માતૃભારતીના વાચકો માટે મિતલ ઠક્કરનું નામ હવે અજાણ્યું નથી. તેમની રસોઇ ટીપ્સ અને બ્યુટી ટીપ્સ બુક્સને ખૂબ પસંદ કરવામાં આવી હતી. અત્યારે નોવેલ રાજકારણની રાણી જમાવટ કરી રહે છે. અને વિવિધ વાનગીઓની અલગ-અલગ બુકને પણ સારો પ્રતિસાદ મળ્યો છે. વાનગીઓની રીત સાથે તેના વિશે આરોગ્યલક્ષી માહિતી પણ ઉપયોગી બની રહે છે. તેમની રસોઇમાં જાણવા જેવું દરેક મહિલા માટે ઉપયોગી છે. તેમની દિયર-ભાભીના સંબંધ પર આધારિત નવલકથા મોનિકા પણ પ્રગટ થયેલી છે. તેની વિશેષતા એ છે કે તેમાં રહસ્ય અને રોમાંચ છે.

आपकी नयी सुबह इतनी सुहानी हो जाये,
दुखों की सारी बातें आपकी पुरानी हो जायें,
दे जाये इतनी खुशियां यह नया दिन,
कि ख़ुशी भी आपकी दीवानी हो जाये।

Read More

सुबह का मौसम जैसे जन्नत का एहसास,
आँखों में नींद और चाय की तलाश,
जागने की मज़बूरी, थोड़ा और सोने की आस,
पर आपका दिन शुभ हो हमारी सुप्रभात के साथ।

Read More

पानी की बूंदे फूलों को भिगा रही हैं,
ठंडी लहरे एक ताज़गी जगा रही हैं,
हो जायें आप भी इनमें शामिल,
एक प्यारी सी सुबह आपको जगा रही है।

Read More

सुप्रभात!
ऐ सुरज मेरे अपनो को यह पैगाम देना,
खुशियों का दिन हँसी की शाम देना,
जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को,
तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना।

Read More

हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो,
चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो,
एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे,
सिर्फ एक शुरुआत तो दो।

Read More

वक़्त और समझ किस्मत वालों को ही मिलता है, क्योंकि वक़्त हो तो समझ नहीं आती और समझ आती है तो वक़्त नहीं होता।

हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो, चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो, एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे, सिर्फ एक शुरुआत तो दो।

Read More

सपनो के जहाँ से अब लौट आऔ,
हुई हे सुबह अब जाग जाओ,
चांद तारों को अब कह कर अलविदा,
इस नए दिन की खुँशियों मे खो जाओ।

Read More

एक सुबह ऐसी भी हो, जहाँ आँखे जिंदा रहने के लिये नहीं, पर जिंदगी जीने के लिए खुलें।

आपका मुस्कुराना हर रोज हो,
कभी चेहरा कमल तो कभी रोज हो,
पल ख़ुशी हज़ार पल मौज़ हो,
बस ऐसा ही दिन आपका हर रोज़ हो!
सुप्रभात!

Read More