Best Poems Books in Gujarati, hindi, marathi and english language read and download PDF for free

मी आणि माझे अहसास - 50
by Darshita Babubhai Shah

१. मला तू माझ्या हृदयाशिवाय हवा आहेस प्रत्येक गाण्यात मी तुला गाईन   पुढे जाण्यासाठी प्रोत्साहित करा मी प्रत्येक क्षणी तुझे कौतुक करीन   मित्राचा मित्र मी तुमच्याशी प्रामाणिक ...

उठो! तुम्हें जवाब देना है
by Prabhat Anand

उठो लेखक!तुम्हें बांधने हैं-एक ‘साहेब’ के लाल टाई सेएक फौजी की बेवा के वो जूतेजो फट चूके हैं,कार्यालयों के चक्कर काटते-काटते।लेखक!इस चकाचौंध के बीच -कुछ लोग हैं,जो अपने सपनों ...

HAPPINESS - 54
by Darshita Babubhai Shah

1. I want you without my heart I will sing you in every song   encourage you to move forward I will appreciate you every moment   Friend's friend ...

હું અને મારા અહસાસ - 56
by Darshita Babubhai Shah

1. હું તમને મારા હૃદય વિના ઈચ્છું છું હું તને દરેક ગીતમાં ગાઈશ   તમને આગળ વધવા માટે પ્રોત્સાહિત કરો હું દરેક ક્ષણે તમારી પ્રશંસા કરીશ   મિત્રનો મિત્ર ...

में और मेरे अहसास - 64
by Darshita Babubhai Shah

1. दिल चाहे बेपन्हा चाहूँ तुझे lहर गीतों में मेरे गाऊँ तुझे ll आगे बढ़ने का हौसला बढ़ाने lहर लम्हा हरपल सराहूँ तुझे ll यारो का यार समझते हैं ...

अभिव्यक्ति.. - 7
by ADRIL

  उसकी आवाज़    प्यार चाहना उसके लिए ख्वाब बन कर रहे जाता था   इज्जत की दुहाई दे वो अरमान मनमे ही रहे जाता था   दुल्हन बनने का सपना ...

ఆల్ఫాస్
by Darshita Babubhai Shah

1. మీ పట్ల ప్రేమ మరియు ఆశ నాలుగేళ్ల నుంచి చూస్తున్నాను.   వెర్రి మరియు వెర్రి హృదయం అప్పటి నుండి నేను పజిల్‌ని చూస్తున్నాను   మనోహరమైన గజల్స్‌లోని సత్యం వలె అల్ఫాజ్ మత్తుగా ఉంది.   నేను ...

ആൽഫാസ്
by Darshita Babubhai Shah

1. നിങ്ങളോടുള്ള സ്നേഹവും പ്രതീക്ഷയും നാല് വർഷമായി ഞാൻ നിരീക്ഷിക്കുന്നു.   ഭ്രാന്തൻ, ഭ്രാന്തൻ ഹൃദയം അന്നുമുതൽ ഞാൻ പസിൽ കണ്ടു   മനോഹരമായ ഗസലുകളിലെ സത്യം പോലെ അൽഫാസ് ലഹരിയാണ്.   എനിക്ക് ആരെയും പേടിയില്ല രാബ്താ റബ്സേ ...

ஆல்பாஸ்
by Darshita Babubhai Shah

1. உங்கள் மீது அன்பும் நம்பிக்கையும் நான் நான்கு வருடங்களாக பார்த்து வருகிறேன்.   பைத்தியம் மற்றும் பைத்தியம் இதயம் நான் புதிரைப் பார்த்தேன்   அழகான கஜல்களில் உள்ள உண்மை போல அல்ஃபாஸ் போதையில் இருக்கிறார்.   நான் ...

અધૂરી રહેલી વાતો
by Ashishkumar Tailor

અધૂરી રહેલી વાતો, અધૂરી રહેલી મારી વાતો, આંખો આખી રાત જાગે, જીભ કંઈક કહેવા ને થાકે, તત્પર હોય શબ્દો જાણે એક કતારમાં, એમને કોઈ વાત કહેવી હોય ને એ ...

