मैं ऋषभ लेखन में छोटा मोटा प्रयास करता हूं, वास्तव में मेरी कहानियां या मेरे लेख मेरे व्यक्तिगत जीवन के या तो वास्तविक अनुभव है या स्वरचित कल्पनाएं है जिन्हें या तो मैं जीना चाहता था या कल्पना में जिया उस हालात को मैंने महसूस किया कहानी में किसी न किसी किरदार के रूप में कहानी को महसूस कर के अपनी लेखनी से आप तक पहुँचा रहा हूं कृपया पढ़े और मेरी त्रुटियों को कमेंट में अवश्य शेयर करे धन्यवाद

एक वो इंसान जिसकी मौजूदी आपकी धड़कने बढ़ा देती है यदि वह आपके जीवन में है तो यकीन मानिए आपकी जिंदगी जीते जी जन्नत है।
-ऋषभ पांडेय

Read More

हीरा चाहे कचरे के ढेर में ही क्यों न पड़ा हो वो रहता हमेशा हीरा ही है और समय आने पर उस पर किसी न किसी जौहरी की नजर पड़ ही जाती है,
इस लिये
वर्तमान हालात कैसे भी हो निराश होने के स्थान पर आपके जीवन का हर एक क्षण अपने मूल्य को बढाने की तरफ अग्रसर होना चाहिए।
-ऋषभ पांडेय

Read More

सिद्दत से सजाएं हुए सपने के टूटने के बाद फिर से नए सपने सजाने का हौसला रखने का नाम ही जिन्दगी है।
-ऋषभ पांडेय

Read More

जिसका जीवन आज के आनन्द में है एवं भविष्य की चिंताओं से मुक्त है, वह जीवित ही
मोक्ष को प्राप्त है।
-ऋषभ पांडेय

Read More

जिंदगी भर अपना टाइम आएगा का इन्तेजार करते हुए, चैन और सुकून को दरकिनार करते हुए जो भविष्य कि चिंता में तुम खोए रहते हो यही जीवन की मोहमाया है जिससे स्वत्रन्त होकर आज में प्रसन्न होकर जीना ही एक मात्र मोक्ष है।
-ऋषभ पांडेय

Read More

लगातार दो हफ़्तों से सर्वाधिक डाउनलोड लेखकों में पहले हफ्ते #3 दूसरे हफ्ते #2 स्थान तक पहुँचाने के लिए सभी पाठकों का सह्रदय धन्यवाद

Read More

@njali लिखित कहानी "Broken with you... - 1" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19898626/broken-with-you-1

स्थितियां कोयले को भी हीरा बना देती है,
अतः किसी के बुरे वर्तमान से भविष्य का
आंकलन
उचित नही है,
-ऋषभ पांडेय

Read More

सुकून को प्राथमिकता दे, क्योंकि आवश्यकता और इच्छाएं कभी खत्म न होकर जीवन का आनन्द खत्म कर देती है।
-ऋषभ पांडेय

Read More

यदि मन सम्भल गया तो जीवन मे हर दिन उत्सव है,
-ऋषभ पांडेय