*SHABDAKAVYA_MARATHI_BLOG* Thanking for Connecting with us, please click this following link for know how to help you and get most information about *SHABDAKAVYA_MARATHI_BLOG* https://vcard.allservicepoint.com/SHABDAKAVYA_MARATHI_BLOG?v=3108                     

मातृभारती च्या सर्व वाचकांना ..

-Kavi Sagar chavan

मातृभारती वाचकांचे मनःपूर्वक आभार

-Kavi Sagar chavan

मंजिल

-Kavi Sagar chavan

चाहत"

-Kavi Sagar chavan

अस्थित्व

-Kavi Sagar chavan

हिसाब

-Kavi Sagar chavan

हररोज यहीं सोचता हूँ की तुझे याद न करूं ..
पर तुझे भूलने की हर कोशिश नाक़ाम हो जाती "!

-Kavi Sagar chavan

गुंतता ह्रदय हे  आस नयनी दिसली 

कळले न तूला न कळले मला काही ,

खूण ईशाऱ्याची , धुंदी मिलनाची 

मिठीत विसावली प्रीत पाखरांची "

-Kavi Sagar chavan

Read More

मी आवडीनं गाजरा आणतो तुझ्या केसांत लावायला ..तोच मग लावतो पुन्हां तुझ्या मोहात पडायला ."!

-Kavi Sagar chavan

जज़्बा

जिंदगी जरूर बदल जाएंगी पगले
पहले थोड़ी मेहनत तो कर
ख्वाबो की दुनियां सजाया कर ..हर रोज,
किंतु परंतु के कोई मायने नहीं जिंदगी में
तू थोड़ा हौसला बोलन्द तो कर ..|

रास्ते अगर अंधेरो से भरे पड़े है "
तो क्या फ़र्क़ पड़ता हैं,
तू थोड़ा अपने जुनून से उजाला तो कर ..
ये मेरे बस की बात नही ही ..?
हमेशा यह कहकर ..
अपने किस्मत को रुलाया ना कर..|

माना मैंने तेरी आज मजबूरिया हैं ..
लाखो सवाल और कुछ कहकनिया है ..
कदम कदम पर चुनोतियाँ है" भी
बढ़ा अपने कदम ..सफलता की और
तू और थोड़ी कोशिश तो कर |

हारना नहीँ है तुझे तू ठान ले आज
ख़ुद पे थोड़ा भरोसा कर
मंजिल मिल ही जाएंगी एक रोज
अंधी तुफानो से खेलना वजूद बना ले अब ..
क्या पता तेरी किसमत सवर जायँगी
ओर नाम के चर्चे होंगे अब ..|

तू और थोड़ी कोशिश तो कर !"

©®
Kavi sagar chavan

Read More