एक लेखक बनने का सफर कैसा शुरू होता है, शायद ही कोई लेखक बता सकता है। कही कुछ चीजें हम रोजमर्रा की तौर पर महसूस करते है,कोई देखकर अनसुना कर देता है और कोई सोचता है काश यह हम बदल पाते। "वो काश" हम लेखक होते है। जिंदगी की भागदौड़ में मै एक introvert इंसान हु। किरदारों के साथ खेलना हर एक लेखक का पसंदीदा शौक होता है, मेरा भी है। जब भी जिंदगी में विपदा बढ़ जाती है तो भगवान को सब दोष देते है। कभी कभी मेरे किरदार भी मुझे ऐसे ही दोष देते है, नींद चुरा के। जब मै उनके लिए एक ideal भगवान नही हो पाती।

God grant me the Serenity

to accept the things

I cannot change, the Courage

to change things I can

and Wisdom

to know the difference.

ठंडी की गुफाओ से उठने का मन नहीं करता फिर भी क्यों होती है सुबह?
चाय की सुड़किया लगाना चाहता है मन फिर भी क्यो दौड़ पर निकालता है वक्त?
आंखे चैन की नींद लेना चाहती है पर रूटीन्स जल्दी उठा ही देता है।
रूटिन करते करते कब जिन्दगी बोजर हो जाती है पता ही नहीं चलता।
कुछ नया- नया कब पुराना होकर हमे काटने लगता है, समझ नही आता।
जिम्मेदारीया बढ़ते- बढ़ते चक्र्व्युह बन जाती है और लोग कहते है, कम्फर्ट झोन से बाहर निकलो।
बहुत करता है मन, ऐसा कुछ करने का दिल कहा कर पता है।
अगर एक दिन भी रुटीन बिघड जाए तो कितना पचतावा होता है।
फिर जीने लगते है जिन्दगी, क्योकि मर नहीं सकते।
लोग कहते है हमारे जिन्दगी में मकसत ही नहीं बचा।
मैं सोचता हु, अगर हम जिन्दगी जी रहे ताकि मर नहीं सकते, तो क्यों न एक लम्बी साँस लेकर कुछ नया खोजा जाए।
शराब का गिलास आधा खाली नहीं आधा भरा देखा जाए।
चार दिवारियो से बाहर नहीं निकल सकते संतो की तरह क्या पता? दरवाजा खोल देने से ही सूरज की रौशनी पास आ जाए।
रोज वही से तो सूरज ऊपर उठता है, ऐसा भी कहेगा मन फिर तुम बोल देना पर आज तो में पहेला उठा हु न।

Read More

जगात सर्वात खोडकर आणि निर्मल नात असत
बहीण- भावाचं.
ज्या गोष्टी आई बापाला आपल्या मुलाबद्दल माहीत नसतात त्या बहीण म्हणून माहीत असतात आणि तरीही त्या तोंडावर येत नाही असं असत बहीण-भावाचं नात.
कधी बाबा जास्तच बोलून गेले तर बहिणीचा हात भावाच्या पाठीवरून फिरतो असं असत बहीण-भावाचं नात
चुकीसाठी शिक्षा म्हणून आईचा मुली वर पडत असलेला मार भाऊ झेलुन घेतो असं असत बहीण-भावाचं नात
जसे जपले नाते मुक्ताई ज्ञानेश्वरांनी तसंच निर्मल आणि निश्चल असतं नातं बहीण-भावाचं .

आज त्याच भाऊ-बहिण्याचा नात्याला उजाळा देणारा दिवस म्हणजे भाऊबीज.

Read More

चिल्लाने का मन करता है ना, जब कभी हद से बाहर हो जाती है बाते।
लेकिन पता चलता है, सुनने वाले सब बेहरे है।
करता है ना बहुत मन रोने का जब हम सही हो
और सर टिकाने वाला कंधा हमे गलत कहने लगे।
दर्द होता है ना जब कोई कहता है,
अगर में तुम्हारे जगह होता तो सब कुछ ठीक कर देता।
हसता है मन काश में तुम हो पाता,
काश में तुम्हारे जूते पहन कर अपनी जिन्दगी चला पता।
फिर कोई मुझे घमंडी न कहता, लोगो के लिए मधुर वाणी बोल पाता, पत्थर दिल को पिघलाने वाला मोम भी आसपास ही मिल जाता।
मै नहीं हु तुम्हारी जगह, जैसा हु वैसा ठीक हु।
हर आदमी अपने नजरिये से दुनिया देखता है।
कोई किसी की जगह कहा ले पता है।

Read More

राम और रावन में अंतर क्या था?

राम तो शत्रिय था

रावण उच्चकोटी ब्राह्मण।

राम को राजपाठ दत्तक में मिला था।

रावण ने तो लंका खुद बनाई थी।

राम आज्ञाकारी बनकर अमर हुए

रावण भी तो एक राजा था।

रावण को घमंड था, उसने सीता का हरण किया। 

लेकिन राम तो भगवान था,उसने सीता की क्यों अग्नि परीक्षा ली।  

फिर पचात्ताप में क्यों एक पत्नीव्रत की जिन्दगी जी।

रावण को तो खुदके भाई ने मारा लेकिन वो भी तो नहीं बच पाया और विभीषण कहलाया।

राम को तो भनक भी नहीं थी रावन कैसे मरता, फिर भी सबने गुणगाण राम का ही गाया।

गलत तो दोनों ही थे फिर रावन का ही दहन क्यों? 

हार तो यहाँ एक औरत की हुई है, एक मर्द की ही पूजा क्यों? 

बात बहुत कड़वी है पर यह बात सच है।

हम सब के अंदर राम-रावन दोनों होते है।

वक्त बदलते ही किरदार भी बदल जाते है।
बस पच्चाताप की बात है।

अंत मे रावण भी विलीन हो गया, पीछे बच गया रामयण।

बस यह सिखा गया-
गलत कोई नहीं होता सोच गलत होती है।आज रावन का अंत नहीं होता, गलत सोच का अंत होता है। जो रावण में भी थी, और राम में भी।

Read More

कितना कुछ कहना चाहता हु तुम्हे,
तुम्हारे पीछे पागल होना गुस्ताखी तो नही।
पास रहना चाहता हु तुम्हारे,
तुम्हे अपना कहना बत्तमीझी तो नहीं।
प्यार नहीं है, यह कहकर चले जाते हो तुम,
एक तरफ़ा प्यार में ही राते गुज़रना बेईमानी तो नही।
हमने कब कहा हमसे प्यार करो,
पर हम आप पर ना मरे
यह बताने का हक़
हमने कभी आपको दिया ही नही।

-R.J. Artan

Read More

मैं असमंज में था उनके जाने के बाद कि, कौन सा दर्द नासूर बनता जा रहा है। जो हुआ उसका सदमा या जो कभी नहीं होगा उसके लिए दर्द।

Read More

"If you are cold, tea will warm you; if you are too heated, it will cool you; if you are depressed, it will cheer you; if you are excited, it will calm you."

-R.J. Artan

You look at me.
Me look at you, happiness is that simple.

-R.J. Artan

जिंदगी में अगर कुछ ना समझे तो शांत रहकर रास्तो पर चलना ही मुनासिफ है। क्या पता! कब मंज़िल खुद गले लग जाये।

-R.J. Artan

Read More