Hey, I am on Matrubharti!

#યુદ્ધ स्वयं का स्वयं से ही युध्द है.
स्वयं को खोया था, उसे ढूंढने का युद्ध है.
महकते हुए फ़ूलों की खोई हुई खुशबु ढूंढने का युद्ध है.
बिखरे हुए अपनों को वापस जोड़ने का युद्ध है.
आज स्वयं को अच्छा इन्सान बनाने का युद्ध है.

Read More

हर शाम खुद को ही मिलाया है खुद से,
हर सुबह नया ही पाया खुद को ही खुद से.

-Jignasha Kandoriya

किताबों से चलकर आया था दिल तक,
आज फिर दिल से चलकर किताबों में समा गया..

-Jignasha Kandoriya

#વિધવા . विधवा होना जाना महिला के लिए बहुत बड़ा दुख होता है
. लेकिन विधाva होके भी गर्व महसूस करना एक शहीद हुए फौजी की पत्नी को ही होता है. फौजी जब बोर्डर पर जाता है तो वो दिन रात पहरा देता है. रातों को वो अकेला नहीं जाग रहा होता है, उनकी पत्नी को भी नींद नहीं आती है. न भूख, न नींद... वो भी उतनी ही ड्यूटी करती है, जितना कि फौजी देश के लिए. और जब फौजी शहीद होता है और वो तिरंगे मे लिपट कर आता है तब उनकी पत्नी विधva होती है लेकिन वो fakr मेहसूस करती है कि उसका फौजी देश के लिए उसको अकेला छोड़ गया, vidhva का लिबास दे गया. कभी उन शहीदों की vidhva के लिए भी सोचना दोस्तों, जिन्हों ने हमारे लिए अपने सिंदूर, अपनी चूडिय़ां, अपनी रंगीन साड़ी, अपने बिछया को कुर्बान कर दिया है. नमन है उन शहीदों को और उनकी पत्नियों को. कोटि कोटि प्रणाम उन vidhva बहनो को. 🙏

Read More

कौन कहता है इश्क नहीं आसां,
Bepanah इश्क से धोखा देकर तो देखो.....

-Jignasha Kandoriya

साँस में उसे बसा ओ जो जीवन दे,
दिल में उसे बसा ओ जो धड़कन दे,
संबंध उससे रखो जो निभाना जाने.

-Jignasha Kandoriya

भीड़ में भी तुम्हें देखा,
तन्हाई में भी तुम्हें देखा.
छुपकर भी तुम्हें देखा,
और सिर्फ तुम्हें ही देखा.
'Jigs'

-Jignasha Kandoriya

Read More

ટુટે હુએ સામાન કો જોડે ઉસે ફેવીકોલ ‌કેહતે હૈ, ઔર ટુટે હુએ દીલ કો જોડે ઉસે જીગર જાન દોસ્ત કેહતે હૈ.
'jigs'

કાશ, એ દીલ તું દીમાગ કે પાસ ગીરવી હોતા,
ના તુમ હારતે, ના તુમ તુટતે.
જિજ્ઞાસા