ಆಲ್ಫಾಸ್
by Darshita Babubhai Shah

1. ನಿಮಗಾಗಿ ಪ್ರೀತಿ ಮತ್ತು ಭರವಸೆ ನಾಲ್ಕು ವರ್ಷಗಳಿಂದ ನೋಡುತ್ತಿದ್ದೇನೆ.   ಹುಚ್ಚು ಮತ್ತು ಹುಚ್ಚು ಹೃದಯ ಅಂದಿನಿಂದ ನಾನು ಒಗಟು ನೋಡಿದ್ದೇನೆ   ಸುಂದರವಾದ ಗಜಲ್‌ಗಳಲ್ಲಿನ ಸತ್ಯದಂತೆ ಅಲ್ಫಾಜ್ ಅಮಲೇರಿದ.   ನಾನು ಯಾರಿಗೂ ಹೆದರುವುದಿಲ್ಲ ರಾಬ್ತಾ ರಬ್ಸೇ ...

আলফাস
by Darshita Babubhai Shah

1. আপনার জন্য ভালবাসা এবং আশা চার বছর ধরে দেখছি।   পাগল এবং পাগল হৃদয় আমি তখন থেকেই ধাঁধাটি দেখেছি   সুন্দর গজলে সত্যের মতো আলফাজ নেশাগ্রস্ত।   আমি ...

الفاس
by Darshita Babubhai Shah

1۔ آپ کے لئے محبت اور امید میں چار سال سے دیکھ رہا ہوں۔   پاگل اور پاگل دل میں نے تب سے پہیلی دیکھی ہے۔   پیاری غزلوں ...

मी आणि माझे अहसास - 49
by Darshita Babubhai Shah

१. तुझ्यासाठी प्रेम आणि आशा मी चार वर्षांपासून पाहतोय.   वेडे आणि वेडे हृदय तेव्हापासून मी कोडे पाहिले आहे   सुंदर गझलमधील सत्य आवडले अल्फाज नशा करत आहे.   ...

હું અને મારા અહસાસ - 55
by Darshita Babubhai Shah

1. તમારા માટે પ્રેમ અને આશા હું ચાર વર્ષથી જોઈ રહ્યો છું.   પાગલ અને ઉન્મત્ત હૃદય ત્યારથી મેં પઝલ જોઈ છે   પ્રેમભરી ગઝલોમાં સત્ય જેવું અલ્ફાઝ નશો ...

HAPPINESS - 53
by Darshita Babubhai Shah

1. love and hope for you I've been watching since four years.   crazy and crazy heart I've seen the puzzle ever since   Like the truth in lovely ...

કાવ્ય અને ગઝલ સંગ્રહ - 7
by Tru...

**************************************************************************************************** 1.સમજદારી...... સમજદાર વ્યક્તિની સમજદારી ખર્ચાય ગઈ... તે લીધી પરીક્ષાઓ ને આ જિંદગી ખર્ચાઈ ગઈ... કેટકેટલા વસિયતમાં હસ્તાક્ષર કરતો માણસ... તે દસ્તાવેજ દેખડ્

में और मेरे अहसास - 63
by Darshita Babubhai Shah

1. प्यार व् उम्मीद तुमसे है lहुईं नज़र चार जबसे है ll पगला और दिवाना दिल lपहेली बार देखा तबसे है ll सच मानो प्यारी ग़ज़लों मे lअल्फ़ाज़ नशीले ...

મારો કાવ્ય ઝરૂખો ભાગ 65 - નવરાત્રી આરતી અને ગરબા....
by Hiren Manharlal Vora

નવરાત્રી - ગરબો......01આવી આવી દુર્ગા મા ની હાકલ રે લોલ ચાલો રમવા રૂડી નવલી વરાત્રિ રે લોલકરો નવરાત્રિ વધાવવા ની તૈયારી રે લોલસજાવો મંદિર માં દુર્ગાને બિરાજવા રે લોલપ્રગટાવી ...

