Hey, I am reading on Matrubharti!

खांसी सिर्फ बीमारी ही नहीं है,
खांसी एक तहजीब भी होती है।
एक उम्र के बाद अपनी
उपस्थिति का अहसास अपने ही घर में कराने के लिए

Read More

#Listen
✍️
पुरानी यादें.... और
न थमने वाली बारिश....
जिंदगी की रफ्तार रोक ही देती हैं।

#Listen
✍️ होली की हार्दिक शुभकामनाएं 🎊🎉🎈🌹💐
आज लगे हर लड़की #राधा ,कान्हा निकले टोली में।
थोड़ी मस्ती थोड़ी शरारत,होगी ठिठोली होली में।
बड़े बूढ़े सब, बनेंगे #बच्चे , शोर मचेगा होली में।
चौक चौराहे, गली मोहल्ले, खूब सजेंगे होली में।
नीले पीले, लाल गुलाबी, रंग उड़ेंगे होली में।
रूठे टूटे, छूटे #रिश्ते , संग जुड़ेंगे होली में।
कहीं पे सजनी कहती, साजन!घर आजाना होली में।
प्यार के वादे अपने इरादे न बिसराना होली में।
भूली बिसरी कई कहानी, याद करेंगे होली में।
कोरे मन पर #खुशियों वाली, रंग रंगेंगे होली में।
घर बुलाकर करें #दोस्ती , हाथ बढ़ाएं होली में।
ऐसा रंग लगाएं #अब की, छूट न पाए होली में।
रंगना तो एक #बहाना है, असली होली तो अबीर गुलाल संग सब पर प्यार बरसाना है।
होली की बहुत-बहुत #हार्दिक शुभकामनाएं।

Read More

#Partnerअगर आप भावनाओं को पहचानने में सफल नहीं हैं, तो यह आपकी कमी है, दूसरे की नहीं।.... #प्यार वो मूक भाषा है, जो शब्दों से इतर, दिल की गहराइयों से महसूस किया जाता है, शब्दों की जरूरत ही नहीं। अगर प्यार में हद से आगे कुछ कर गुजरने का हौसला रखते हैं, इससे अच्छा और क्या होगा। क्योंकि हौसलों की उड़ान से बेहतर सकारात्मक ऊर्जा कुछ हो ही नहीं सकती।प्यार आपकी ताकत भी, और कमजोरी भी। क्योंकि जिसे हम प्यार करते हैं उसके खोनेका डर हमेशा बना रहता है, ताकत इसलिए क्योंकि प्रेम के लिए हम कुछभी कर सकते हैं।

Read More

✍️
फिर से मुझे मिट्टी में खेलने दे
ऐ जिंदगी!
यह साफ-सुथरी जिंदगी
इस मिट्टी से ज्यादा गंदी है।

दुनिया में हर नई बीमारी फैलते ही हम भारतीयों को अचानक से आयुर्वेद, जड़ी बूटी, योग,आहार,संस्कृति,जीवनशैली याद आ जाती हैं 🤔 🤣🤣

Read More

✍️🇭🇺🙏🇭🇺🙏🇭🇺🙏
चरखा चलाने वाले के देश में
राजनेता इतने बौरा गए,निज स्वार्थ और, कुर्सी की खातिर
देश को ही चारा समझ
चर कर खा गए
निज स्वार्थ और.........
मधुमास ऋतु,उमंग,उल्लास बहे रसधार की,
इतनी नफरत पल रही दिलों में,
कैसे कहें हम
कि बसंत तुम आ गए!!
निज स्वार्थ और.........
आज बसंतपंचमी,शहीद दिवस गांधी को याद करूं या
पूजन करूं मां शारदे का
विचारों की लड़ाई में
हम अपनी संस्कृति ही भुला गए
निज स्वार्थ और .........
खिले फूल सरसों के कोयल कूक रही आमों पर
सियासत की आंधी कुछ
इस तरह चली कि
बौर आने से पहले ही फूल मुरझा गए
निज स्वार्थ और .........

Read More

✍️वाकई आप बच्चों की जिम्मेदार और मजबूत बनाना चाहते हैं तो उन्हें जिम्मेदारी, नए नए अनुभव करने का मौका दीजिए। फिर भले ही आप के कुछ पैसों का नुकसान भी हो जाए तो कोई बात नहीं, सीखेंगे कैसे? जन्म से तो कोई भी होशियार नहीं होता, इसलिए थोड़े नुकसान से अगर बच्चे मजबूत बने, तो ऐसा होना अच्छा है।

Read More

हो सकता है,
दूसरी ओर की घास
अधिक हरी लगे
लेकिन अगर आप अपनी
घास को पानी देने का
समय निकालें तो यह
भी उतनी ही हरी लगेगी
___अज्ञात

Read More

खुद पर कर यकीं,ख्वाब सारे सच होंगे।समय का क्या!
आज उन्नीस,कल बीस, तो कभी इक्कीस भी होंगे।
नव वर्ष 2020 मंगलमय हो💐🙏
वाशिष्ठ परिवार

Read More