Ahsaas pyar ka khubsurat sa - 54 in Hindi Novel Episodes by ARUANDHATEE GARG मीठी books and stories PDF | एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 54

एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 54







कायरा ने डर के कारण अपनी आखें बंद कर ली थी , लेकिन जब उसे एहसास हुआ कि वह सही सलामत है , तो उसने अपनी आंखें खोली और अपने हाथ पर देखा , जिसमें उसे आरव की जगह किसी और की छुअन महसूस होने लगी थी । कायरा ने नज़र उठा कर सामने वाले इंसान की तरफ देखा , तो वह अनय था । ये देख कायरा को झटका लगा, फिर उसने उस तरफ देखा जहां से आरव आ रहा था , तो उसे आरव खुद से थोड़ी दूर में दिखा । कायरा का ये देखकर दिमाग खराब हो गया , और उसने तुरंत अपना हाथ अनय से छुड़ा लिया और अपना दुपट्टा संभालते हुए खड़ी हो गई । और मन ही मन चिढ़ते हुए खुद से कहने लगी ।

कायरा - हो गया बेड़ा गर्क .....। क्या सोच था और क्या हो गया । थोड़ा जल्दी चलकर नहीं आ सकते थे आरव आप । मैने जान बूझकर अपने पैरों में दुप्पटा उलझाया था , ताकि आप मुझे संभाल सकें । लेकिन आप ....., आप तो अब तक मेरे पास नहीं पहुंचे ।

कायरा ये सब सोच ही रही थी कि तभी अनय ने उससे पूछा , तब तक विक्की और रोहन भी आ चुके थे ।

अनय - आर यू ओके कायरा.…!!?? तुम्हें चोट तो नहीं लगी कहीं ......????

कायरा ने कुछ नहीं कहा और सिर्फ न में अपना सिर हिला दिया । उसे खुद पर और आरव पर बहुत गुस्सा आ रहा था । खुद पर इस लिए , कि उसने ये सब करने में जल्द बाजी कर दी और आरव पर इस लिए , कि वो जल्दी उसके पास नहीं आया । कायरा शायद आप स्पेशल मोमेंट चाहती थी , जो उसकी और आरव की पहली मुलाकात में हुआ था , पर शायद आज कायरा की किस्मत ही खराब थी , क्योंकि जो उसने सोचा था , वो हुआ ही नहीं था । तभी आरव हांफते हुए आया और कायरा की दोनों बाजुएं पकड़, चेहरे पर चिंता और परेशानी के भाव लिए कायरा को लगभग गोल - गोल घुमा कर चैक करते हुए बोला ।

आरव - कायरा तुम ठीक हो ...??? दिखाओ , कहीं तुम्हें चोट तो नहीं लगी ...??? कैसे गिरी तुम ...??? तबीयत तो ठीक है न तुम्हारी...??? कुछ कहती क्यों नही तुम ...???? तुम ठीक तो हो न...????

आरव को कायरा के लिए इतना परेशान देखकर , अनय , विक्की और रोहन जहां हंस रहे थे , वहीं कायरा उसके ऐसे बिहेव से इरिटेट हो रही थी । उसने आरव के हाथों को झटक कर , चिढ़ते हुए आरव से कहा ।

कायरा - बस आरव.....!!! बस कीजिए....। ठीक हूं मैं , सही सलामत तो दिख रही हूं आपको , अपने पैरों में खड़ी भी हूं । क्यों ये मेरी फिक्र करने का दिखावा कर रहे हैं आप ….???? क्या मुझे चोट लगे , इसी का इंतजार कर रहे थे आप....????

सभी कायरा की बात सुनकर हैरान हो गए । आरव ने तुरंत कायरा को छोड़ दिया और उसे देखने लगा । विक्की ने तुरंत कायरा को समझाने के अंदाज में कहा ।

विक्की - क्या कह रही हो कायरा तुम....???? आरव तुम्हें लेकर कितना परेशान है , ये नहीं देखा तुमने ...????

