Ahsaas pyar ka khubsurat sa - 47 in Hindi Novel Episodes by ARUANDHATEE GARG मीठी books and stories PDF | एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 47

एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 47





राजवीर ने विनय की हां सुनते ही तुरंत कहा ।

राजवीर - ये झूठ बोल रहा है । ( विनय से ) तुम झूठ क्यों बोल रहे हो विनय । मेरी तो तुमसे बात ही नहीं हुई है कल ।

विनय - नहीं राजवीर । मैं झूठ नहीं बोल रहा हूं । कल तुमने ही मेरे पास अपने आदमी को भेजा था । और उसके थ्रू तुमने मुझे बताया , कि मुझे मॉल जाकर कल क्या करना है । तुम्हारे कहने पर मैं कल जान बूझकर रेहान से टकराया था । उसके बाद तुम्हारे ही कहने पर मैं इन लोगों के पीछे रेस्टोरेंट गया था और रेहान के जस्ट बैक साइड पर पीठ किए हुए बैठा था , ताकि मैं ये जानकर तुम्हें बता सकूं , कि ये लोग आज कहां घूमने जा रहे हैं । जब मैंने राजवीर को ये सब करने के लिए मना किया , तो राजवीर ने मुझे धमकी दी , कि ये मेरे घर वालों को किसी हादसे का बहाना बनाकर कर मरवा देगा ।

राजवीर ने सुना तो हैरानी से विनय को देखने लगा । पर उसने कुछ नहीं कहां, क्योंकि सच में सारे सबूत उसके खिलाफ थे । वह मन ही मन सोचने लगा कि विनय की मदद से उसे कौन फंसा रहा है । तभी राहुल ने कहा ।

राहुल - और तुम्हें रेस्टोरेंट से निकलते हुए रेहान ने देख लिया था । है न रेहान ....????

रेहान - हां.......।

आदित्य - अब बताओ राजवीर , अगर तुमने कायरा का किडनैप नहीं करवाया, तो फिर किसने करवाया ??? क्योंकि विनय के मुताबिक तुम्हें ही ये पता था , कि हम आज कहां घूमने जा रहे हैं ।

राजवीर ने कुछ नहीं कहा , बस वह विनय को घूरते हुए वहां खड़ा रहा । जबकि विनय अपनी गर्दन नीचे किए , उसकी नज़रों से बचने की कोशिश कर रहा था । तभी आरव ने कहा ।

आरव ( मिस्टर तिवारी से ) - अंकल , इसने सिर्फ आज ही कायरा को चोट पहुंचाने की कोशिश नहीं की हैं, बल्कि यह पहले भी कायरा पर अटैक करवा चुका है ।

मिस्टर शर्मा - होश में तो हो तुम आरव ....!!!! कुछ भी बोले जा रहे हो .....????

आरव - पापा .....!!!! अगर आपको मेरी बातों पर यकीन नहीं है , तो पूछ लीजिए कायरा से । ( कायरा की तरफ मुड़ कर ) बताओ कायरा , राजवीर ने उस रात तुम पर अटैक करवाया था कि नहीं..????

कायरा ( राजवीर को गुस्से से देखते हुए ) - जी...., करवाया था ।

आरव - इतना ही नहीं , इसने कायरा के साथ इस ऑफिस में कायरा के ही केबिन में घुसकर, बत्तमीजी करने की भी कोशिश की है । ( अपने मोबाइल में एक वीडियो चलाकर ) ये रहा उसका सबूत ......।

आरव के मोबाइल में उस दिन का वीडियो था , जब राजवीर ने कायरा के केबिन में उसके साथ बत्तमीजी की थी । सभी वो वीडियो देखने के बाद राजवीर को गुस्से से देख रहे थे और वो बस शांत खड़ा था, पर अंदर ही अंदर वह गुस्से से जल रहा था । कायरा ने जब वो रेकॉर्डिंग आरव के मोबाइल में देखी , तो उसे अजीब लगा । वो समझ नहीं पा रही थी, कि ये सारी रिकॉर्डिंग्स आरव ला कहां से रहा था । रेहान ने जब वो वीडियो देखा , तो उसका खून खौल गया । वह गुस्से से राजवीर की ओर बढ़ने लगा , पर आरव ने उसे रोक दिया और कहा ।

आरव - रुक जाओ रेहान ।

रेहान - इसने मेरी बहन के साथ एक बार फिर बत्तमीजी की है , इस लिए अब मैं इसे अपने हाथो से सजा देने के लिए खुद को नहीं रोक सकता आरव....।

आरव - रेहान ....!!! तुम चिंता मत करो , हमें इसे हाथ लगाने की भी जरूरत नहीं होगी और ये अपने आप ही घायल हो जाएगा । ये मेरा तुमसे वादा है ।

आरव की बात सुनकर , रेहान ने अपने कदम वापस ले लिए । तभी अरनव ने आरव से कहा ।

अरनव - जब तुम्हें इतना कुछ पता था राजवीर के बारे में , तो तुमने हमें पहले क्यों नहीं बताया ...???? और तुमने ये सारी रिकॉर्डिंग्स इतनी क्लीयरली कब और कहां शूट की हैं ???

