वर्तमान में प्रोफेसर, निश्चेतना विभाग, डॉ.सम्पूर्णानन्द आयुर्विज्ञान महाविद्यालय जोधपुर के पद पर कार्यरत | प्रकाशित: राजस्थान पत्रिका, दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण व अन्य राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में कहानियाँ और आलेख पुस्तक: कहानी संग्रह ‘पसरती ठण्ड’ fatehbhati68@gmail.com facebook.com/fateh.bhati.71

आगे बढ़ने से पहले कितनी ही बार मुड़कर उसने कुछ सोचा तो होगा
बिखरी थी इश्क की राख उस मोड़ को भीगी पलकों से देखा तो होगा

©फ़तह

Read More