मैं भोपाल की रहने वाली हूँ। मैंने अपनी सम्पूर्ण शिक्षा भोपाल में ही प्राप्त की। भोपाल के नूतन कालेज से बी.ए एवं अँग्रेज़ी साहित्य में एम.ए किया। एक साधारण सी गृहणी, 7 वर्ष लंदन में रहने के बाद 2014 में फिर अपने वतन भारत(पुणे) वापस आई हूँ। हिन्दी के सुप्रसिद्ध लेखक श्री मुंशी प्रेमचंद को बहुत पसंद करती हूँ। उनके लेखन की सरल भाषा को ध्यान में रखकर, उनसे प्रेरित होकर ही मैं अपने आलेख की भाषा को भी सरल बनाकर लिखने का प्रयास करती हूँ, ताकि मेरे आलेख को हर आयु, वर्ग का व्यक्ति आसानी से समझ सके।

My article on depression in my own voice hope you will like it...🙂 please like and subscribe....🙏🏼 Regards https://youtu.be/HFF5HmypBzw

Pallavi Saxena लिखित कहानी "और वो चला गया" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19887799/aur-wo-chala-gaya

#कटु बनना भी आसान नही होता साहब बहुत कुछ सहना पड़ता है किसी और का जीवन मीठा बनाने के लिए जैसे नीम का पेड़ बीमारी से निजात दिलाने के लिए और पिता का साय जीवन की ताप से बचाने के लिए।

Read More

#बाग़ी कौन बनना चाहता है सहाब वक़्त और हालातों के साथ साथ हुई ना इंसाफी मजबूर कर देते हैं इंसान को बागी बनने के लिए।

Read More

#उग्र होना मानवीय स्वभाव है, पर #उग्र स्वभाव अक्सर आपके गुणों के साथ साथ आपके बुद्धि और विवेक को भी खा जाता है। इसलिए जहां तक संभव हो शांत रहना चाहिए क्योंकि कींचड़ में पत्थर फेंकने से छींटे आप पर ही आते है।

Read More

#लायक़ सब वक़्त का खेल है साहब ज़िन्दगी की ठोकरें अक्सर नालायकों को भी लायक़ बना दिया करती है और लायक़ कब बुरी संगत का शिकार होकर नालायक बन जाता है यह पता नही चलता।

Read More

#Hunt इससे अच्छा आज और कुछ कहा ही नही जा सकता "हर तरफ हर जगह बेशुमार आदमी फिर भी तन्हाइयों का शिकार आदमी"

#दिल बड़ा चंचल होता है जनाब इसलिए हमेशा #दिल से सोचने वालों को कभी कभी दिमाग का स्तेमाल भी कर लेना चाहिए आखिर दिमाग का स्थान #दिल से उपर होता है।

Read More

#Grow कितने भी दर्द लेकर, रिश्तों का भार सहकर, खुशियों की पुकार सुनकर, हम सब को साथ लेकर, बढ़ ही जाती है जिंदगी उम्मीद की मात्र एक किरण से जहां तांह उग ही आती है जिंदगी क्योंकि जीना इसी का नाम है।

Read More

#Forget आसान नही होता यूं कुछ भी भूल जाना ना पहला प्यार भुलाया जा सकता है ना कोई दर्द पर सभी को साथ लेकर आगे बढ़ना ही ज़िन्दगी है।

Read More