आरव - ये सब मैंने खुद शूट नहीं किया है भैया , बल्कि मैंने सिर्फ कैमरा फिट किया था । और रेकॉर्डिंग उन्हीं कैमरों की हैं । ( राजवीर से ) तुम्हें याद है राजवीर , जिस दिन तुमने कायरा के केबिन में जाकर उससे बत्तमीजी की थी , उसी दिन मैंने तुमसे कहा था , कि दूसरों के काम में दखल अंदाजी करना बंद कर दो तुम । ( राजवीर आरव की बात सुनकर सोच में पड़ गया , तो आरव ने उसका चेहरा देख कर कहा ) और याद करो राजवीर , कि तुमने जिस दिन ये हरकत की थी , उसके एक दिन पहले तुम ऑफिस नहीं आए थे । इनफेक्ट एक दिन क्या , तुम उस समय दो तीन दिन ऑफिस से गायब थे । लेकिन मुझे तुम्हारा ऑफिस न आना , कहीं न कहीं खटक रहा था । मैंने उसी दिन आदित्य से बात कर एक प्लान बनाया और पूरे ऑफिस में हिडेन कैमरे लगवाए ।

आदित्य - और वो हिडेन कैमरे तुम्हारे केबिन और कायरा के केबिन , के साथ ही आरव के केबिन में भी फिट है । इतना ही नहीं , ऑफिस के हर एरिया , इनफेक्ट लिफ्ट में भी कैमरे लगे हुए हैं । और उसके साथ ही , ऑफिस के पार्किंग एरिया में भी यही कैमरे फिट हैं। जो खुद , मैंने और राहुल ने रात भर यहीं रह कर उसी दिन फिट करवाए थे , जिस दिन की बात आरव कर रहा है ।

आरव - इतना ही नहीं, हमने फैक्ट्री में भी ये हिडेन कैमरे फिट करवाए थे , क्योंकि हमें शक तो था ही कि तुम कुछ न कुछ जरूर करोगे , पर यकीन तब हो गया जब तुम चंदन और उसके आदमी से मिले । जिस दिन तुम चंदन से मिले , हमने उसी दिन फैक्ट्री में भी कैमरे फिट करवा दिए । अब बात आती है तुम्हारी वॉइस की , जो कि सेकंड वीडियो जिसे आदित्य ने सभी को प्रोजेक्टर पर दिखाया था, उस पर हम सभी को सुनाई दी थी । तो ये तो हम सभी जानते हैं , कि ऐसे कैमरों में सिर्फ चलचित्र ही दिखाई देते हैं , वॉइस सुनाई नहीं देती है । तो तुम्हें बता दूं राजवीर , जिस रात कैमरे फिट हुए थे , उसी रात तुम्हारे केबिन की टेबल पर रखे कंप्यूटर के नीचे , राहुल ने एक छोटी सी साउंड स्पीकर चिप फिट की थी , जिससे तुम्हारी सारी वॉइस, जब तुम अपने केबिन में होते थे तब की , सब मुझे अपने मोबाइल में सुनाई दे रही थी । इन सारे जगहों में लगे हिडेन कैमरे मेरे फोन से कनेक्ट थे , जिससे ऑफिस में कौन क्या कर रहा था और स्पेशली तुम क्या कर रहे थे , वो सब हमें मालूम चल रहा था । ऑफिस में सीसी टीवी कैमरे के साथ - साथ , हिडेन कैमरे भी लगे हुए हैं , ( राहुल नील आदित्य और रेहान कि तरफ इशारा कर ) ये बात सिर्फ हम पांचों दोस्तों को पता थी । लेकिन तुम, तुम्हारी इस वीडियो रिकॉर्डिंग में क्या - क्या कर रहे थे , उसके बारे में सिर्फ मुझे जानकारी थी , क्योंकि सारे कैमरे और वो साउंड स्पीकर चिप तो सिर्फ मेरे फोन से ही कनेक्ट थे । इनफेक्ट , कुछ घंटों पहले , ऑफिस आने से लगभग दस मिनट पहले तक ये बात , इन चारों को भी पता नहीं थी , पर जब मैंने तुम्हें अपने साथ अपनी कार में बैठाया और ज......., मेरा मतलब है नील से ऑफिस चलने के लिए कहा , उसके तुरंत बाद मैंने तुम्हारी नील और कायरा की नज़रों से छुप कर ये तीनों वीडियो इन सभी के नंबर पर सेंड कर दिए । सिर्फ ये लास्ट वीडियो , जो अभी - अभी मैंने सभी को दिखाया है , ये वीडियो मैंने अपने पास रखा और क्योंकि अगर मैं ये वीडियो इन चारों को भेज देता , तो तुम्हारे साथ तो बहुत बुरा होता । क्योंकि ये चारों ऑफिस में तुम्हें देखते ही, बुरी तरह से पीटना शुरू कर देते , जो कि मैं नहीं चाहता था । और तो और अगर ये वीडियो सारे डायरेक्टर मेम्बर्स के सामने प्ले कर दिया जाता , तो तुम्हारे साथ - साथ कायरा की भी इज्जत पर आंच आती । जो कि मैं बिल्कुल नहीं चाहता था । इसी लिए मैंने ये वीडियो सभी के जाने के बाद , आप सभी को दिखाया । और रही बात चंदन की , तो उसे मैंने जब हिडेन कैमरे के माध्यम से , अपने मोबाइल स्क्रीन में तुमसे बात करते हुए देखा , तो मैं उसे पहचान गया । उसी रात मैं चंदन के घर गया , तब वह अपने घर के बाहर बने चबूतरे पर , शराब के नशे में धुत्त पड़ा था । मैंने नशे का फायदा उठाकर , सारा सच उसके मुंह से उगलवा लिया और फिर उसे उसके घर के अंदर भेजा और उसका शराब का नशा उतरते ही , मैंने उसकी पत्नी से मुझे इनफॉर्म करने के लिए कहा । सुबह जब मैं सोकर उठा , तभी ही चंदन की पत्नी का फोन आया । मैं तुरंत सुबह - सुबह ही , चंदन के घर की ओर निकल गया । वहां मैंने उसे राजवीर का साथ देने के कारण , उसे नौकरी से निकालने की धमकी दी । बदले में उसने मुझसे माफ़ी मांगी । तो मैंने उसे माफ करने के बदले में , सारा सच यहां सबके सामने बताने के लिए कहा । वह मान गया और इसी वजह से उसने तुम्हारे कारनामें यहां सबके सामने बता दिए । ( मिस्टर शर्मा की तरफ मुड़ कर ) पापा आप कह रहे थे ना , कि मैंने ऑफिस से पैसे लेकर कहां खर्च किए , तब मैंने आपको ऑफिस और फैक्ट्री के रेनोवेट होने की बात बताई थी । बट सॉरी पापा , मैंने आपसे झूठ कहा था। मैंने ऑफिस और फैक्ट्री का रेनोवेशन नहीं , बल्कि उन पैसों से ये कैमरे लगवाए हैं । जिनकी वजह से आज राजवीर की असलियत हम सभी के सामने है ।

