no need to self explination....just searching way.. of.... mox

happy Gandhi jayanti
ગાંધી એ કોઇ વ્યકિત નહિ ,પરંતુ આખેઆખી વિચારધારા છે.
એક દિવસ માટે ,ખાદી વસ્ત્ર ધારણ ગાંધી નથી બની જવાતું
તેના માટે મન થી સાદગી અપનાવી પડે....
કે પછી કે એક દિવસ what's app status upload કરીને
ગાંધી વાદી નથી બનાતુ........
વૈષ્ણવ જન તો તેને કહીએ ....,
માત્ર ગાઇ લેવાથી ગાંધી નહિ સમજાય!
એ માટે પહેલા પોતાના ઓળખવા ખૂબ જ જરૂરી છે, પહેલા
પોતાની પીડા ઓળખી શકાય ,પછી જ બીજા ની પીડ જણી શકીએ
આજ ના દિવસે સૌ પ્રથમ મન સ્વચ્છ કરીને પછી
શેરી-સાવરણા ,અભિયાન કરીએ તો....i think Gandhi jayanti celebrate કરી ગણાય......
रघुपति राघव राजा सीता राम।
पतित पावन सीताराम।

Read More

वही झुला....वही चाय.. हर बार याद आता है.. ।जब भी मै,अकेली होती हुं,तो मेरा घर याद आता है। जब भी अपने आप से मिलना होता तेरा होना,मुझे अपने आप से मिलवता था वो दीवार वो खिड़की... मुझे नया सा कर जाता था.. मेरा घर क्या छूटा मुझसे मै ही छुट गयी अपने आप से मिलने के लिए मुझे मेरा घर बहोत याद आता है

Read More

This picture say's a lot... चाहे तुम कुछ भी हाँसिल कर लो कितनी भी सफलता चुम् लो bt मन्जिल् तुम्हारी मौत ही खाली हाथ आये थे खाली हाथ ही जाना पड़ेगा

Read More

प्रेम यानी.... प्रेमी के सहारे आप किसी भी राह पर चल पड़ो..

जो प्राप्त है,
वही पर्याप्त है।

लोग हर बार मुझसे पूछते है.....

तुमने क्या देखा उसमे?

मैंने कहा......


जब से उसे देखा है....


उसके बाद कुछ न देखा मैंने|

Read More

समंदर उल्टा सीधा बोलता है ,
समन्दर उल्टा सीधा बोलता है।
सलीके से तो प्यासा बोलता है।

ज़िंदगी तो केहने के लिएे गुलज़ार है
हाथ मै चाय
और
हम बेरोजगार है।

तुम ने हर रंग के बंदे देखे होगे

हमने Ek ही बंदे मै हर रंग देखा है.... (OSHO)