Meri chahat tumshe hi

यूंही तो गुलाब हमारी जिंदगी संवार देता है
अगर तक़दीर ख़राब हो हमारी
तो जिंदगी भी बिगाड़ देता है ।।

-Narendra Parmar

Read More

हम तुम दूर होते हुए भी एक है

हुस्न से नहीं

मगर रुह से तो एक हैं ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

हर किसी के नसीब में

सुख समृद्धि नहीं होता है

किसी को चांदी की थाली में परोठा

तो किसी को कागज़ के टुकड़ों में भी

रोटी नसीब नहीं होता है ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

नहीं है कोई इंसान के अलावा

दुनिया में किसी की बस्ती ।

हर किसी को हमने हीं बनाया है

हर धर्म के भगवान से लेकर नारी को शक्ति ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

नहीं है कोई मेरा जो मुझे अच्छी तरह समझने वाला
बाकी तूं ही तो है
जो मुझसे लेकर मेरी रूह तक जानने वाला ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

ईश्वर, अल्लाह, ईसू भगवान , गुरु नानक,दुर्गा माता

सब है हिंदुस्तान में

फ़िर भी कोरोना का प्रकोप जारी है

इसका मतलब यही है कि भगवान का भैजा हुआं नहीं है

ऐ तो दुनिया में रहने वाले हर इंसान का पाप है कोरोना ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

जैसा हम सोचते हैं वैसा कभी होता नहीं हैं

चाहें बेइंतहा मोहब्बत करलें हम उनसे

फ़िर भी वो कभी हमारा होता नहीं हैं ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

ऐसे तो हम जीते हैं जिंदगी शान से

फ़िर भी हम जीते जी मर गए हैं

तुम्हारी की हुई बेवफ़ाई से

हम जीते जी दफ़्न भी हो गए हैं ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

ऐसे तो पुरुष रोते नहीं है इश्क में

बाकी रोते तो बहुत है

मगर अपना दर्द किसी को कहेंते नहीं है ।।

( ऐ मेरी सोच है किसी को भी अपने उपर

लेने की जरूरत नहीं है )

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More

मेरे जैसा आशिक तुझे नहीं मिलेगा
तुम ढूंढ लो पुरे हिंदुस्तान में ?
मेरे जैसा साथी तुझे नहीं मिलेगा ।।

नरेन्द्र परमार " तन्हा "

Read More