मिस्टर तिवारी ( राजवीर के पास आकर ) - क्यों किया तुमने ऐसा ?????

राजवीर ने उनकी बात पर कुछ नहीं कहा और अपनी नजरें नीची कर लीं । तो आरव ने मिस्टर शर्मा से कहा ।

आरव - पापा ...!!! मैंने तब राजवीर की पुलिस में कंप्लेन करने से सभी को मना किया , क्योंकि तब बात सिर्फ बिजनेस की थी । पर अब बात एक लड़की की इज्जत की हैं, और उसकी सेफ्टी की भी... । ( राजवीर से ) क्योंकि मैंने , तुम्हे राजवीर एक बार नहीं बल्कि कई बार वॉर्न किया है । हमेशा तुम्हें कायरा से दूर रहने के लिए कहा है । पर तुमने आज हद पार कर दी , कायरा की किडनेपिंग करने के कोशिश करके …...। वो तो शुक्र है भगवान का , जो सही समय पर मुझे क्लू मिल गए , वरना शायद आज हम कायरा को या तो खो दे......, ( थोड़ी देर रुक कर ) या फिर अभी हम उसे ढूंढ रहे होते । इस लिए पापा मैंने राजवीर की पुलिस कंप्लेन करने के बारे में सोचा है , वो भी एक लड़की के साथ छेड़खानी और बदसलूकी करने के जुर्म में... । और दूसरी कायरा की किडनेपिंग की सुपारी देने के जुर्म में ।

अरनव - मैं तेरी बात से सहमत हूं । हमें राजवीर को जेल भेज देना चाहिए , ताकि कायरा को दोबारा इसकी वजह से ऐसी कोई मुसीबत न झेलनी पड़े ।

आदित्य, नील, रेहान और राहुल ( एक साथ ) - हम भी आरव की बात से सहमत हैं ।

सभी की बात सुनकर , मिस्टर शर्मा ने मिस्टर तिवारी की तरफ देखा । पर मिस्टर तिवारी ने , मिस्टर शर्मा से कुछ नहीं कहा और न ही उन्हें कोई रिएक्शन दिया । क्या कहते और क्या करते वे । उनके बेटे ने ऐसी हरकत ही की थी , कि उसके लिए उसे जेल भेजना जरूरी हो गया था । और बात जब लड़की के साथ बदसलूकी की हो , तब तो एक बाप को भी अपने दिल पर पत्थर रखकर अपने बेटे को उसके किए की सजा देनी पड़ती है । वरना उसका बेटा , कल के दिन और लड़कियों के साथ भी ऐसे बिहेव कर सकता है । इस लिए मिस्टर तिवारी ने कुछ नहीं कहां, पर आज उनकी आंखों में गुस्सा और साथ में अपने बेटे के कारनामों की वजह से शर्मिंदगी लगातार बनी हुई थी । मिस्टर शर्मा को जब मिस्टर तिवारी का कोई रिएक्शन नहीं मिला , तो मिस्टर शर्मा ने कायरा की तरफ देखा , जो बस राजवीर को गुस्से से देख रही थी । मिस्टर शर्मा ने सभी से कहा ।

मिस्टर शर्मा - मैं तुम सभी की बातों से सहमत हूं । पर हम ये कदम नहीं उठा सकते ।

अरनव ( हैरानी से मिस्टर शर्मा को देखते हुए कहता है ) - पर क्यों पापा ....???? राजवीर ने गलत किया है । एक लड़की के साथ बत्तमीजी करने के अलावा आज उसने एक मासूम लड़की के किडनैप करने की कोशिश भी की है । जो कि अपराध है पापा । और अगर आज आरव समय पर कायरा को बचाने नहीं पहुंचता , तो हम सोच भी नहीं सकते थे , कि आज कायरा के साथ क्या हो जाता । हो सकता था , कि हम जिसकी कल्पना भी न कर पा रहे हों , उस दौर से भी आज कायरा को गुजरना पड़ जाता । इसके बाद भी आप आरव को राजवीर के खिलाफ कंप्लेन करने से रोक रहे हैं ...???