अभिव्यक्ति.. - 6
by ADRIL

    दीदार,... उफ़्फ़, तेरे दीदार का यूँ असर हुआ है कोन सा नशा है ये कि बीनपीए सभीका ये हाल हुआ है तारो को आसमान मे खलल हो ...

दिल के अलफाज
by Azaz Uniya

वन हार्ट -मिलियन थॉट्सदिल में दफन है कई राज अब जाहिर करने से डरता हूंकोई किसी को बता न दे इस बात से डरता हूंहोते है दिल हर किसी ...

कलयुग और परमब्रह्म
by king offear

अब अशुद्धि के लिए मैं शुद्ध होना चाहता हूँ, अब कुबुद्धी को लिए मैं बुद्ध होना चाहता हूँ. चाहता हूँ इस जगत में शांति चारों ओर हो, इस जगत ...

طلب کیا
by Darshita Babubhai Shah

موت کو دوست کہتے ہیں۔ زندگی نے مجھے بہت رلا دیا۔   لوگ محبت کے لیے چاہیں گے۔ سامنے سر جھکا لیا   لیکن زندگی بھی اے سی ہے۔ ...

मी आणि माझे अहसास - 48
by Darshita Babubhai Shah

मृत्यूला मित्र म्हणतात आयुष्याने मला खूप रडवले   लोकांच्या प्रेमासाठी समोर डोके टेकवले   पण आयुष्यही एसी आहे. चला हसत जगूया   भेटणे ही भाग्याची गोष्ट आहे मी माझ्या ...

भक्तो की गुहार
by king offear

बम बम  भोले डमरू बाजे  - ओंकारा  रे -  ऐ बम बम  भोले डमरू बाजे  - ओंकारा  रे – ऐ बम बम  भोले डमरू बाजे  - ओंकारा  रे – ...

HAPPINESS - 52
by Darshita Babubhai Shah

Death is called friend Life made me cry a lot   People's ll for love bowed head in front   But life is also AC. let's live laughing   ...

હું અને મારા અહસાસ - 54
by Darshita Babubhai Shah

મૃત્યુને મિત્ર કહેવાય જિંદગીએ મને ખૂબ રડાવ્યો   લોકો પ્રેમ માટે ઈચ્છે છે સામે માથું નમાવ્યું   પણ જીવન એસી પણ છે. ચાલો હસતા જીવીએ   મળવું એ ભાગ્યની ...

में और मेरे अहसास - 62
by Darshita Babubhai Shah

मौत की है तलब सखी l जिंदगी ने रुलाया बहुत ll   मोहब्बत के लिए लोगों के ll सामने सर झुकाया बहुत ll   गर जिंदगी एसी भी होती ...

अभिव्यक्ति.. - 5
by ADRIL

  इंतकाम,...    कसम से इंतकाम का हमें ऐसा सुकून मिले  खुदा करे की तुम्हे तुमसा कोई हू-ब-हू मिले    जिसे तुम बेपनाह चाहो तुम्हे वो इस तरह मिले  ...

भक्तो की आस
by Amanat Malik

ॐ नमः शिवाये।  ॐ नमः शिवाये।। ॐ नमः शिवाये।  ॐ नमः शिवाये।। ॐ नमः शिवाये।  ॐ नमः शिवाये।। ॐ नमः शिवाये।  ॐ नमः शिवाये।। अब पूरी कर दे आस ...

ایک لمحہ
by Darshita Babubhai Shah

دل کی بات چھپانے کے لیے سیاہ حروف سیاہ کردار ادا کریں گے پیارے جھوٹا وعدہ، جھوٹی تسلی اور امید دن کے وقت ستارے دکھائے گا۔ محبت کی وادیوں ...

अभिव्यक्ति.. - 4
by ADRIL

में नहीं चाहती,...      सीता जैसी महान बनकर, में जीना नहीं चाहती फसल की तरह धरती से में पैदा होना नहीं चाहती   औरत हू में बेबस नहीं, ...