Hey, I am on Matrubharti!

जिंदगी के इम्तहान में ,
ना तो कोई पास है ना तो कोई फेल,
ये तो ऊपरवाले का खेल है,
हम तो बस उस खेल के प्यादे है,
खिलाड़ी तो वो है इस खेल का ,
इसीलिए जिम्मेदार भी,
वहीं है हमारे पास ओर फैल का।

-N¡k¡t@

Read More

हारना असंभव है...
जब..
होंसला बुलंद हो,खुद के बाजुओ में दम हो,
खुद से ज्यादा किसी ओर पे भरोशा कम हो,
नसीब से ज्यादा मेहनत पे विश्वास अटल हो,
सामने ही मंजिल हो और,
उसके अलावा सबकुछ दिखना बंध हो।

-N¡k¡t@

Read More

अपनो से दूरी ,
अपनेपन से ही तो होती है पूरी......

-N¡k¡t@

वो आदत है मेरी,
इबादत की तरह,
उसे याद करता हु सुबह शाम खुदा की तरह,
वो ना मीले ना सही ,
उसका नूर ही मिल जाए कही।

-N¡k¡t@

Read More