Unfortunate Love in Hindi Love Stories by Veena books and stories PDF | अनफॉरट्यूनेटली इन लव - ( नई शुरूवात_२) 36

अनफॉरट्यूनेटली इन लव - ( नई शुरूवात_२) 36

अपने दादाजी से आशीर्वाद ले कर नियान और गन बाहर जाने के लिए निकले।

" क्या तुम्हें, अभी होस्टल जाना है ? या फिर तुम्हारे पास वक्त है ? " गन ने गाड़ी में बैठ पूछा।

" मेरे होस्टल के गेट ९ बजे तक बंद होते है। मेरे पास वक्त है।" नियान ने कहा।

" तो क्यों ना कही घूमने चले ?" गन ने पूछा।

" हां। जरूर। लेकिन पहले मुझे तुम्हारी चाबियां दो।" नियान ने हाथ आगे करते हुए कहा। गन ने अपनी गाड़ी की चाबियां उसके हाथ में रख दी। उसने अपने बैग में से एक खूबसूरत बॉक्स बाहर निकाला। " टाडा।।।।।।" मुस्कुराते हुए उसने गन को दिखाया। " ये मैंने तुम्हारे जन्मदिन पर खरीदा था, तोहफ़े के रूप में। लेकिन हर बार तुम्हे देना भूल गई।" उसने बॉक्स खोला उसमें एक बंदूक थी। जिसे किचेन में लगाया गया था।

गन ने उस किचेन को हाथ में लिया। " हे, ए तो लिमिटेड एडिशन वाली वूडन पिस्तौल है ना? तुम्हे कहा से मिली?" उसने आश्चर्य से पूछा।

" बिंगो। मुझे लगा ही के तुम्हे ए पसंद आएगी।" नियान ने मुस्कुराते हुए कहा।

" पसंद। मुझे ये बोहोत ज्यादा पसंद आई हैं। थैंक यूं।" इतना कह उसने नियान को गले लगा लिया। नियान के हिसाब से ये उसका अब तक का सबसे अच्छा जन्मदिन है। आज उसका प्यार जो उसके साथ है। " लेकिन एक मिनिट रुको। आज जन्मदिन तो तुम्हारा है। तोहफा तुम्हे मिलना चाहिए।"

" मैंने कहा ना, ये मैंने बोहोत पहले खरीदा था। बस देना भूल गई। सॉरी।" नियान ने नजरे झुकाते हुए कहा।

" कोई बात नही।" गन ने उसके सर पर से हाथ फेरा। " चलो अब तुम्हारे लिए तोहफा लिया जाएं।" उसने कहा।

" इसकी सच में कोई जरूरत नही है।" नियान।

" हैं। अपने बॉयफ्रेंड की बात मानने से इन्कार करोगी, वो भी पैच अप के पहले ही दिन।" गन ने झूठा गुस्सा दिखाते हुए कहा। पर उसके मुंह से ऐसी बात सुन नियान कुछ ऐसे शरमाई मानो, उसके चेहरे से कानों तक लाली छा गई। " अच्छा सुनो, मैं डेटिंग के बारे में ज्यादा नहीं जानता। मैने बस सोलो को देखा है। रिलेशनशिप में। तो मुझे नही पता मैं कैसा बॉयफ्रेंड बनूंगा। अगर कुछ गलती हो जाएं, तो बेजिझक मुझे बता देना। ठीक हैं ?"

" नहीं।" नियान के मुंह से ना सुन वो एक मिनिट के लिए हैरान हो गया। " मेरा मतलब। तुम्हे सोलो से ही सलाह लेनी होगी, क्योंकि आज से पहले मैं भी कभी किसी रिलेशनशिप में नहीं थी।" उसने इतना कह फिर अपनी नजरे झुका ली।

" अगर ऐसी बात है, तो चलो दोनो एक साथ सीखते हैं।" उसके बाद गन सीधा उसे मॉल ले गया। उसने उसे कपड़ो से लेकर हर चीज़ पूछी। लेकिन नियान ने सब लेने से मना कर दिया। उसके बाद गन उसे गेमिंग सेक्शन में ले गया। वहा से उसने उसके लिए नया प्ले स्टेशन और बोहोत सारे गेम्स खरीदे। नियान ने भी उसे खुशी खुशी स्वीकार किया। उसके बाद दोनों ने रात का खाना खाया। और गन उसे उसके होस्टल छोड़ने पोहचा।

दोनों गाड़ी में बैठे हुए थे।
" मुझे तुम्हे एक बात बतानी थी। मतलब क्योंकि तुम मेरी गर्लफ्रेंड हो, तुम्हे पता होना चाहिए की मैं कहा हूं, क्या कर रहा हूं। तो मैं दो दिनों बाद, सानया जा रहा हूं। वहा हमारी २० दिनों की ट्रेनिंग है। तो अब हम उसके बाद ही मिल पाएंगे।" उसने नियान को देखा।

" क्या मैं ? मेरा मतलब क्या मैं तुम्हे फोन कर सकती हूं ?" नियान ने हिचकिचाहट से पूछा।

" हा रात को ९ बजे तक मैं फ्री हो जावूंगा।" गन।

" ठीक है। तो रात को मिलेंगे। बाय।" नियान।

" बाय।" गन।

इतना कह नियान अपने कमरे में चली गई और गन अपने क्लब के लिए निकला। नियान को इतना खुश देख, याया ने पूछा। " क्या बात हैं ? जिन्हे सुबह तक उसका जन्मदिन है, पता नही था। आज इस कदर मुस्कुरा रही हो ?"