अनय ( हैरानी से ) - हो क्या गया है तुम्हें कायरा , तुम आरव को ऐसे कैसे बोल सकती हो ...??? जबकि वो तो तुम्हें ही.......।

कायरा ( अनय को अपना एक हाथ दिखा कर बोली ) - बस अनय.....! इनफ....। ये मेरे और मेरे दोस्त के बीच का मामला है , इसे हमारे बीच ही रहने दो । ( आरव से ) मुझे चोट लगे , इसी का इंतजार कर रहे थे न आप आरव ....???? क्या सोचा आपने , कि आप मुझे नहीं संभालेंगे , तो मैं खुद से संभल नहीं पाऊंगी ...??? अगर अनय मुझे गिरने से नहीं बचाता , तो भी मैं खुद से संभल जाती । इतनी हिम्मत और अक्ल है मुझमें आरव , कि मैं खुद को संभाल सकूं ।

आरव ने कुछ नहीं कहा , वो बस कायरा की आखों में देख रहा था , जिसमें उसे कायरा के होठों के शब्द , उसकी आखों से मैच होते नहीं दिख रहे थें, क्योंकि ये सब कहते हुए कायरा की आखों में हल्की नमी ने जगह ले ली थी । कायरा ने जब उसे खुद को देखते पाया , तो तुरंत आरव से नजरें हटाकर गुस्सा दिखाते हुए बोली ।

कायरा - ऐसे मुझे देखने से सच्चाई तो नहीं बदल जायेगी न आरव ....??? बेहतर यही होगा , कि आप अब मेरी नजरों से दूर हो जाएं और यहां से चले जाएं । ( जाने का आरव को इशारा कर ) प्लीज गो आरव ....., प्लीज....।

आरव ने कुछ नहीं कहा , क्योंकि वो बेहद ही हैरान था कायरा के इस व्यवहार से । वो लगातार कायरा की आखों और उसके हाव - भाव को पढ़ने की कोशिश कर रहा था और हैरानी से सोच रहा था ।

आरव ( मन में ) - मैंने तो अभी तक कुछ किया ही नहीं , फिर कायरा ऐसे बिहेव क्यों कर रही है मेरे साथ ...???? जबकि मैं तो उससे मिलने , उसे कांग्रेट्स कहने आया था उसकी जीत पर । पर ये लड़की ऐसे क्यों बिहेव कर रही है । इसकी आखों में एक बार फिर कुछ और दिख रहा है , और बातें इसकी कुछ और कह रही हैं ।

आरव ये सब सोच ही रहा था , कि कायरा ने जब उसे अभी भी वहीं खड़े देखा, तो दोबारा उसे जाने के लिए कहा । आरव ने इस बार भी कुछ नहीं कहा , और स्टेडियम से बाहर की ओर निकल गया । उसके जाते ही कायरा हताश सी नीचे जमीन पर बैठ गई और जोर - जोर से रोने लगी । उसके इस व्यवहार को देख कर , अब तीनो एक बार फिर हैरान हो गए । विक्की और रोहन को तो कुछ समझ ही नहीं आ रहा था , कि ये सब अभी हुआ क्या ...??? जबकि अनय ये तो जनता था , कि आरव और कायरा एक दूसरे को पसंद करते हैं और उन्होंने अभी तक एक दूसरे से अपने दिल की बात नहीं कही है । लेकिन कायरा के आरव को पसंद करने के बाद भी , आरव के साथ उसका ऐसे बिहेव करने के तरीके को देखकर , अनय भी उतना ही शॉक्ड था । अनय भी घुटनों के बल जमीन में कायरा के सामने बैठा और उसे उसके ही दुपट्टे के एक छोर को पकड़ाते हुए कायरा से बोला ।

अनय - काल्म डाउन कायरा....। संभालो खुद को । जब तुम्हें उससे ऐसे बात करने के बाद, इतना बुरा लग रहा है , तो सोचो उसे कितना बुरा लगा होगा । जब तुम्हें पता है , कि उसकी बिल्कुल भी गलती नहीं है , तो फिर उसे इतना कुछ क्यों सुनाया ...??? और अब खुद इस तरह रो रही हो , जैसे किसी ने तुमसे कोई सबसे पसंदीदा चीज को दूर कर दिया हो ।

इधर आरव को कायरा का बिहेव बहुत ही ज्यादा हर्ट कर गया था । ऐसा नहीं था कि कायरा ने ये सब पहले नहीं किया । ये तो पहले भी हो चुका था , पर आज आरव को कुछ ज्यादा ही बुरा लग गया था । आरव स्टेडियम से निकलकर सीधे ऑडिटोरियम की बाहर की सीढ़ियों पर जाकर बैठ गया , जहां इस वक्त कोई भी नहीं था । बिना फंक्शन के टाइम , ये जगह लगभग खाली ही रहती थी । ऐसा ही आज भी हो रहा था । आरव वहीं जाकर बैठ गया और खुद से कहने लगा ।

