" ચિત્ર એ મૂંગી કવિતા છે અને કવિતા એ બોલતું ચિત્ર છે. "- જી. ઈ. લેસીંગ્ટન.

कोई अपना करीब हो के भी दूर सा है...
वाह..! ज़िंदगी तेरा खेल भी अजीब सा है,
Raahi
जी करता है जिंदगी के साथ थोड़ा सा रो ले,
ए जिंदगी तू तक़दीर में भी नसीब सा है...

- परमार रोहिणी " राही "

Read More

बड़े ही खूबसूरत नजारें है इस दुनियाँ के,
एक ओर हक़ीक़त तो एक ओर आईना लिए बैठी है...
Raahi
नजरें जज़्बात बयाँ करे तो लफ्ज़ो की क्या ज़रूरत..?
पर हर शख्शियत यहा अल्फाज़ो पे ग़ौर किए बैठी है...

- परमार रोहिणी " राही "

Read More

Rohini Raahi Rajput લિખિત વાર્તા "मुस्कुराहट की मौत..... - 5" માતૃભારતી પર ફ્રી માં વાંચો
https://www.matrubharti.com/book/19899732/muskurahat-ki-maut-5


कहानी का अंत मुस्कुराहट की मौत...

Read More