Hey, I am on Matrubharti!

*लोगो ने समझाया कि "वक्त" भी बदलता है,*
*और वक्त ने समझाया कि "लोग" भी बदलते है..

-Prerna Verma

*'बदलना' तय है हर
चीज़ का इस संसार में*
*बस कर्म अच्छे करें..*
*किसी का जीवन बदलेगा*
*किसी का 'दिल' बदलेगा*
*तो किसी के 'दिन' बदलेंगे*

-Prerna Verma

Read More

*गुज़र जाते हैं खूबसूरत लम्हें , यूं ही मुसाफिरों की तरह ...*
*यादें वहीं खडी रह जाती हैं, रूके रास्तों की तरह ...*
*एक "उम्र" के बाद "उस उम्र" की बातें "उम्र भर" याद आती हैं, पर.......*
*"वह उम्र" फिर "उम्र भर" नहीं आती...*

-Prerna Verma

Read More

मुसाफिर कल भी था, मुसाफिर आज भी हूँ;
कल अपनों की तलाश में था, आज अपनी तलाश में हूँ।
न जाने कौन सी शोहरत पर आदमी को नाज है, जबकि आखरी सफर के लिए भी आदमी औरों का मोहताज है

-Prerna Verma

Read More

सब फ़ैसले हमारे नहीं होते,
बल्कि कुछ वक्त के भी होते हैं ।

-Prerna Verma

*हथेली पर रखकर नसीब हर शख्स मुकद्दर ढूंढता है!*

*सीखो उस समंदर से जो टकराने के लिए हमेशा पत्थर ढूंढता है!*

जो कहते थे तुझसे बिछड़ने के बाद,
वीरान हो जाएगी ज़िन्दगी,
आज पूरे शहर में उन्हीं का घर सबसे रोशन मिला।💔

बड़ा शौक़ था उन्हे मेरा आशियाना देखने का,
जब देखी मेरी गरीबी तो रास्ता बदल लिया!!💔💔

-Prerna Verma

ख्वाहिशें तो मेरी छोटी छोटी थी, पूरी न हुई तो बड़ी लगने लगीं

-Prerna Verma

ये कैसी चाहत है कि मिटती ही नहीं.,
जी भर के तुझे देख लिया,,😍 फिर भी नजर हटती नहीं..❤️❤️