Hame tumse pyar hai - 5 in Hindi Love Stories by Harshali books and stories PDF | हमे तुमसे प्यार है - 5 - फ़िक्र

हमे तुमसे प्यार है - 5 - फ़िक्र

कमरे में जाकर रेवा फूट फूट कर रोने लगी। अनय का एक एक शब्द अभी भी उसके दिमाग मैं घूम रहा था ।।उसने अपने आसू पोछे और फर्स्ट एड बॉक्स निकालकर अनय के रूम की ओर चली गई। उसने देखा की अनय सो रहा था । रेवा अनय के कमरे गई और उसके बेड के करीब बैठ गई।

रेवा ने अनय के पैर को देखा जो की पूरा लाल हो चुका था । रेवा ने बॉक्स से क्रीम निकाली और अनय के पैरो पर हल्के से लगाने लगी । रेवा को बुरा लग रहा था क्युकी आज उसकी वजह से अनय को चोट पहुंची थी। रेवा का नेचर ही कुछ ऐसा था उसे ये बिलकुल पसंद नही आता था जब किसीको उसकी वजह से तकलीफ होती थी ।

रेवा अनय के पैरो पर मरहम लगाने के साथ साथ फूंक भी मार रही थी क्योंकि अनय को जलन का एहसास ना हो ! मरहम लगाने के बाद रेवा ने एक नजर अनय को देखा जो की अभी भी गहरी नींद सो रहा था । रेवा ने एक गहरी सांस ली और अनय के रूम से बाहर चली गई ।

अगले दिन सुबह जब अनय की आंख खुली तब उसकी नजर खुद के पैरो पर पड़ी। .

अनय ने सोचा – ये किसने लगाया ! ये काम सर्वेंट्स का तो हो ही नही सकता मेरे मना करने के बावजूद भी ऐसी हरकत वो नही करेंगे फिर ....अनय सोच ही रहा था तभी उसकी नज़र जमीन पर पड़े एक पायल पर पड़ी। उसने वो पायल उठाया और कहा – अच्छा! तो ये हरकत इसने की है ! अनय अपने रूम के बाहर गया और रेवा को तलाशने लगा जो की एक सर्वेंट से काफी प्यार से बात कर रही थी । जैसे ही रेवा की नजर अनय पर पड़ी वो बिना एक पल गवाए वहा से अपने रूम मैं चली गई।
कुछ देर बाद नहाने के बाद अनय फिर से रेवा के कमरे के बाहर खड़ा हो कर रेवा को देखे जा रहा था जो की एक फाइल देखने में बिजी थी। अनय रेवा के करीब गया और उसे गोद मैं उठा लिया । रेवा अनय के इस मूवमेंट को देखकर शॉक मैं थी।

अनय ये आप क्या कर रहे है छोड़िए मुझे नीचे उतारिए ! I hate you ! रेवा अपने हाथ पैर मार रही थी लेकिन अनय का उस पर कोई भी असर नही हुआ ! अनय ने गुस्से से रेवा की ओर देखा । अनय की वो आंखे देखकर रेवा हर बार डर जाती। अनय ने रेवा को बेड पर बिठा या और उसके पैर की ओर देखने लगा जो की जला हुआ था। अनय ने साइड मैं रखे फर्स्ट एड बॉक्स से मरहम लिया और रेवा के पैर पर लगाने लगा।

आह! दर्द हो रहा है अनय धीरे ! रेवा के मुंह से निकल गया ।

अनय ने रेवा के जख्म पर फूंक मारते हुए कहा – तुम देख कर नही चल सकती ! हर वक्त बस एक तितली की तरह यहां से वहां उड़ती रहती हो !

रेवा ने अनय की इस बात पर कुछ भी रिएक्ट नही किया और यहां वहा देखने लगी।
अनय ने अपनी जेब में से पायल निकाली और रेवा के पैरो मैं पहनाने लगा।

ये आपके पास कैसे ?? रेवा ने पूछा।

कल जब मेरे पैरो पर मरहम लगाने आई थी तब गिर गया ! अब तुम्हे इतना भी कुछ नहीं हुआ है जो तुम ऐसी बैठी हो , चलो जल्दी कंपनी जाना है !अनय ने कहा रूम के बाहर चला गया।
जान चली जाए लेकिन सॉरी और थैंक यू कभी नही कहेंगे , एक थैंक्स तो बोल सकते थे ना मुझे लेकिन नही जनाब का इगो बीच में आ जाता है ना क्या करे !! रेवा ने मुंह बनाते हुए कहा।
तभी अनय ने दूर से ही कहा – सोचना भी मत की में तुम्हे थैंक यू बोलूंगा ! और सॉरी बोलने का तो कोई सवाल ही नही उठता क्यूंकि गलती तुम्हारी थी ! अब अपनी सपनो वाली दुनिया से बाहर आओ और चलो जल्दी से !

रेवा ने अनय के पास जाते हुए कहा – आप से तो उम्मीद करना ही बेकार है , वैसे आज बिजनेस टायकून अनय रावल ने एक लड़की के पैर छुए !! वाह!! आपको मेरी फिक्र हो रही है क्या ?

ज्यादा जबान मत चलाओ , मुझे तुम्हे चुप करवाना अच्छे से आता है ! दिखाऊं?? अनय ने रेवा को अपने करीब खींचते हुए कहा।

रेवा ने अनय से कुछ दूरी बनाते हुए कहा – नही.. नही।।वो..कोई जरूरत नही है में नीचे हूं रेवा ने कहा नीचे चली गई । अनय बस जाती हुई रेवा को एक टक देखे जा रहा था।


Rate & Review

Larry Patel

Larry Patel 2 months ago

Indu Beniwal

Indu Beniwal 2 months ago

Preeti G

Preeti G 3 months ago