Hame tumse pyar hai - 11 in Hindi Love Stories by Harshali books and stories PDF | हमे तुमसे प्यार है - 11 - पार्टी

हमे तुमसे प्यार है - 11 - पार्टी

कुछ देर बाद मीटिंग खत्म हो गई। प्रोजेक्ट अनय की कम्पनी को मिल चुका था। पूरा स्टाफ बहुत खुश था क्योंकि इतने महीनो से जिस प्रोजेक्ट को पाने के लिए सब लोग इतनी मेहनत कर रहे थे आज वो प्रोजेक्ट फाइनली उन्हें मिल चुका था।

अनय ने पूरे स्टाफ से कहा – आज हमारे इस अचीवमेंट के लिए मैने आज शाम एक पार्टी ऑर्गेनाइज की है । सभी को आना है ! टाइम एंड एड्रेस मैं सबको मेल कर दूंगा !अब सब घर जाओ और पार्टी की तैयारी करो ! Let's enjoy this moment !

पार्टी का नाम सुनकर सभी लोग बड़े एक्साइटमेंट से एक दूसरे के साथ बाते कर रहे थे। लेकिन रेवा अनय की ओर गुस्से से देखे जा रही थी😠। अनय ने रेवा की ओर देखकर मूंह बनाया और अपने केबिन मैं चला गया😒। सभी स्टाफ मेंबर्स अपने अपने घर के लिए निकल गए।

" चलो घर जाना है ! "
रेवा ने बिना एक नजर अनय की ओर देखे कहा – आप जाइए मैं खुद आ जाऊंगी ! मुझ आपके साथ नहीं आना !😤

रेवा की ये बात सुनकर अनय ने ऊंची आवाज मैं कहा – तुम आ रही हो या तुम्हे उठाकर लेकर जाऊ ? 🤨

आप मुझे धमकी दे रहे है अनय ?🤨 खबरदार मुझे हाथ लगाया तो ! मैने कहा ना मैं आपके साथ नही आऊंगी मतलब नही आऊंगी !😤 मुझे आज शाम की पार्टी के लिए शॉपिंग करनी है । रेवा ने कहा।

अनय ने रेवा की बात को अनसुना किया और उसे अपने गोद मैं उठा लिया। अनय की इस मोमेंट को लेकर रेवा शॉक मैं थी।
रेवा ने चिल्लाते हुए कहा – अनय ! छोड़िए मुझे , में कहे रही हूं मुझे नीचे उतारिए ! 😳
अनय ने रेवा की बातों को इग्नोर किया और आगे बढ़ने लगा। कुछ दूर जाकर अनय रुक गया और रेवा से कहने लगा – छोड़ दूं तुम्हे ? 🤔
रेवा ने झट से अपना सिर किसी छोटी बच्ची की तरह हां हिला दिया ।
अनय रेवा को छोड़ने ही वाला था तभी रेवा ने जोर से चिल्लाते हुए कहा – अनय नही , मुझे मत छोड़ना ! आपके दिमाग का आटा ढीला हुआ है क्या ? आप मुझे यहां छोड़ने वाले थे ? सीढ़ियों पर ? में गिर जाती तो ? 🤯

अब अगर ज्यादा जबान चलाई ना तो यही से नीचे फेक दूंगा तुम्हे ? करू वैसा ? अनय ने रेवा को धमकी देते हुए कहा। अनय की ये बात सुनकर रेवा ने अनय के कंधे पर अपने पकड़ बनाते हुए कहा – नही नही प्लीज ! में आपकी हर बात मानूंगी ! पक्का ज़िद नही करूंगी 🤐!

हम्मम...गुड गर्ल वैसे तुम .....अनय इसके आगे कुछ बोल पाता तभी पीछे से एक जानी पहचानी आवाज आती है । अनय जैसे ही पीछे मुड़कर देखता है वो रेवा को झट से छोड़ देता है और रेवा नीचे जमीन पर गिर जाती है।

आह!! अनय क्या कर रहे है आप । आपको मेरा वेट कैरी करना नही आता , कोई फायदा नही है आपके इस बॉडी का सब कुछ वेस्ट चला गया । रेवा ने अपनी कमर को पकड़ते हुए कहा।

