Hey, I am on Matrubharti!

हम बेचैन नहीं हमेशा चैन से रहते हैं
मगर फिर भी न जाने क्यों बेचैन रहते हैं.

-Jamila Khatun

जिद तो हमारी है तुम्हें ही पाने की
और आपको भी आदत है दूर जाने की.
हद से गुजर जाएंगे हम अपनी मोहब्बत के लिए
कितनी भी कोशिश कर लो मुझे आजमाने की.

-Jamila Khatun

Read More

तुझे ढूंढते ढूंढते मैंने खुद को खो दिया.
जब ठोकर लगी तो देखकर पत्थर भी रो दिया.

-Jamila Khatun

एक बूंद की हिमाकत तो देखो
मुकाबला करने चली समन्दर से.
मैं छोटी हूं तो क्या हुआ
बहुत मजबूत हूं अपने अंदर से.

मिटने का मुझे डर नहीं बस
औरों के काम आती हूँ.
जीवन देने की करती हूं कोशिश
प्यासे परिंदों की प्यास बुझाती हूं.

कितने लाचार होते हो तुम जब
किनारे से कोई प्यासा लौट जाता है
तब महासागर होने का तुम्हारा
अभिमान चूर चूर हो जाता है.

जीवन में सिर्फ बड़ा नहीं
जरूरी है सार्थक व उपयोगी होना .
समुद्र की तरह खारा नहीं
बल्कि बूंद की तरह मीठा होना.

स्वरचित
ज़मीला खातून.

Read More

ए रात कुछ तो सुन
छेड़ दो एक मीठी धुन
सुना दे लोरी माँ के जैसी
आंखों में सुन्दर सपने बुन

-Jamila Khatun

मुझे विश्वास नहीं रहा किसी पर
फिर भी बहुत विश्वास है न जाने किस पर

-Jamila Khatun

कल सुनहरा बनाने की कोशिश में
आज ही खो गया देखते देखते.
जिस कल की तमन्ना में खोए थे हम
वो तो आज हो गया देखते देखते.

आज खोते रहे कल मिला ही नहीं
जिंदगी तुझको हँस के जिया ही नहीं.
रेत के जैसी फिसलती गई हाथ से
कैद मुट्ठी में तुझको किया ही नहीं.

कुछ न पूरा हुआ सब अधूरा रहा
आखिरी जिंदगी का मुकाम आ गया.
अपने पैरों पर चल कर खुद जा न सके
चार कन्धों पर किस्सा तमाम आ गया.

स्वरचित
ज़मीला खातून

Read More

जिन्दगी का वह कोना तो सूना ही रहा जिसमें मोहब्बत रहती है.
बस हालातों के साँचे में ढालते रहे उम्र भर खुदको.

-Jamila Khatun

Read More

आसमाँ पर तिरंगा लहराता रहे
मेरे भारत तू सदा मुस्कुराता रहे.
भाइचारे से गुलशन महकता रहे
अमन के गीत हर कोई गाता रहे.

आजादी की दुल्हन की हिफाज़त रहे
देश का फौजी हमेशा सलामत रहे.
फर्ज पूरे करें, पढ़ के आगे बढ़ें
जग में सिरमौर अपना ये भारत रहे.
जय हिंद

ज़मीला खातून
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

Read More

तुमने मेरा दिल तोड़ कर और भी अच्छा किया
अब तो हम हर टुकड़े में तुम्हारा चेहरा देख लेते हैं.
नींद तो बेवफ़ा हो गई है तुम्हारी ही तरह
खुली आंखों से ही तुम्हारा ख्वाब देख लेते हैं.

ज़मीला खातून

Read More