मिस्टर शर्मा ( अरनव से ) - क्योंकि तुम भूल रहे हो अरनव ,राजवीर की बहन तुम्हारी पत्नी है , और उसकी हालत से हम सभी अनजान नहीं है । थोड़ा सा भी स्ट्रेस उसके और तुम्हारे बच्चे के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है । और तुमसे ये बात भी नहीं छुपी है अरनव, कि तुम्हारी पत्नी अपने भाई से कितना प्यार करती है । अब तुम ही बताओ , इस हालत में अगर वो अपने भाई को जेल में देखेगी , तो क्या उसकी स्थिति स्टेबल रहेगी ???? क्या उसे अपने भाई को जेल में देखकर अच्छा लगेगा ...???? ( अरनव मिस्टर शर्मा के तर्क से चुप हो गया । क्योंकि बात तो उन्होंने सही कही थी । मिस्टर शर्मा को जब उसकी तरफ से कोई रिप्लाई नहीं मिला , तो वे कायरा के पास आए और उन्होंने उसके सामने हाथ जोड़ कर कहा ) हमें माफ कर दो बिटिया । हम चाह कर भी तुम्हारे साथ बदसलूकी करने वाले को सजा नहीं दिला पा रहे हैं । क्योंकि हमें हमारी बहू और उसके होने वाले बच्चे की जिंदगी, खुद की जान से भी ज्यादा प्यारी है । हमें माफ कर दो बेटा , हम तुम्हारे साथ गलत कर रहे हैं , पर हम मजबूर हैं , ऐसा करने के लिए ।

कायरा ने उनकी बात पर नजरें उठाकर मिस्टर शर्मा को देखा और उनके आपस में जोड़े हुए हाथों को अलग कर उनसे कहा ।

कायरा - आपको मुझसे माफ़ी मांगने की कोई जरूरत नहीं है सर । आप अपनी जगह सही हैं । घर के सदस्यों से ज्यादा इन्सान के लिए कोई मायने नहीं रखता , ये मुझसे बेहतर भला और कौन समझ सकता है । इस लिए आप अपने हाथ मुझसे माफी मांगने के किए नहीं , बल्कि मुझे आशीर्वाद देने के लिए उठाइए । आपके द्वारा आशीर्वाद मिलने से , मुझे ज्यादा खुशी होगी । न कि आपके माफी मांगने से .....।

आरव ने जब कायरा की बात सुनी , तो वह उसे एक टक देखने लगा । आज उसे कायरा का एक और नया रूप देखने मिला था । जबकि मिस्टर शर्मा ने सुना, तो प्यार से कायरा के सर पर हाथ रख दिया और फिर आरव की तरफ मुड़ कर उससे कहा ।

मिस्टर शर्मा - राजवीर को जेल भेजना , हमारे लिए खुशी बिटिया की जान को खतरे में डालने के बराबर है । इसके अलावा अगर तुम कुछ और चाहते हो , तो बोलो । राजवीर उसे जरूर करेगा ।

आरव ( मिस्टर शर्मा की बात पर , बिना राजवीर की ओर देखे बोला ) - ओके पापा .....। अगर आप राजवीर के लिए यही चाहते हैं , तो यही सही । राजवीर को कायरा के सामने, कान पकड़ कर, उसके पैरों में गिरकर, उससे माफी मांगनी होगी । अगर राजवीर ने ऐसा कर दिया , तो मैं राजवीर की सारी गलतियों पर मिट्टी डाल दूंगा और उसे यहां से जाने दूंगा ।

राजवीर ( अभी भी अकड़कर ) - मैं किसी से भी माफी नहीं मांगूंगा ।

मिस्टर तिवारी ( गुस्से से ) - राजवीर.....!!!! तुमने जो कायरा के साथ किया है , उसके लिए तुम्हें सिर्फ कायरा से माफी मांगने के लिए अगर कहा जा रहा है , तो ये बहुत बड़ी बात है । अगर मैं इस वक्त आरव की जगह पर होता , तो तुम्हें अपने हाथों से यहीं पर जिंदा जमीन में दफना देता । इस लिए तुम्हारे लिए इस वक्त सही यही होगा , कि तुम चुप - चाप कायरा से माफी मांगो ।

राजवीर - सॉरी डैड......। मैंने आपके अलावा आज तक किसी से माफी नहीं मांगी है । इस लिए मैं आज भी किसी से माफी नहीं मांगूंगा ।

मिस्टर तिवारी ( तेज़ आवाज़ में राजवीर की तरफ बढ़ कर उसपर चिल्लाते हुए कहते हैं ) - राजवीर......!!!! ये कैसी जिद है तुम्हारी ???? गलती की है तुमने , तो माफी भी तो तुम्हें मांगनी ही होगी ना ......।

