मेरी आखिरी ख़्वाहिश है , मैं तेरी बददुआ से मर जाऊ..

जिंन्दगी चाहे 💕❤ एक दिन की हो या चाहे 💕💕 चार दिन की ,

उसे ऐसे जियो जैसे कि जिंन्दगी तुम्हें नही मिली , जिंन्दगी को तुम मिले हो!!!❤

Read More

बहुत दु:ख देते हैं वो रिश्ते...
जो एकदम ख़ामोश हो जाया करते हैं...💔

# ऐ मेरी कलम इतना सा एहसान कर दे #
# कह ना पाई जो जुबान वो ब्यान कर दे #🖤

अहंकार भी आवश्यक है जब बातें आपके....!!

चरित्र , अधिकार और सम्मान की हो........!!

️हमने खुदको, खुद ही तराशा है
वर्ना बीत जाती ज़िंदगी, जौहरी को ढूँढने मेँ...🖤

नासमझ है वो अभी मेरी बात नही समझेगा,

मेरी जगह पर नही है ना,
मेरे हालात नही समझेगा...🖤

“एक झूठा सफ़र कर के फिर वहीं पहुँचे...,

बहुत ज़माना हुआ था...हमें जहाँ से चले हुए।”💔💔

मोहब्बत तुम से कर के,
मोहब्बत ज़ाया कर दी मैंने💔💔