Rj krishna community radio fm 90.4 MHz

छुटकी भर सिन्दूर रास्तें बदल देती है यही l
सपने छोड़ो मन्जिल भी खो जाती है कही ll

- RJ krish... ✍️

राह बताती हैं सफ़र कितना है l
मन्जिल बताती हैं कामयाब कितना है l

- RJ krish... ✍️

उगते सूरज से डूबते सूरज तक कमाई के लिए भागते है
उगते चाँद से डूबते चाँद तक सब खयालो मे ही सोते है

- RJ krish... ✍️

राह चलते मिल ही जाती हैं
कोरोना बिमारी ही एसी है
साहब चिपक ही जाती हैं

- RJ krish... ✍️

जिंदगी का निचोड

बस इक मौत

- RJ krish... ✍️

माझी के भरोसे चल रहे थे हम पतबार ही खो गया
जिंदगी ने एसी करवटें लि कि एहसास ही सो गया

- RJ krish... ✍️

है प्यार बहुत, नफ़रत भी कम नही l
तुम तुम हो पर हम तुम जैसे नही ll

- RJ krish... ✍️

है शिकायत मुझे खुदा से इंसानो से है नही l
कर्ता धर्ता तुम हो तुमसे कुछ भी छिपा नही ll

- RJ krish... ✍️

ख़ामोश हूं कमजोर नहीं हूं l
जिंदा हूं अभी मरी नहीं हूं ll

- RJ krish... ✍️

सोने सी नींद और चाँदी सा सुकून कही और नही
सिर्फ़ माँ बाप की छत्र छाया में ही नसीब होता है

- RJ krish.... ✍️