Hey, I am on Matrubharti!

"अधूरा प्यार"
वो अपने मेहंदी वाले हाथ मुझे दिखा कर रोई,

अब मैं हुँ किसी और की, ये मुझे बता कर रोई,

पहले कहती थी कि नहीं जी सकती तेरे बिन,

आज फिर से वो बात दोहरा कर रोई...

कैसे कर लुँ उसकी महोब्बत पे शक यारो...!!

वो भरी महफिल में मुझे गले लगा कर रोई...
"जय"

Read More

स्त्री का शरीर
मुझे क्यों इतना घूरते हो मैं भी उसी चमड़ी की हूं,
मेरे पास भी वो ही हड्डी खाल हैं
चेहरा है और बाल हैं
बस मैं स्त्री रूप में जानी जाती हूं
और तू पुरूष में
मैं कभी अभागी नहीं
मैं हिम्मत हूं इसलिए स्त्री के रूप में हूं
बस थोड़ा बहुत ही फर्क है हम दोनों में
थोड़ा ऊपर उभार का है फर्क
जिसे तुम घुरा करते हो
जैसे कोई घात लगाए बाज़ देख रहा हो
और जेहन में नोच रहा हो
कमर के नीचे स्त्री का जन्म जनानंग है
यह कोई वासना का प्राय नहीं ये एक अंग है, याद रखना
मैं माता रूप में तेरी जननी रही हूं, तेरे कर्तव्यों की करनी रही हूं
मुझे हर बात का होश है,
भले ही मुझे लिंग दोष है,
मैं सिर्फ वासना तृप्त नहीं
मैं प्रेम के भौगोलिक रूप में
मैं आदर्श सूर्य के धूप में स्त्री हूं
जिसे तुम इतना घूरा करते हो।
जिसे नोचने को आतुर हो जाते हो
भूल जाते हो की इसी रूप का ही अंश हो
कालांतर में विभांतर में
हर युग के समांतर में
भोग तो तृप्त होने के लिए है
पर मन का सुंदर जोग कृप्त होने के लिए है
इसलिए...ग़लत नज़रों से इतना ना घूरो
मुझे मुझ स्त्री को देखो समझो
पर गलत इरादे लिए नहीं
बस इतना ना घूरो इतना ना घूरो मुझे

Read More

क्या करोगे सुन के दास्तान मेरी
.
.
रूठी रातों का कटा हुआ कहकहा हूं मैं

Aakhri baar tere pyaar ko sajda kar lu
Lout ke phir teri mehfil me nhi aaunga
Apni barbaad mohabbat ka janaza lekar
Teri duniya se bahut dur chala jaunga.

"अधूरे"
कल भी ,
आज भी ,
कभी ना होंगे पूरे हम
कल भी थे,
आज भी हैं,
हमेशा रहेंगे,
तेरे बिना अधूरे हम ।।

मेरें काबु में क्युँ नही रहता
बोल...
तू मेरा दिल हैं या उसका..?

Aj

stay home stay safe

कुछ तो कुदरत ने उनका हुस्न भी क़ातिल कर दिया....
एक तो सांवला रँग,उसमे तिल और ऊपर से डिम्पल भी शामिल कर दिया ।।

Read More

लाजवाब ख्वाहिशें है मेरे दिल की देखो ना...
एक तो फिर से मोहब्बत करनी हैं और वो भी तुमसे ही करनी है ।।