अगर सब कुछ मिल जाये ज़िंदगी मे, तो तमन्ना किसकी करोगे, कुछ अधुरी ख्वाँहीशे ही तो, ज़िंदगी जिने का मजा देती है ।

बस..!! थोडी हवायें बदलने की देर है,
बुखार मौसम का हो या ईश्क़ का, उतर ही जाता है।

-अनु...🍁🍁

फिरसे धडकन बढा गई, फिरसे दिवाना बना गई,
जिसे ढूंडा दरबदर वो खुद मेरे दर पे आ गई।

-अनु...🍁🍁

आज एक और बहस हम उनसे हार गये,
आज एक बार फिर हमने उनको जित लिया।


अनु...🍁🍁

सच्चा प्यार हो, कहाँ आसान है?
जो आसानीसे हो, क्या वो सच्चा प्यार है?

-अनु...🍁🍁

मै क्या सवाल करू उससे,
हरकतो ने उसके जवाब दे दिया।

-अनु...🍁🍁

अहसास वो कुछ अलग थे,
बिन कहे जो हमने समझे थे।

-अनु...🍁🍁

कितने घाव दिल पे हुये,
लेकीन तेरा इंतजार आज भी है।

अनु...🍁🍁

कितना सुकून था उस दर्द मे,
जब प्यार किया था मैने।


अनु...🍁🍁

Like, follow and share if u like the shayari..

नादानियाँ झलकती थी उसकी आदतों से,
मैं खुद हैरान हूँ की, मुझे इश्क़ हुआ कैसे।


अनु...🍁🍁

"खडी हूं उस मोड पे, जहाँ तुझसे मुलाकात नही होती
सच कहते है लोग, सच्चे प्यार की मंजिल नही होती..!"

-अनु...🍁🍁