आरव ( मिस्टर तिवारी से ) - काम डाउन अंकल.....। मैं समझाता हूं राजवीर को । ( इतना कहकर आरव राजवीर के पास आता है और उसके कानों में धीरे से उससे कहता है ) सोच लो राजवीर.....!!!!! अभी मैंने सिर्फ कायरा के साथ तुम्हारी की गई सिर्फ कुछ ही हरकतों के बारे में, अंकल को बताया है । अगर उन्हें , तुम्हारे कायरा को अपने साथ ऑडिटोरियम के रूम में ले जाकर , तुमने जो उसके साथ करने की जो कोशिश की थी , उसके बारे में पता चल गया तो ....??? फिर उसके बाद , तुमने कॉलेज फंक्शन के दिन जो कुछ भी कायरा के तुम्हारे प्रपोजल को नकार देने के बाद किया था , अगर वो सब मैंने अंकल को बता दिया तो । और उसके भी बाद , मैंने तुम्हारी हरकतों के लिए फंक्शन वाले दिन तुम्हें जानवरों को तरह जो मारा था और फिर तुमने मुझसे कायरा के बारे में जो कुछ भी कहा था , अगर वो सारी बातें यहां सभी को पता चल गई, तब तो तुम्हें जेल जाने से मेरे पापा भी नहीं रोक पायेंगे । और तो और, मेरी प्यारी भाभी और तुम्हारी इकलौती बहन भी तुम्हें जेल में देखकर बिल्कुल भी परेशान नहीं होगी ।

राजवीर - ऐसा कुछ नहीं होगा , क्योंकि इसके बारे में बाकी सबको बताएगा कौन...??

आरव ( हल्की सी शातिर मुस्कान के साथ ) - जब मैं तुम्हारे आज के पूरे प्लान को चौपट कर सकता हूं , वो भी सिर्फ हिडेन कैमरे के थ्रू , तब तो फिर मैं ऑडिटोरियम के उस दिन के रूम का सीसीटीवी फुटेज और ऊपर के फिफ्थ फ्लोर के हॉल का सीसीटीवी फुटेज को भी हासिल कर ही सकता हूं । और हो सकता है, कि इस वक्त वो दोनो फुटेज भी मेरे मोबाइल में सेव हों.....।

राजवीर ( हैरानी से उसे देखता है और फिर कहता है ) - तुम ऐसा नहीं करोगे .....।

आरव - मैं क्या - क्या कर सकता हूं, ये तो तुमने आज देख ही लिया है राजवीर.....। अब अगर अपनी पिछली ज़िन्दगी की सारी पोल - पट्टी अपने पिता , मेरे पिता और अपने जीजा जी के सामने खुलने से रोकना चाहते हो , तो सीधी तरह से कायरा से माफी मांग लो , ठीक उसी तरह जिस तरह मैंने तुमसे, कायरा से माफी मांगने के लिए कहा है । और अगर तुमने मेरी बात नहीं मानी , तो आगे तुम्हारे साथ जो कुछ भी होगा। उसके जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ तुम ही होगे .....।

राजवीर ने उसकी बात सुनकर गुस्से से अपनी मुट्ठी बंद कर ली । तब ही रेहान ने मिस्टर शर्मा से कहा ।

रेहान ( गुस्से से राजवीर की तरफ देखते हुए कहता है ) - अंकल......, अगर इस राजवीर ने आज मेरी बहन कायरा से माफी नहीं मांगी ना , तो भले ही मैं इसे जेल न भेजूं , पर मैं इसे आज खुद के पैर पर खड़े होने लायक नहीं छोडूंगा ....।

राजवीर ( मिस्टर शर्मा के कुछ कहने से पहले ही बोला ) - तुम्हें कुछ भी करने की जरूरत नहीं है रेहान.... । ( कायरा के सामने आकर , अपने हाथ जोड़ कर , उसके बाद अपने कान पकड़ कर और कान पकड़े - पकड़े ही कायरा के पैरों में गिरकर राजवीर ने उससे कहा ) सॉरी कायरा....., मैंने जितनी भी आज तक तुम्हारे साथ बत्तमीजियां और गलत व्यवहार किए हैं , उसके लिए मैं तुमसे माफी मांगता हूं.....।

इतना कह कर राजवीर सीधा खड़ा हो गया । और इससे पहले कायरा या कोई और उससे कुछ कहता , वह कायरा को एक नज़र नफ़रत भरी निगाहों से देख कर , सीधे कॉन्फ्रेंस रूम से बाहर निकल गया । सभी उसकी इस हरकत पर , हैरान थे और गुस्से से उसे जाते हुए देख रहे थे । जबकि आरव उसे जाते देखकर फीका मुस्कुरा रहा था, क्योंकि वो जानता था, कि कायरा से माफी मंगवाकर उसने आज राजवीर के ईमान पर , उसके घमंड पर वार किया है। इस लिए उसके इस तरह कायरा से माफी मांगने के बाद , बिना किसी से कुछ कहे हॉल से बाहर चले जाना से , आरव को किसी भी तरह की हैरानी नहीं हुई थी ।

इधर राजवीर के जाने के बाद , मिस्टर तिवारी कायरा के सामने आए और उन्होंने कायरा के सामने अपने हाथ आपस में जोड़ कर कायरा से कहा ।