आरव - क्यों किया कायरा ने मेरे साथ ऐसा ...???? जबकि मैने तो कुछ ऐसा कहा ही नहीं , कि उसे बुरा लगे । मैं तो उसे गिरते हुए देखकर , खुद भी परेशान हो गया था । फिर भला मैं क्यों ऐसा सोचूंगा , कि उसे चोट पहुंचे । मैं तो उसे हर परेशानी से , हर चोट से दूर रखना चाहता हूं , फिर कायरा मेरे बारे में ऐसा बोल भी कैसे सकती है । ( ये सब कहते - कहते आरव की आवाज भारी हो गई और आखों में हल्की नमी तैर गई । लेकिन उसने उन नमी को आखों से बाहर नहीं आने दिया । उसने एक बार फिर कायरा के बारे में सोचते हुए कहा ) एक तो मुझे ये समझ नहीं आ रहा , कि तुम हमेशा दिखाती कुछ हो , बोलती कुछ हो और तुम्हारे आखें कुछ और ही कहती हैं । क्या छुपा रही हो तुम मुझसे और दुनिया से ...???? तुम मुझे चाहती हो , प्यार करती हो मुझसे , ये मैं तो क्या , कोई भी तुम्हारी आंखों में देखकर बता देगा । लेकिन तुम तो उससे उलट ही करती हो , बिना बात के गुस्सा होती हो और फिर खुद ही परेशान होती हो । हद से ज्यादा खुश होने का नाटक करती हो , जबकि तुम तो उस वक्त खुश होती ही नहीं हो । क्या है ये सब कायरा.....!!!! तुम्हें जितना समझने की कोशिश कर रहा हूं , तुम उतना ही मुझे उलझाती जा रही हो । अगर तुम मुझसे गुस्सा थी , तो फिर तुम्हारी आंखों में नमी किस चीज की थी ...???? अगर तुम्हें मुझे बेवजह हर्ट करने में खुशी होती है , तो फिर तुम खुद क्यों परेशान हो जाती हो । मुझे तो तुम्हारी ये सारी बातें और तुम्हारी ये बेबुनयादी हरकतें, समझ ही नहीं आ रही ।

आरव अब कायरा को लेकर कुछ ज्यादा ही सोचने लगा था । जो था तो एकदम सच , पर आरव अभी इस सच से अनभिज्ञ था । वो कायरा को लेकर खुद से ही उलझा हुआ था , कि वो जो कुछ भी सोच रहा है, वह सही है या सिर्फ उसके आखों और दिल का वहम ।

कायरा ने जब अनय की बात सुनी , तो उसके हाथ से अपने दुपट्टे का छोर लेकर , खुद के आसूं साफ करते हुए सोचने लगी ।

कायरा - अब तुम्हें क्या बताऊं मैं अनय , कि उन्हें तकलीफ देकर मुझे कितनी तकलीफ हो रही है । चाहती तो मैं भी थी कि वो मेरे करीब आएं और हम दोनो कुछ पल के लिए ही सही , पर एक दूसरे के थोड़ा तो पास रहें , मुझे उनका मेरे लिए फिक्र करना भी अच्छा लग रहा था , पर मैं इन सब में ये भूल गई थी , कि मेरा आरव के करीब जाना, मतलब कि आरव को अपने प्यार पर एक और उम्मीद देने के बराबर है , जो कि न तो मेरे लिए और न ही उनके लिए सही है । आरव मुझसे बहुत प्यार करते हैं और मैं उनसे । लेकिन शायद मैं अपनी फीलिंग्स कभी भी उनके सामने एक्सप्रेस नही कर पाऊंगी और उन्हें उनकी फीलिंग्स अपने सामने एक्सप्रेस करने , मैं दे नहीं सकती । वरना चंद लम्हों में मेरी जिंदगी बिखरकर , धूल में मिल जायेगी , जिसमें आरव की जिंदगी भी शामिल होगी । और यही मैं चाहती नहीं हूं । इस लिए मुझे हर बार अपने जज्बातों को काबू में रखना पड़ता है , जिसके कारण मैं चाहकर भी न तो उनके करीब जा सकती हूं और न ही उन्हें खुद के करीब आने दे सकती हूं । और उन्हें खुद से दूर करने का , यही एक तरीका मेरे लिए बेस्ट है। कि उनपर बेवजह गुस्सा करूं और वो मेरे बिहेव को देखकर ही सही , पर मुझसे दूर रहें ।

