लाल ग्रह - जीवन की खोज - (पार्ट 1) in Hindi Science-Fiction by किशनलाल शर्मा books and stories Free | लाल ग्रह - जीवन की खोज - (पार्ट 1)

लाल ग्रह - जीवन की खोज - (पार्ट 1)

"यूरेका"
मंगल  मिशन से लौटे यान के सकुशल धरती पर उतरते ही इस मिशन से जुड़े सभी लोग खुशी से उछल पड़े।खुश होते क्यो नही?कई सालों की मेहनत के बाद वे अपने मिशन में कामयाब हुए थे।यूं तो धरती के कई देश वर्षो से मंगल मिशन में जुटे थे।पर पहले सफलता इन्हें मिलज थी।सब एक दूसरे कक बधाई देने लगे।खुशी उनके चेहरे और आंखों से साफ साफ झलक रही थी।
लेकिन
"मानव कहां है?"
यान का दरवाजा खुलते ही यान को खाली देखकर सब चोंके थे।सब की जुबान पर एक ही प्रश्न था।मानव कहाँ गया?क्या हुआ उसके साथ?जब यान लौट आया तो मानव कहां रह गया?किसी की कुछ समझ मे नही आ रहा था।धरती से मंगल ग्रह पर भेजा गया यान अपने तय प्रोग्राम के अनुसार मंगल की सतह पर उतरा था।और चौबीस घण्टे बाद वहां से रवाना होकर सकुशल धरती पर वापस लौट भी आया था।
इस यान में मानव को भेजा गया था।मानव ने वहां हर काम कक सफलता पूर्वक अंजाम दिया था।लेकिन वह लौटा क्यो नही?
क्या हुआ उसके साथ?किसी की कुछ भी समझ मे नही आ रहा था।तभी मिशन की टीम का एक सदस्य बोला,"हमने यान के बाहर भी कैमरे लगाए थे।शायद उनमे कुछ रिकॉर्ड हुआ हो?"
"तुम ठीक कह रहे हो।देखते है"
और उन कैमरों की रिकॉर्डिंग देखवे का निर्णय लिया गया।
यान मंगल ग्रह पर सकुशल उतरा था।यान उतरने के बाद यान का दरवाजा खुला और मानव ने मंगल की सतह पर पहला कदम रखा था
"अदभुत,लाजवाब,अजूबा,आश्चर्यजनक
मंगल ग्रह पर उतरने के बाद मानव चारो तरफ देखकर खुशी से उछल  पड़ा।खुश क्यो नही होता।पृथ्वी से मंगल पर उतरने वाला पहला आदमी बन गया था।उसका नाम इतिहास में दर्ज हो गया था।
और वह मंगल ग्रह पर उतरते ही अपने मिशन में जुट गया।वह चहलकदमी  करता आगे बढ़ा
"औरत
मंगल ग्रह सुनसान है।निर्जन है।वहां तूफान आते रहते है।धूल भरी आंधी चलती रहती है।पृथ्वी के लोग मानते है उस पर जीवन नही है।उसी की तलाश में उसे भेजा गया था।इस ग्रह पर जीवन की संभावना का उसे पता लगाना था।कुछ वैज्ञानिकों का यह भी मानना है कि हमारे पुर्वज मंगल ग्रह से ही पृथ्वी पर  आये थे।मंगल ग्रह पर आई प्राकृतिक आपदा से वहाँ पर जीवन समाप्त हो गया था।
जिस ग्रह पर मानव जीवन नही है।उस पर औरत।इसका मतलब साफ था।पृथ्वी के किसी  दूसरे देश ने गुपचुप तरीके से मंगल मिशन  को अंजाम दे दिया था।उस देश ने मानव के आने से पहले औरत कक मंगल ग्रह पर भेज दिया था।कौन से देश से है यह औरत?
यह जानने के लिए मानव आगे बढ़ा।लेकिन कुछ कदम चलकर ठिठक गया।उस औरत की शक्ल सूरत,आकृति धरती की औरतो जैसी बिल्कुल नज़र नही आ रही थी।धरती की औरतो से कुछ अलग शक्ल सूरत थी उसकी।
कहीँ यह औरत दूसरे ग्रह से तो नही आयी?
यह विचार मन मे आते ही उसने दूर खड़ी औरत को फिर से देखा।वह एलियन ही थी।किसी दूसरे ग्रह की प्राणी।
वह एलियन है यह जानकर मानव डर गया।वह उसे अपना दुश्मन या प्रतिद्वंदी मानकर नुकसान भी पहुंचा सकती है।
और मानव जहां का तन्हा खड़ा रह गया।
शायद ऐसा ही विचार उस औरत के मन मे भी आया था
(शेष कथा अगले भाग में।एकदम नए विषय पर


Rate & Review

Shakti Singh Negi

Shakti Singh Negi Matrubharti Verified 3 months ago

nice