

sangeeta ben 9 months ago