मिस्टर तिवारी - मेरे बेटे ने तुम्हारे साथ जो कुछ भी किया , उसके लिए मैं शर्मिंदा हूं । मैं उसे तुम्हें माफ करने के लिए तो नहीं कहूंगा , पर हां दोबारा उसकी तरफ से ऐसा कुछ भी नहीं होगा , इसकी जिम्मेदारी जरूर मैं आज तुम्हारे सामने लेता हूं .....।

कायरा ( मिस्टर तिवारी के हाथ नीचे करके , उनसे बोली ) - आपको अपने बेटे के किए गए गुनाहों के लिए, मेरे सामने शर्मिंदा होने की जरूरत नहीं है सर । और हां ......, आप अपने बेटे की जिम्मेदारी ले या न लें , लेकिन दोबारा मेरे साथ कुछ भी ग़लत करने का मौका, मैं अब राजवीर को कभी नहीं दूंगी...।

मिस्टर तिवारी ने उसकी बात पर कुछ नहीं कहा और वे नजरें झुका कर वहां से चले गए । किसी और से कुछ कहने की हिम्मत तो उनमें अब बची ही नहीं थी । क्योंकि राजवीर ने आज उन्हें , उनकी भतीजी के ससुराल वालों के सामने कुछ भी कहने लायक छोड़ा ही नहीं था । उनके जाने के बाद मिस्टर शर्मा ने कहा ।

मिस्टर शर्मा ( सभी से ) - आरव और अरनव से कुछ अकेले में बात करनी है । इस लिए तुम सब हॉल से बाहर जाओ ।

जैसे ही सभी ने मिस्टर शर्मा की बात सुनी , सब एक - एक करके हॉल से बाहर निकल गए । हॉल से बाहर निकलते ही कायरा अपने केबिन में आयी और वह अपने केबिन में हिडेन कैमरा ढूढने लगी । उसे आरव पर बहुत ज्यादा गुस्सा आ रहा था , क्योंकि आरव ने उसके केबिन में कैमरा लगे होने की बात , उससे छुपाई थी । और आरव का उससे ये बात छुपाना , कायरा को बिल्कुल भी पसंद नहीं आया था । इधर विनय हॉल से निकलने के बाद , बिना किसी से कुछ कहे सीधे लिफ्ट से नीचे आया और वह सीधा ऑफिस से बाहर निकल गया , क्योंकि अब उसका ऑफिस में कोई काम नहीं था । ऑफिस से बाहर निकलते ही उसने मिशा को कॉल किया और फिर मिशा के कॉल रिसीव करते ही उसने मिशा से कहा ।

विनय - मैंने सबके सामने वहीं कहा , जो तुमने मुझे कहने के लिए कहा था । मैंने किसी को ये भनक नहीं लगने दी , कि उन चारों पर नज़र रखने के लिए मुझे राजवीर ने नहीं बल्कि तुमने कहा था । और सभी ने मेरी बात मान भी ली । तुमने ठीक ही कहा था , कि मुझे लेने वो लोग जरूर आएंगे । कुछ घंटों पहले, तुम्हारे मुझे कॉल पर ये सारी बात समझाने के बाद , तुम्हारे कॉल कट करते ही , आदित्य और नील मुझे लेने आ गए थे । और वो लोग मुझे , सीधा आरव के ऑफिस लेकर आ गए ।

मिशा ( फोन की दूसरी तरफ से ) - मैं जानती थी विनय, की कायरा के मिलते ही वो लोग तुम्हें लेने जरूर आएंगे। कायरा भले ही आज मेरे हाथो से बच कर निकल गई हो , पर मैंने आज उसे किडनैप करने का ऐसा प्लान बनाया था , कि इस पूरी जिंदगी में किसी को पता नहीं चलेगा , कि असल में कायरा का किडनैप किसने करवाया था । और वो कायरा और उसके वो दोस्त ....., सबके सब हमेशा राजवीर को इस घटना के लिए दोष देंगे ।

विनय - लेकिन मिशा......, तुम्हारी वजह से आज मेरे हाथ से अपने दोस्त का साथ छूट गया । राजवीर इसके लिए मुझे कभी माफ नहीं करेगा और वो इस झूठ के लिए मुझे सज़ा भी जरूर देगा ।

मिशा उसकी बात पर बस हंस दी । तो विनय ने उससे आगे कहा ।

विनय - देखो मिशा....., तुमने मुझसे जो कुछ भी करने के किए कहा था मैंने कर दिया है । अब तुमने मेरे घर वालों को , जहां कहीं भी गन प्वाइंट पर रखा हो , अपने आदमियों से कह कर उन्हें गन प्वाइंट से हटा दो । क्योंकि मैंने सिर्फ अपने घर वालों की हिफाजत के कारण ही , आज अपने दोस्त को सबके सामने गलत साबित किया है , अगर मेरे घर वालों को कुछ भी हुआ , तो मैं खुद को कभी माफ नहीं कर पाऊंगा ।

मिशा ( फीका मुस्कुराते हुए ) - रिलेक्स विनय .....। मैंने तुम्हें सिर्फ इस लिए ये कहा था, कि तुम्हारे सारे घर वालों के आसपास मेरे आदमी फैले हुए है और वे सभी मेरे आदमियों की गन प्वाइंट पर है..... , ताकि तुम अपने घर वालों की चिंता करके , मेरा ये काम कर दो , जो तुम अभी अंदर करके आए हो । पर सच कहूं विनय , मैंने तो तुम्हारे घर वालों को गन प्वाइंट पर रखा ही नहीं । इनफेक्ट ......., मुझे तो पता तक नहीं है कि तुम्हारे घर वाले असल में हैं कहां.....।

