This is my Querencia. I am Elysian,Selcouth, Logolepsic....Walking on the path of Metanoia... Not Athazagoraphobic.. love to see mångata

क्या इस हालत में पहुंचने का जिम्मेदार सिर्फ सिस्टम है ? क्या हमारी कोई गलती नही?

-Neerja Pandey

ऐसे रंग दो मोहे सजना मैं ....मैं ना रह जाऊं,रंग तेरे हीं रंग कर मैं तो तुझ में ही खो जाऊं।

-Neerja Pandey

दहन करो होलिका संग अपना दुःख संताप, आज नहीं तो कल
पूरे होंगे ख्वाब।

-Neerja Pandey

जीवन की मधुशाला में,
हर शख्स नशे में डूबा है।
है कोई मदहोश सत्ता के नशे में,
तो किसी को है गुरूर धन दौलत का।
कोई रूप यौवन के गर्व से फूल है
तो कोई सफलता में झूमा है।
जीवन की मधुशाला में
हर शख्स नशे में डूबा है।
जाते जाते इक दिन ये सता
भी चली जाएगी।
धन और दौलत की माया,
सैदैव ना रह पाएगी।
रूप के बहार का भी तो,
एक दिन पतझड़ आएगा।
सदा ना रहा ये चढ़ता सूरज,
शाम को ढल जायेगा।
जैसे हर नशा ही उतरा है,
ये भी उतर जायेगा।
जीवन की मधुशाला में
हर शख्स नशे में डूबा है।

Read More

जोर मेरा दिल पे जानिब अब नही चलता,खाता है ये ठोकर लाख फिर भी संभालता।

-Neerja Pandey

ना शिकवा ना गिला किसी से,
कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ती,
सहती जीवन के तूफानों को,
उफ...तक जबां से कभी ना करती,
जोड़े हर रिश्तों की माला,
नरम गरम सब सहती रहती,
ऐसी प्यारी होती नारी,
जिसको माने दुनिया सारी।

-Neerja Pandey
#happywomensday

Read More

जब मौका आया नई शुरुआत का...
ये दिल क्यों पीछे लौटना चाहता है।
निर्मेश

-Neerja Pandey

"काश.... मैं तेरी....", को मातृभारती पर पढ़ें :
https://www.matrubharti.com
भारतीय भाषाओमें अनगिनत रचनाएं पढ़ें, लिखें और सुनें, बिलकुल निःशुल्क!

Read More

नई शुरुआत करने से ये दिल क्यों घबराता है, बिना जोखिम के लेकिन कुछ भी तो नही हाथ आता है।
निर्मेश✍️

-Neerja Pandey