nothing to explain

"कई रिश्तों को परखा तो नतीजा एक ही निकला,
जरूरत ही सब कुछ है, मोहब्बत कुछ नहीं होती !!

???
kavya Chaudhary.....

आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है
???
kavya Chaudhary....

Read More

?आज ढलती हुई शाम ने रंग बदला

मुझे बदलते हुए लोगों की बहुत याद आई...

kavya Chaudhary....

?साथ भीगें बारिश में अब यह मुमकिन नहीं,

?चलो भीगतें हैं यादों में, तुम कहीं, हम कहीं...!!

☺???☺
kavya Chaudhary....

?कुछ यूँ ही चलेगा तेरा मेरा रिश्ता उम्र भर

मिल जाएं तो बातें लम्बी, न मिलें तो यादें लम्बी.....

kavya Chaudhary...

??चलती हुई कहानियों के जवाब बहुत हैं मेरे पास........
??लेकिन खत्म हुए किस्सों के लिए , खामोशी ही बेहतर हैं........

kavya Chaudhary....

Read More

??कुछ फर्जी ख्याल भी दिल को सताते है

??जैसे कि " हम भी उसे याद आतें हैं...

kavya Chaudhary.....

??नज़रअंदाजी का बड़ा शौक था उनको..

??हमने भी तोहफे में उनको उन्हीं का शौक दे दिया..‼

kavya Chaudhary......