Hey, I am on Matrubharti!

बहुत कुछ सिखा जाती है जिंदगी,
हंसा के रुला जाती है जिंदगी,
जी सको जितना उतना जी लो दोस्तों,
क्योंकि बहुर कुछ बाकी रहता है और ख़त्म हो जाती है जिंदगी !!

-Pravin Khavda

Read More

अपने होठो से कुछ न कह कर,
आँखों से सब कह जाती हो,
तुम जब भी मुझसे मिलने आती होज
मुझसे मुझ ही को चुरा जाती हो।

-Pravin Khavda

Read More

दिल क्या मिलाओगे कि हमें हो गया यक़ीं,
तुम से तो ख़ाक में भी मिलाया न जाएगा।

-Pravin Khavda

मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना,
साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना,
मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, 'फराज़',
बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।

-Pravin Khavda

Read More

तेरा नाम ही क्यों ये दिल रटता है,
क्यों ये दिल सिर्फ तुझ पे ही मरता है,
न जाने कितना नशा है तेरे इश्क में,
अब तो तेरी याद में ही ये दिन कटता है।

-Pravin Khavda

Read More

आप हम पर मत किया करो इतना शक,
आपका मैं हूँ सिर्फ आपका ही है मुझ पर हक।

-Pravin Khavda

अपने होठो से कुछ न कह कर,
आँखों से सब कह जाती हो,
तुम जब भी मुझसे मिलने आती होज
मुझसे मुझ ही को चुरा जाती हो।

-Pravin Khavda

Read More

आपकी पलकों पर रह जाये कोई,
आपकी सांसो पर नाम लिख जाये कोई,
चलो वादा रहा भूल जाना हमें,
अगर हमसे अच्छा दोस्त मिल जाये कोई।

-Pravin Khavda

Read More

Happy birthday

-Pravin Khavda