अनय - क्या सोच रही हो तुम कायरा ...???? मैं तुमसे कुछ पूछ रहा हूं , क्यों किया तुमने आरव पर बेवजह गुस्सा । जबकि तुम भी जानती हो, उसकी कोई गलत नहीं है ।

कायरा ने कुछ नहीं कहा और सीधे खड़े होकर अपना दुपट्टा ठीक किया और स्टेडियम से बाहर जाने के लिए बढ़ गई । कायरा की ये हरकत अब और हैरान कर गई , तीनो दोस्तों को । विक्की और रोहन ने अब कुछ न कहना ही बेहतर समझा , क्योंकि उन्हें कायरा के चेहरे पर अब गुस्सा दिख रहा था , जिसका शिकार होना वो दोनों ही नहीं चाहते थे । जबकि अनय कायरा को जाते देख , उसे पीछे से आवाज़ लगाने लगा , और कायरा उसकी आवाज को अनसुना कर , स्टेडियम के दरवाज़े तक पहुंच गई । अनय ने जब ये देखा , तो उसे जोर से आवाज़ लगाकर उसने कहा ।

अनय - रुक जाओ कायरा , मुझे तुमसे कुछ पूछना है । तुम्हें आरव की कसम...... ।

आरव की कसम की बात सुनकर कायरा के कदम , गेट के पास ही रुक गए । पर उसने पीछे मुड़ कर अनय की तरफ नहीं देखा । जब अनय ने उसे रुका हुआ देखा , तो भागकर कायरा के पास आया और तुरंत उससे बोला ।

अनय ( हांफते हुए ) - ये सब क्या है कायरा ...??? क्यों कर रही हो तुम ये सब..????

कायरा ( बिना अनय की तरफ देखे बोली ) - इससे तुम्हारा कोई वास्ता नहीं है अनय । और मैं तुम्हें ये सब बताना जरूरी नहीं समझती । अच्छा यही होगा , कि तुम इन सबसे दूर रहो ।

अनय ( नॉर्मल होते हुए बोला ) - अच्छा ठीक है , मैं इस मामले में तुमसे कोई बात नहीं करूंगा । अच्छा ये बताओ, कि तुमने मुझे ग्यारह बजे कॉफी शॉप में मिलने क्यों बुलाया है ..?? ( हल्की शरारत से ) कोई खास बात है क्या , मुझे प्रपोज वगेरह तो नहीं करने वाली हो तुम..??? अगर ऐसा कुछ नहीं है , तो यहीं बात कर लेते हैं , तुम्हारा और मेरा दोनों का टाइम बच जायेगा ।

अनय ये सब बोल रहा था और कायरा सामने की ओर देख रही थीं, जहां दूर से उसे उसके सारे दोस्त सीढ़ियों से उतरकर , कैंटीन की ओर जाते हुए दिख रहे थे । उनमें आरव और आदित्य के अलावा बाकी सभी थे । कायरा उन लोगों को देखने के बाद , अनय की ओर पलटी और उसकी बात का जवाब देते हुए बोली ।

कायरा - इतने खराब दिन भी नहीं आए हैं मेरे अनय जी , जो मैं किसी लड़के को प्रपोज करूं और वो भी तुम्हें । और रही बात मीटिंग की , तो जरूर कोई इंपोर्टेंट बात ही होगी , तभी मैंने तुम्हें कॉलेज से बाहर मिलने के लिए बोला है । अगर मैं यहां तुमसे बात कर सकती तो जरूर करती , लेकिन मैं तुमसे यहां बात नहीं कर सकती इस लिए तुम मुझसे कॉफी शॉप में मिलोगे । और हां , इस गलत फहमी में मत रहना, कि मेरे मन में तुम्हारे लिए कोई सॉफ्ट कॉर्नर है, इस लिए ही मैंने तुम्हें अपने काम के लिए चुना है । तुम भी मेरे बाकी दोस्तों की तरह , एक अच्छे दोस्त हो । और ये काम तुम ही कर सकते हो , इस लिए मुझे तुम्हारी हेल्प चाहिए । बाकी की बात हम कॉफी शॉप में करें, तो बेहतर होगा ।