विनय ( परेशान होकर , अपने सिर पर हाथ रखकर कहता है ) - इसका मतलब मिशा तुमने मुझसे झूठ कहा और मेरी अपने घर वालों के प्रति चिंता करने का , तुमने फायदा उठाया । ये तुमने ठीक नहीं किया है मिशा ......।

मिशा ( अपने हाथों में लगी नेलपेंट को फूंक मारते हुए ) - मैंने बिल्कुल ठीक किया है विनय । आखिर अपने काम के लिए किसी का फायदा उठाना कोई बुरी बात तो नहीं है । पर मेरी एक बात तुम कान खोलकर सुन लो विनय , अगर तुमने इस बारे में किसी से कुछ भी कहा , तो जो चीज़ आज मैंने तुम्हारे घर वालों के साथ नहीं की है , अगली बार वो जरूर कर दूंगी । उसके बाद तुम देख लेना , कि तुम्हें अपने घर वालों की लाशों को ठिकाने लगाना है , या फिर आदर सत्कार के साथ उन सभी का अंतिम संस्कार करना है ....।

इतना कह कर मिशा ने कॉल कट कर दिया और अपने दूसरे हाथ में भी नेलपेंट लगाने लगी । जबकि इस तरफ से विनय मिशा , मिशा चिल्लाता रहा और जब उसे आभास हुआ कि काल कट हो चुकी है , तो उसने एक बार फिर अपने सिर पर हाथ रख कर खुद से कहा ।

विनय - शीट....., शीट ....., शीट......। ये आज मिशा की वजह से क्या कर दिया मैंने .....। राजवीर अब मुझे जिंदा नहीं छोड़ेगा...... ।

वो ये सब कह ही रहा था , कि तभी उसे अपने कंधे पर किसी का हाथ महसूस हुआ और उसने तुरंत पीछे पलट कर देखा , तो उसके सामने आदित्य और रेहान गुस्से से उसे घूरते हुए खड़े थे। विनय ने उन्हें देखकर सकपकाते हुए कहा ।

विनय - तुम दोनो मुझे ऐसे क्यों देख रहे हो...????

रेहान ( बिना उसकी बात का जवाब दिए , उससे कहता है ) - कायरा का किडनैप किसने करवाया है ...???? क्या इसके पीछे मिशा का हाथ है ...????

विनय - मुझे इस बारे में कुछ नहीं पता ....।

आदित्य ( रेहान का सवाल रिपीट करके कहता है ) - क्या आज की किडनेपिंग के पीछे , मिशा का हाथ है....?????

विनय - मैं इस बारे में न कुछ नहीं जानता .....।

इतना कह कर विनय घबरा कर, सड़क की तरफ भागने लगा । पर इससे पहले कि वो सड़क तक पहुंच पाता , उसके पहले ही रेहान उसके सामने आकर खड़ा हो गया । विनय उसे देख कर घबरा गया और उसने रेहान से गिड़गिड़ाते हुए कहा ।

विनय - देखो...., तुम दोनो मुझे जाने दो । मैं इस मैटर के बारे में कुछ नहीं जानता । प्लीज मुझे जाने दो .....।

आदित्य ( पीछे से उसकी गर्दन पकड़ कर कहता है ) - तू अभी मिशा से , कायरा की किडनेपिंग के बारे में बात कर रहा था और अब कह रहा है कि तू कुछ नहीं जानता ।

रेहान - आदि......, इससे यहां कुछ भी पूछना , सेफ नहीं है । इसे अंदर लेकर चल , वहीं इससे पूछते है , कि सच क्या है ।

रेहान की बात सुनते ही आदित्य ने विनय को एक तरफ से पकड़ा और दूसरी तरफ से उसे रेहान ने पकड़ा और दोनों उसे लेकर , ऑफिस बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर में बने स्टोर रूम में लेकर आए और आदित्य ने स्टोर रूम मे पहुंचते ही, अंदर की तरफ से डोर लॉक कर दिया । डोर लॉक होते ही रेहान ने विनय को वहां पर रखी फाइलों पर पटका, जिससे विनय फर्श पर गिर गया। उसके गिरते ही रेहान ने जोर से एक लात उसके पीठ पर मारते हुए , उससे कहा ।

रेहान - तू हमें कुछ नहीं बताएगा । सारा कर्म कांड करने के बाद , तू सबके सामने झूठ बोलकर आया है और उसके बाद तूने मिशा से बात भी की और यहां का सरा ब्योरा भी उसे बताया । उसके बाद भी तू हमसे कह रहा है, कि तुझे कुछ नहीं पता । सच क्या है विनय , ये तू हमें अभी के अभी बता दे । वरना आज तेरा मैं बहुत बुरा हाल करूंगा ।

विनय ( कराहते हुए ) - मैं तुम लोगों को कुछ नहीं बता सकता रेहान । वरना मिशा मेरे परिवार वालों को मौत के घाट उतार देगी ....।

