Hey, I am on Matrubharti!

#kavyutsav
#Navratri
#Garba
#Bhakti
#Dandiya

कर जोड़ ,शीश झुका,
कर शक्ति का संचार तु,
मेरी मां,है ऊर्जा का स्रोत।

कर कर विनाश,कर कर विनाश,
कर असुरावृति का विनाश तु
बस,अपने अहम से जीत जा।

भक्ति में लीन, मस्ती में झूम ,
शुंगार में भी सादगी सा सुकून,
गरबा की ताल पर तू घुम ।

आया है पर्व नवरात्रि का,
आया त्योहार है मेरी मां का,
भरती है जोली हम सब की यहां।

जिसने मांगा सच्चे मन से,
पूरी होती मुरादें सबकी यहां
जिसने दिल से बस इतना कहा,
जय अम्बे, जगदंबे मां ।

महेक परवानी

Read More

#महात्मा
आत्म विश्वास

पैसों से ना तोल हर चीज,
ये तो अहम का भारा है,

तुलसी के पत्ते से कभी हारा है।
कहीं किसके आत्मविश्वास से हारा है।

हर पत्ती सुनाती यही कहानी,
रख के तस्वीर अपने स्टेटस में,
अपनी जुबानी हार की कहानी।

महात्मा ना बना कोई पैसों से,
हर कोई बना अपने कर्मो से।
Mahek Parwani

Read More

#ज्योतिष
ज्योत्षी क्या करेगा कल्याण !
जब इरादे ही हो कमजोर।

आसमान के सितारें क्या देखे !
जब कर्मो के कलम की हो ताकत।

मंजिलें ढूंढे कहां किताबों में!
जब डर गया मुश्किलों में।

ग्रहदोष क्या बतलाए!
जब महेन्नत से घबराएं।

वहम कि दीवार क्या देखे!
जब हाथ में तेरे हौसलों की छैनी।
Mahek Parwani

Read More

#चमकीला

इस पत्थर में बस्ती,
हीरे की चमक को तू पहेचान।

इन अंधियारी रातो में रहते,
चिराग के रास्ते को तू पहेचान।

तेरे दिल भी अरमान बसते,
तुज में छुपी क्षमता को तू पहेचान।

इन राहों की मुश्किलों में छुपी,
सफलता की राहों को तू पहेचान।
Mahek Parwani

Read More

#स्वचालित

ए राही तू चला चल,
चल अपने ही बल,
ये तेरा है पल ।

ये सपने भी तेरे,
ये मुश्किलें भी तेरी,
ये मंजिले भी तेरी।

सुवर्ण पनों पे अपनी दास्तां लिखता चल,
नए गीत बनाता चल,
इस जग को सुनाता चल,

ए राही तू चला चल,
ये जग गायेगा तराने तेरे,
बस, तू सुनता चल।

#Mahek Parwani

Read More

#તમારું
"There is nothing mine
It only exist in my Ego."
Mahek Parwani

#તમારું
મારા માં તો છે ઉછીનો શ્વાસ,
વિશ્વાસ માં જ તો છે શ્વાસ.

તમારા માં સમાયેલું છે મારું,
જે લાગે છે મને સારું,
મારું મારું કરતા મન અટવાયું.

જીવન નો જલસો છે સધિયારું
પછી કેમ કરે છે તારું _મારું?
Mahek Parwani

Read More