ये सब हो क्या रहा है ? तुम दोनो यहां क्या कर रहे हो ? और अनय तुमने रेवा को अपने गोद मैं क्यों उठाया था ? आज सुबह एक्सरसाइज नही की थी क्या? कार्तिक ने पूछा।

वो.. कुछ नही छोड़ उसे । मुझे बता अनु किधर है ! अनय ने रेवा की ओर अपना हाथ बढ़ाते हुए पूछा।

अनु पार्टी के तैयारी करनी ने लिए घर गई है । में अभी निकल ही रहा था तभी तुम दोनो को देखा वैसे बताओ ना तुम दोनो यहां कर क्या रहे थे ? कही फ्यूचर प्लानिंग तो नही कर रहे ? कार्तिक ने तिरछी नजरों से अनय की ओर देखते हुए कहा ।

फ्यूचर प्लानिंग ? कैसी प्लानिंग ? रेवा ने मासूमियत से पूछा।
अरे कुछ नही वो तुम्हारे काम का नही है अब चलो जल्दी से वरना फिर से उठाकर तुम्हे नीचे गिरा दूंगा ", अनय की ये बात सुनकर रेवा ने अनय की और गुस्से से देखा और नीचे चली गई।

कुछ देर बाद दोनो भी विला पहुंच गए। रेवा बिना कुछ कहे अपने रूम मैं चली गई और बड़बड़ाने लगी – आज के पार्टी मैं में क्या पहनकर जाऊंगी ! मेरे पास तो अच्छी ड्रेस भी नही है और ना ही मैचिंग कोई नेकलेस और इयरिंग्स !

तभी एक सर्वेंट दरवाजे पर नॉक करके कहता है – ये सब सर ने आपके लिए भेजा है !

उस सर्वेंट ने बैग टेबल पर रख दी और वहा से चला गया। रेवा ने वो बैग देखी उसके अंदर एक बहुत ही प्रीटी पार्टी वेयर ऑफ शोल्डर गाउन था 👗। वो गाउन इतना सुंदर था की रेवा को पहले ही नजर मैं पसंद आ गया। उसके ही साथ साथ बाकी भी कही जरूरत की चीजे उस बैग में थी। रेवा का चेहरे खुशी से खिल उठा। दूर खड़ा अनय रेवा को मुस्कुराते हुए देखे जा रहा था।

आज मैं पार्टी मैं इतनी सुंदर दिखूंगी ना की सबकी नजर बस मुझ पर होंगी",रेवा ने अपने आप से ही कहा।

शाम को –
रेवा रेडी हो कर अपने आप को आइने मैं निहारे जा रही थी। रेड कलर के ऑफ शोल्डर गाउन में रेवा एक प्रिंसेस के तरह लग रही थी । उसने अपने बालो को बन बनाया हुआ था। और आगे की बालो की कुछ लटे उसका गाल चूम रही थी। आंखो मैं गहरा काला काजल सजा हुआ था ।ओंठो पर हल्की सी लिपस्टिक लगी हुई थी।

फाइनली i am ready । कितनी खूबसूरत दिख रही हूं मैं ! हाए मुझे किसी की नजर ना लगे ", रेवा ने खुद को आइने मैं देखते हुए कहा और कमरे से बाहर चली गई।

तभी उसने देखा की एक सर्वेंट अनय के रूम के बाहर अपने हाथों मैं कपड़े लेकर खड़ा था। रेवा ने उस सर्वेंट से पूछा – क्या हुआ ? आप ऐसे बाहर क्यूं खड़े हो ?
उस सर्वेंट ने घबराते हुए कहा – दीदी वो सर दरवाजा नही खोल रहे ! उन्हे ये इस्त्री किए हुए कपड़े देने थे।

दीजिए मैं दे दूंगी आप दूसरा काम कीजिए रेवा ने कहा अनय के कमरे मैं जाकर कपड़े बेड पर रख दिए। जैसी वो पीछे मुड़ी अनय से टकराकर नीचे गिरने ही वाली थी की तभी अनय ने उसकी कमर को पकड़कर उसे अपने ओर खींच लिया । ।


Rate & Review

ketuk patel

ketuk patel 1 month ago

Indu Beniwal

Indu Beniwal 2 months ago

Akanksha Sahu

Akanksha Sahu 2 months ago

Reshma Patel

Reshma Patel 2 months ago

Preeti G

Preeti G 2 months ago