आदित्य ( उसे कॉलर से पकड़ कर खड़े करने के बाद , उसके पेट में घूंसा मारते हुए कहता है ) - तू हमसे झूठ बोल रहा है विनय......। मिशा तो तेरे परिवार वालों को जानती तक नहीं है । तू हमें जान बूझकर अपनी बातों में उलझाने कि अगर कोशिश कर रहा है ना , तो तेरे लिए ये तेरी हरकत तुझे बहुत मंहगी पड़ेगी । बहुत बड़ा खामियाजा चुकाना होगा तुझे , हमें बेवकूफ बनाने के बदले में .....।

आदित्य के मारने से विनय के मुंह से खून निकलने लगा था । उसने अपने होठों के नीचे से खून पोंछा और दोनों से एक बार फिर गिड़गिड़ाते हुए बोला ।

विनय - मेरी बात का यकीन करो तुम दोनों । मिशा मेरे परिवार को जानती भी है और उसने मुझे धमकी भी दी है , कि अगर मैंने ये सच किसी को भी बताया , तो वो मेरे पूरे परिवार को मरवा देगी ।

विनय की बात सुनकर रेहान और आदित्य सोच में पड़ गए । उन्हें विश्वास ही नहीं हो रहा था , कि मिशा ऐसा कुछ भी कर सकती है । उन्होंने एक नजर एक दूसरे को देखा , फिर आदित्य ने वहीं पर रखी लड़की की एक चेयर वहां पड़े कपड़े से साफ की और उसमें विनय को बैठाया । और फिर रेहान विनय बोला ।

रेहान - देखो विनय ....!!!! तुम्हारे परिवार को कुछ नहीं होगा , इसकी गारंटी हम लेते हैं । बस तुम हमें सच - सच बताओ । कि आज कायरा के साथ जो कुछ भी हुआ , क्या उसके पीछे मिशा का हाथ है ।

रेहान की बात सुनकर , विनय को थोड़ी सी हिम्मत मिली । फिर उसने मॉल में मिशा से बात करने से लेकर , अभी कुछ देर पहले जो भी बात उसकी मिशा से हुई, वो सब उन दोनों को बता दिया । मिशा की सच्चाई जानकर रेहान और आदित्य दोनों को शॉक लगा । आदित्य ने रेहान कि तरफ देखते हुए कहा ।

आदित्य - मिशा इस हद तक गिर सकती है , कि वो आरव को पाने के कोई कायरा का किडनैप करवाएगी , ये तो मैंने कभी सोचा भी नहीं था रेहान ।

रेहान - तू सही कह रहा है आदि .....। कायरा के लिए मिशा की नफ़रत , आज उससे ये सब करवा रही है । मुझे तो कुछ समझ ही नहीं आ रहा , कि मैं इस बात पर कैसे रिएक्ट करूं....। क्या हम ये बात आरव और बाकी सारे दोस्तों को भी बता दे । ताकि हम सब मिलकर मिशा को सबक सिखा सकें.....।

आदित्य - नहीं रेहान.....। तू आरव को जानता है , वो अपने किसी भी दोस्त से मिला हुआ धोखा बर्दास्त नहीं कर सकता । और अगर उसे ये बात पता चली , कि कायरा का किडनैप मिशा ने करवाया है , तो आरव मिशा को किसी भी हाल में नहीं छोड़ेगा । वो उसकी जान ले लेगा रेहान .....। जो कि आरव और उसके कैरियर के लिए हार्म फुल है ।

रेहान - तू ठीक कह रहा है आदि । आरव को कायरा के आगे कुछ नहीं दिखता । तूने देखा था न , फंक्शन वाले दिन आरव ने राजवीर की मार - मार कर क्या हालत कर दी थी । पर हम आरव की लाइफ के साथ इतना बड़ा रिस्क नहीं ले सकते । और अभी हमारे पास, मिशा के खिलाफ कोई सबूत भी नहीं है । विनय की बात कोई मानेगा नहीं , क्योंकि इसने खुद राजवीर को हम सबके सामने गलत ठहराया है और अगर ये दोबारा राजवीर के पक्ष में कुछ बोलेगा , तो कोई भी इसकी बात पर ट्रस्ट नहीं करेगा ।

आदित्य - इस लिए जब तक हमारे पास मिशा के खिलाफ कोई सॉलिड प्रूफ नहीं आ जाता , तब तक हमें आरव और कायरा के अलावा बाकी सब से भी ये बात छुपा कर रखनी होगी ।

रेहान ने उसकी बात पर हामी भरी । और फिर आदित्य फर्स्ट एड बॉक्स ले आया और दोनों ने विनय की ड्रेसिंग की और उसे सड़क तक छोड़ कर ,टैक्सी में बैठाकर उसे उसके घर के लिए रवाना किया । विनय को अब अपने परिवार की और चिंता होने लगी, कि कहीं मिशा को ये पता चला कि विनय ने आदित्य और रेहान को सब कुछ बता दिया है , तो मिशा गुस्से में आकर कहीं , सच मे उसके परिवार को हार्म न कर दे । पर टैक्सी में बैठाते समय रेहान और आदित्य ने उसे उसके परिवार की सुरक्षा का ध्यान रखने का वादा किया था । इस लिए विनय उनके वादे को याद कर थोड़ा सा ठीक महसूस कर रहा था........।

क्रमशः

Rate & Review

Usha Dattani Dattani
Vishwa

Vishwa 7 months ago