इतना कहकर कायरा जाने लगी तो अनय मुस्कुराते हुए बोला ।

अनय - मैं तो बस मजाक कर रहा था । मेरा ऐसा कोई इंटेशन नहीं था ।

कायरा ( रुककर , बिना अनय की तरफ मुड़े बोली ) - कुछ चीजों को लेकर मजाक भी न किया जाए , तो बेहतर होगा हम सभी के लिए । खैर...., अगली मुलाकात जल्द ही होगी । ग्यारह बजे मैं तुम्हारा इंतजार करूंगी कॉफी शॉप पर , टाइम से पहुंच जाना ।

अनय - ओके.....। बाय.....।

कायरा ने कुछ नहीं कहा , और वह सीधे स्टेडियम से बाहर निकल गई । अनय उसके एटीट्यूड को देखकर मुस्कुरा दिया और वह भी अपना सामान लेकर , स्टेडियम से बाहर निकल गया । कायरा स्टेडियम से बाहर निकलने के बाद , सीधे गर्ल्स कॉमन रूम में गई और अपना समान एक रूम में पटक कर , तुरंत वॉशरूम में घुस गई । उसे अब घबराहट हो रही थी , और चेहरे पर पसीना भी आने लगा था । रात भर सोई नहीं थी और रात में उसने खाना भी नहीं खाया था , तो फिर ये सब होना कमजोरी की वजह से तो तय था ही । कायरा ने तुरंत अपना चेहरा धोया और रूम का एसी और पंखा दोनो ऑन कर , कुछ देर तक पंखे के नीचे बैठी रही ।

इधर सारे दोस्त कैंटीन में पहुंचे । पर उन्हें आरव कहीं दिखाई नहीं दिया । सभी एक बड़ी से टेबल के चारों ओर बैठ गए और नील सब जगह अपनी नजरें घुमाते हुए बोला ।

नील - कमाल है यार , यहां भी आरव नहीं है । गया कहां ...???

रेहान - उसे शायद आज की मैम की डांट , कुछ ज्यादा ही बुरी लग गई हैं, इस लिए लगता है वह उदास होकर कहीं बैठा होगा ।

राहुल - हां , हो सकता है । नील तू कॉल कर न उसे , और यहां आने बोल ।

नील ( फोन निकालते हुए बोला ) - ओके....., करता हूं ।

उसने आरव का नंबर डायल किया और घंटी जाने लगी । आरव के पास जब नील का कॉल आया , तो स्क्रीन को देखकर उसका मन ही नहीं हुआ कॉल अटेंड करने का । उसे थोड़ा सा अकेले वक्त बिताना था , क्योंकि अभी तो आधा दिन भी नहीं हुआ था और उसके साथ इतना कुछ हो चुका था , जिससे वो बेहद परेशान था । उसने फोन अपने बगल में रख दिया और नील की कॉल इग्नोर कर दी । नील ने जब ये देखा , तो सारे दोस्तों से बोला ।

नील - यार आरव तो कॉल नहीं उठा रहा ।

राहुल - एक बार और ट्राय कर न , क्या पता इस बार उठा ले ।

नील ने उसकी बात मान कर एक दो बार और आरव को कॉल किया , पर आरव ने इस बार भी कॉल अटेंड नहीं की । नील ने जब ये सब दोस्तों को बताया , तो रेहान बोला ।

रेहान - एक काम कर , उसे मैसेज कर दे , कि हम सब यहां है । उसका जब मूड ठीक होगा , तो वह यहां अपने आप आ जायेगा ।

नील ने रेहान की बात मानकर वैसा ही किया और आरव को कॉल की जगह अब मैसेज किया । कुछ पल बाद आरव के फोन की मैसेज बीप बजी , तो उसने मैसेज ओपन कर देखा । नील का मैसेज था , जिसमें लिखा था , कि हम सब कैंटीन में तेरा वेट कर रहे हैं , तू जल्दी आ । ये देखकर आरव के उदास चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आ गई , ये सोचकर कि अगर आरव परेशान भी हो , तो उसके दोस्त उसे परेशान होने का मौका भी नहीं देते । बिना आरव के ये सारे दोस्त , एक पल भी कहीं नहीं टिकते हैं । आरव ने नील को "ओके" का मैसेज भेज दिया । नील उसके मैसेज को देखकर तुरंत बोला ।

