आप सभी से निवेदन हे पर्सनल msg na भेजे कला और कलाकार का हौसला बढ़ाते हे,धन्यवाद्

યુદ્ધ એક નવું છે......
વર્દીઓ તો જુઓ કમાલ કરી રહી છે(2)
માનસ મન બહું જ ચંચળ રસ્તા પર આવી જાય છે.
પણ ખાખી એ તો જો સંયમ રાખી ધમાલ કરી છે.
આ વર્દીઓ તો જુઓ........
અજ્ઞાત શત્રુએ ડેરો નાખ્યો છે,માનવ શરીર પર(2)
આ સફેદ કોટે તો જુઓ બેમિસાલ કરી છે.
આ વર્દીઓ તો જુઓ...
કેવો આવ્યો છે,આ અવિસ્મરણીય ક્ષણ
એક યોદ્ધા બીજાં યોદ્ધા ઓ નું ફૂલ વરસાવી સલામ કરી રહી છે.
આ વર્દીઓ તો જુઓને કમાલ કરી રહી છે.(2)
મેઘા....

Read More

ગુજરાત દિવસ ની શુભેચ્છાઓ

ગૌરવ છે,મારું ગુજરાત ને
હું ગુજરાતણ છેલ છબીલી નાર
કર્મ ભૂમિ મારા કાના ની ને બાપુ ની થઈ આંન..
સોરઠ માં સાવજ ગરજે ને
ભજે જલા તારું નામ...
ગૌરવ છે મારું..........
હું ગુજરાતણ.........
નરસૈંયાના ની હૂંડી સ્વીકારી ને..
કલાપી ના સુરો ની તાં ન.......
લોખંડી સરદારે કર્યું વિશ્વ માં ગુણગાન.....
ગૌરવ છે મારું......
હું ગુજરાતણ છેલ છબી લિ નાર..
જય જય ગરવી ગુજરાત
મેઘા....

Read More

Working woman होने का गर्व भी!!!!
और मन ने कुंठा भी थी।
परिवार के लिये ही जाती थी,
पर परिवार को ही समय ना दे पाती थी,
सूई की रफ़्तार यूँ ही बढ़ जाती थी,
और भाग-भाग ऑफ़िस आ जाती थी,
Lunch break में डिब्बों की सभा लग जाती थी,
तब बेटे की बहुत याद आती थी,
और सुई का कांटा सात पर आ जाता था,
और मैं भागी भागी घर आ जाती थी,
घर आता देख पिया को मै ख़ुश हो जाया करती थी,..........
समय ने ली अँगड़ाई है,
और बाज़ी मेरे हाथ आई है,
आज तो चाय भी गुनगुनाई है,
गरम रोटियों पे भी smily 😊आई है,
पुलाव भी सभी सब्जियॉ संग खेल आया है,
कौने में रखे लूडो, चेस,केरम, ताश की पत्तियो ने भी हूँकार लगाई है,
देख पुरानी तस्वीरें सखियां, दीदियां भी मुस्काई है,
तेरा शुक्रिया कर, तुझे जाने को कह रही हूँ.
मैने अपने आप को वक़्त दे कर,
मेरे आंगन की बगिया सजाई है।
मेघा....

Read More

#IN DIYA

#stay at home challenge,🙏

#Align #संरेखित..

विचारों ने आलिंगन दिया शब्दों को
शब्द मेहक उठा कलम साथ,
कलम को स्पर्श गई स्याहि,
स्याहि ने रचि कविता।
देखो ना......
विचारों ने आलिंगन दिया शब्दों को!!!

Read More

मेरी कलम से.....
ए शब्द तेरा शुक्रिया.....(2)
मेरी पीड़ा को यूँ दर्शाया तूने,
मेरे अहेसास को यूँ सजाया तूने।
ए शब्द तेरा शुक्रिया....(2)
पन्नो पर मैं, यूँ बिखरी बावरी मैं...
आलिंगन से बून उसे साकार किया....
निभाई है ये दोस्ती तूने, ऋणी हूँ तुम्हारी मैं..
मेरे विश्वाश की , बुनियाद को यूँ सरेआम किया,
ए शब्द तेरा शुक्रिया.....(2)
बिन तुम्हारे कलम भी मेरी अधूरी....
सजाया आभूषणों से तुम ने उसे,
संग घुलमिलकर पूर्णता का,,,,
आईना दिखा के परोपकार किया।
ए शब्द तेरा शुक्रिया.....(2)
हे ये ही दस्तुर दुनिया का...
खिला है वो मुर्झायेगा ।
सृजन का विनाश निश्चित,
न रहूँगी में और ना मेरा अस्तित्व,,,
पर तुम हमेशा रहोगें मेरे साथ,मेरे बाद(2)
ए शब्द तेरा शुक्रिया..... ए शब्द तेरा शुक्रिया
मेघा....

Read More