" याया। वो कितना अच्छा है।" नियान ने अपनी दोस्त को गले लगाते हुए कहा।

" वो कौन ? हमारा कप्तान ? " याया ने पूछा। वो जानती थी की उनकी टीम का कप्तान नियान को पसंद करता हैं। पर नियान को ये बात समझने में सदियां लग जाती।

" याया " नियान ने उसे आंखे दिखाई। " मेरे खास किसीने तुम्हारे लिए स्नैक्स भेजे है। खाना चाहोगी?" उसने उसे दिखाते हुए कहा।

" हा। जरूर। पहले बताओ ये खास कौन है।" याया ने पूछा।

" आज नही। फिर कभी बताऊंगी। चलो डांस करते हैं।" इतना कह नियान ने पार्टी म्यूजिक शुरू किया। फिर उसने अपनी सहेली के साथ मिलकर डांस किया।

वहा क्लब में,
" ये लड़को में बाट दो।" हान शाग्यान ने नियान की भेजी मिठाई को डेमो को देते हुए कहा।

" लेकिन ये किस खुशी में बॉस " डेमो ने पूछा।

" नियान ने भेजा है, तुम लोगो के लिए।" इतना कह अपनी हसी दबाते हुए वो वहा से चला गया। हसी तो उसे दबानी ही थी। वो भला सब को दिखा नही सकता की कोई उसे भी मुस्कुराना सीखा रहा है।

डेमो ने जल्द जाकर सब में मिठाई बाटी।
" वाउ, देखा मैने नही कहा था। वो दोनो एक दूसरे से प्यार करते है। मैं तो पहली नजर में देखते ही समझ गया था।" ग्रंट ने बड़े गुरुर से कहा।

" मान गए भाभी को। मतलब समझो उन्होंने ने तो रेगिस्तान में बारिश करवा दी। बॉस के चेहरे की चमक देखी।" वन ने लडको से पूछा।

" चमक क्या, अब तो बॉस के चेहरे का रंग भी बदलेगा। इतने दिनो से झगड़ा चल रहा था, शायद। आखिरकार सुलझा लिया।" ९७ ने कहा।

" तुम्हें कैसे पता दोनों में झगड़ा हो रहा था?" डेमो ने पूछा।

" अरे देखा नही क्या बॉस को कितना गुस्सा आ रहा था, पिछले २ हफ्तों से। तभी से तो भाभी क्लब नही आई।" ९७।

" ओ।।।।" सब लड़को ने उसकी हा में हा भरी।

गुड मॉर्निंग से गुड नाईट तक के मैसेज का सफर फिर शुरू हो गया था। गन ने एक बार फिर से उन मैसेजेस को देखा। एक मुस्कान दी और सो गया दूसरे दिन उसे अपनी टीम के साथ सफर पे जो निकलना था।

बस में कुछ घंटो के सफर के बाद आखिरकार टीम सानया पोहची। टीम SP पहले ही वहा मौजूद थी। जैसे ही टीम K & K के सदस्य नीचे उतरे। सोलो ने सबका परिचय वहा खड़ी एक खास महिला से करवाया।

" टीम्स सब यहां इक्कठा हो जाओ।" सोलो ने दोनो टीम्स से कहा। " इनसे मिलिए ये जूलिया है। हमारे एशियन लीग की को_ऑर्डिनेटर और हमारे गेमिंग मैगजीन की एडिटर चीफ। इन्होंने १८ साल की उम्र से हर कदम हमारा अच्छे से साथ दिया है। आगे भी हम इनसे इसी तरह के सपोर्ट की उम्मीद रखते है।" सोलो ने जूलिया से हाथ मिलाया। एप्पल डॉग भी उस से मिलने आगे आई। सब से हाई हैलो करने के बावजूद जूलिया की आखें किसी को ढूंढ़ रही थी।

" सर सोलो ये आखिर इतनी बेसब्री से किसे ढूंढ रही है ?" डेमो ने अपने प्यारे से अंदाज में सोलो से पूछा।

सोलो ने सारे लडको को अपने पास बुलाया, " मैं तुम लोगो को बताना भूल गया। इसने हमारी इंडस्ट्री एक इंसान के लिए ज्वाइन की थी। और अभी भी ये उसकी सबसे बड़ी फैन है। उसे तब भी उसकी तस्वीरे खींचना अच्छा लगता था। शायद आज भी वो उसी के पीछे पागल है।" सोलो ने धीमी आवाज में कहा।

" लेकिन सोलो वो है कौन ?" ग्रंट ने भी सोलो को उसी की आवाज में पूछा।

सोलो ने K & K की बस को तरफ इशारा किया।

हान शाग्यान (गन) बस से नीचे उतर रहा था। और जूलिया बस के एक्जिट पर खड़ी होकर उसकी तस्वीरे खीच रही थी।

Rate & Review

Mangal Singh

Mangal Singh 7 months ago