नील - क्या बात है , इतनी देर से कॉल कर रहा हूं , तो जनाब एक कॉल तक पिक नहीं कर रहे । और मैसेज किया , तो तुरंत ओके का रिप्लाई भेज रहे हैं । लगता है इन्हें हमसे ही बात करने में खुजली मची हुई है ।

राहुल ( नील के सिर पर हल्की सी चपत लगाते हुए बोला ) - ये सोच कि उसने कम से कम रिप्लाई तो किया । वो ठीक हैं, तभी उसने तेरे मैसेज का रिप्लाई किया है । इस लिए हमें खुश होना चाहिए , कि टेंशन वाली कोई बात नहीं है और वो हमारे पास आ रहा है ।

रेहान ने भी राहुल के बात पर सहमति जताई , तो नील ने हम्मम कहा और राहुल ने सभी के लिए कॉफी ऑर्डर की । और सारे दोस्त आपस में बात करने लगे । जबकि रूही बार - बार कैंटीन के गेट की ओर देख रही थी और बड़ी ही बेसब्री से कायरा का इंतजार कर रही थी । क्योंकि कायरा ने न ही रूही को कॉल किया था और न ही मैसेज किया था सुबह से । वो परेशान थी उसे लेकर , कि आखिर आज कायरा गई कहां है । वहीं सौम्या की नजरें भी आज गेट की तरफ ही थी , और वो भी बेसब्री से किसी का इंतजार कर रही थी ।

इधर आरव ने खुद की आखों के आसूं साफ किए , जो जाने कब से उसकी आखों से बाहर आने के लिए बेताब थे , और फिर चेहरा ठीक कर खुद से बोला ।

आरव - चल आरव , जल्दी से दोस्तों के पास पहुंच , नहीं तो सब टेंशन में आ जायेंगे , कि आखिर मैं कहां गायब हो गया ।

यही सोचता हुआ आरव कैंटीन की ओर चल दिया, जहां सभी उसका वेट कर रहे थे । रूही बार - बार दरवाज़े की ओर देख रही थी और फिर जब उससे रहा नहीं गया तो आखिर उसने सभी से कह ही दिया ।

रूही - आज कायरा कहीं दिखाई नहीं दे रही है , किसी को पता है क्या उसके बारे में ...??

शिवानी - पर हमें लगा कि तुम उसके बारे में जानती होगी , इसी लिए अभी तक हमने उसके बारे में कोई बात नहीं की । उसने तुम्हें नहीं बताया , कि वो कहां है ...???

रूही ( चिंता के भाव लिए ) - यही तो परेशानी की बात है , कि वो अब तक नहीं आई है और उसने मुझे कुछ बताया भी नहीं है ।

ये लोग बातें कर ही रहे थे , कि तभी आरव वहां आ गया और सभी के चेहरे पर टेंशन के भाव देखे तो तुरंत चेयर में बैठते हुए सभी से बोला ।

आरव - क्या बात है ..????, मैं तो आ गया , फिर तुम लोग किसके लिए इतना परेशान हो रहे हो ...???

राहुल - कायरा का कुछ पता नहीं चल रहा है , कि वो कॉलेज आयी भी है आज या नहीं ....???? रूही को भी उसने कुछ नहीं बताया है , और इस वक्त वो है कहां , इसका भी हमें नहीं पता ।

आरव - कायरा कॉलेज आयी है और कुछ देर पहले वो स्टेडियम में थी ।

रेहान ( हैरानी से ) - स्टेडियम में ...!!!! पर क्यों ...??? और तुझे कैसे पता इस बारे में ...??

शिवानी ( शरारत से हंसते हुए ) - तुम भी क्या बात कर रहे हो रेहान ....!!! अब कायरा के बारे में आरव को पता नहीं होगा , तो भला किसे पता होगा ...???

इस बात पर सभी दबी हंसी हंस दिए और आरव झेंप गया । उसने तुरंत कहा ।

आरव - ऐसा कुछ भी नहीं है जैसा तुम सब समझ रहे हो । मैं खुद उसके बारे में नहीं जानता था , वो तो स्टेडियम का शोर सुनाई दिया और वहां की भीड़ देखी , तो उस ओर चल दिया ।

इतना कहकर उसने स्टेडियम में कायरा के, बॉयज के साथ हुए मैच के बारे में सबकुछ अपने दोस्तों को कह सुनाया, पर कायरा ने आरव पर जो गुस्सा किया , उसके बारे में उसने किसी से कुछ नहीं कहा । सबकुछ सुनने के बाद , सभी कायरा के लिए गर्व महसूस कर रहे थे । रूही तुरंत आरव की बात खत्म होते ही बोली ।

रूही - मेरी कायरा ऐसी ही है, उसे गलत कभी बर्दाश्त नहीं होता । और आज के मैच के बाद , कभी कोई किसी भी लड़की को इस तरह न तो चैलेंज करेगा और न ही किसी अकेली लड़की का मजाक उड़ाएगा इस कॉलेज में । कायरा से उलझना बहुत महंगा पड़ गया उन लड़कों को ।

नील - हमारी कायरा इतनी टैलेंटेड है , ये तो हम जानते ही नहीं थे ।

शिवानी - वो इस लिए , क्योंकि कायरा ने कभी अपने टैलेंट को , हमारे सामने शो - ऑफ नहीं किया । अगर किया होता , तो हम सभी पहले से उसके बारे में ये सब जानते होते ।

रेहान - अभी तो पता नहीं , कौन - कौन से टैलेंट देखने बाकी हैं कायरा के ।

रूही ( मुस्कुराकर ) - सच कहा तुमने रेहान , अभी तो तुम लोगों ने कायरा के बहुत सारे टैलेंट नहीं देखे हैं , जिस दिन उसके सभी टैलेंट देखोगे , तब जानोगे , कि असल में कायरा है कैसी और क्या - क्या कर सकती है वो ।

सभी रूही की बात पर मुस्कुरा दिए और आरव मन ही मन सोचने लगा ।

आरव - सही कह रही हो तुम रूही , अभी तुम्हारी दोस्त के जाने और कितने रूप बाकी हैं , जिन्हें मैंने अभी तक देखा भी नहीं है ।

तभी आरव का ध्यान सभी की ओर गया , जहां पर आदित्य नहीं था । उसने सभी से पूछा ।

आरव - आदि कहां है ...????

राहुल - वो ऑफिस के काम से गया है , आ जायेगा कुछ समय बाद ।

आरव ने हम्मम कहा। तभी रूही बोली ।

रूही - आरव , कल हुआ क्या था , जो तुम सभी लोगों को अचानक से ऑफिस जाना पड़ा ।

कल के बारे में सभी को सबकुछ पता था , सिर्फ रूही और अंशिका को छोड़कर । सौम्या ने शिवानी को सब बता दिया था । पर कल राहुल और रूही की बात ही नहीं हो पाई थीं, मैसेज में चैट करने के बाद से । रूही के सवाल पर , आरव और सौम्या को छोड़ कर सभी ने सबकुछ बता दिया , सिर्फ रेहान ने ये बात छुपा ली , कि ये सब मिशा की चाल थी , क्योंकि उसे और आदित्य को अभी तक विनय के बताने के अलावा और कोई सबूत नहीं मिले थे , इस लिए उन दोनो ने अभी भी इस बात को सबसे बताने से परहेज़ किया । कल रात को चंदू के साथ राजवीर ने क्या करवाया था, ये बात भी सभी को बताई गई, जिसके बारे में गर्ल्स नहीं जानती थी । सबकुछ सुनने के बाद रूही का मुंह हैरानी से खुल गया । उसने सभी से कहा ।

रूही - कायरा के साथ कल इतना कुछ हो गया , और मुझे भनक तक नहीं लगी । और इस राजवीर की इतनी हिम्मत बढ़ गई , कि उसने कायरा को इतना हर्ट कर दिया । ( उदास होकर ) मैं कैसी दोस्त हूं कायरा की , जो उसे उसकी प्रॉब्लम के टाइम सहारा तक नहीं दे सकी , उसकी हेल्प भी नहीं कर सकी , लानत है यार ऐसी फ्रेंड होने पर तो ।

आरव - देखो रूही....!!! तुम्हारी इसमें कोई गलती नहीं है । ये सब राजवीर ने इस तरह किया , जिसका हममें से किसी को आइडिया तक नहीं था । मेरे बिजनेस को नुकसान पहुंचाएगा राजवीर , ये तो मुझे पता था और उससे निपटने के लिए मैंने पहले से सब कुछ प्लान कर लिया था , पर कायरा के साथ वो ये सब करने वाला है, हमें बिजनेस के नुकसान में उलझाकर , ये बात न ही मेरे जहन में आयी और न ही हमारे बाकी दोस्तों के दिमाग में । अगर मुझे राजवीर का ये प्लान पता होता , तो मैं उसे भी फेल करने की पूरी प्लानिंग तैयार रखता । जिसकी वजह से कायरा उतनी हर्ट नहीं होती , जितनी वो कल हुई है । पर कायरा बेहद स्ट्रोंग लड़की है , और वो शांत बैठने वालों में से नहीं है , तभी तो सुबह - सुबह ही वो.......।

इतना कहते - कहते आरव रुक गया , क्योंकि कायरा के राजवीर के घर जाने की बात , सिर्फ और सिर्फ कायरा , जय और आरव को ही पता थी । इस लिए उसने किसी को भी इस बात को न बताने का फैसला लिया । ये बात कायरा ही सबको बताए , यही ठीक होगा , सोचकर उसने आगे कुछ नहीं कहा । उसे चुप देख रूही फिर बोली ।

रूही - सुबह - सुबह क्या आरव ...????

आरव ( बात पलटते हुए बोला ) - यही , कि सुबह ही वो कॉलेज आ गई और फिर जब उसके आत्मसम्मान पर बात आयी, तो उसने मुंह तोड़ जवाब दिया सभी को । इस लिए तुम टेंशन मत लो , इस सब में तुम्हारी या हमारी , किसी की कोई गलती नहीं है । और सबसे अच्छी बात तो ये हैं, कि कल कायरा सही - सलामत हम सभी के पास पहुंच गई ।

रूही - तुम सही कह रहे हो , अब बस मैं उसे एक बार देख लूं , तो मुझे चैन आए ।

राहुल - लेकिन तुम्हें एक बात का ध्यान रखना होगा रूही , ये बात तुम्हें अंशिका के सामने बिल्कुल भी नहीं करनी है ।

रूही ( असमंजस में बोली ) - पर क्यों ...??? उसे तो सब कुछ मालूम ही होगा कल के बारे में ।

आरव - नहीं रूही ....। अंशिका कल के बारे में कुछ नहीं जानती है और न ही खुशी भाभी इस बारे में कुछ जानती हैं ।

रूही - पर क्यों ...???

आरव - क्योंकि अगर अंशिका को कल के बारे में कुछ भी पता लगा , तो उसे खुद को बुरा लगेगा ही, साथ ही वो सब कुछ जाकर खुशी भाभी को बता देगी । क्योंकि उसमें अभी बचपना है , इस लिए वो मामले की गंभीरता को अभी समझ नहीं पायेगी । और अगर भाभी को पता चला , कि उनके भाई ने कायरा के और हमारे बिजनेस के साथ क्या - क्या किया हैं, तो वो बहुत ज्यादा हर्ट होंगी और उसका असर सीधे उनकी सेहत पर और हमारे घर के आने वाले नन्हे मेहमान पर पड़ेगा , जिसका खामियाजा भुगतने के लिए हम और हमारी फैमिली अभी तैयार नहीं है । इस लिए तुमसे रिक्वेस्ट है, कि ये सारी बातें तुम अंशिका के सामने मत बोलना । जब वो कल के बारे में बात करेगी , तो हम सभी उसे अपने हिसाब से कोई भी जवाब दे देंगे , जिसपर वह यकीन कर सके ।

रूही - बात अगर ऐसी हैं , तो मैं कभी अंशिका से इस बारे में बात नहीं करूंगी । और भाभी के सेहत तो , मेरे लिए भी उतनी ही इंपोर्टेंट है, जितनी कि कायरा की ।

नील - ये बात तुम सभी गर्ल्स कायरा को भी समझा देना । हालांकि वो जानती है , पर तब भी अपनी तरफ से एक बार उसे आगाह जरूर कर देना ।

तभी राहुल की नज़र , बाहर से आती हुई अंशिका पर पड़ी , जो उन्ही की तरफ आ रही थी । उसे देखकर राहुल तुरंत सभी से बोला ।

राहुल - गाइज़ ....!!!! स्वीटी ( अंशिका ) इसी तरफ आ रही है । तुम सभी लोग अंशिका से इस बारे में कुछ मत कहना । और उसके सामने ऐसे रहना , जैसे कल कुछ बड़ी प्रॉब्लम हुई ही न हो ।

सभी ने हम्मम कहा ........।


क्रमशः

Rate & Review

Usha Dattani Dattani
Sushma Singh

Sushma Singh 6 months ago

Vishwa

Vishwa 6 months ago