Hey, I am Ritu worked as a RJ in All India Radio and interested in story writing and poetry so i uses Matrubharti app

दोस्तो ज़िन्दगी के सफ़र मे रितु शर्मा द्वारा लिखित उपन्यास का पहला भाग मातृभारती पर जरूर पढ़े और अपनी प्रतिक्रिया मुझ तक जरूर पहुंचाएं आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतज़ार रहेगा🙏🙏
https://www.matrubharti.com/book/19896506/jindagi-ke-safar-me-1

Read More

ये जुल्फ़े तेरे चहरे की पहरेदारी बड़ी संजीदगी से करती है रितु .......
जब जब चहरे के दीदार के लिए झुकते है पूरे चहरे को अपने आगोश में ले लेती है !.... ✍️
#चौकसी

Read More

जब आपकी सुबह घड़ी की अलार्म से नहीं बल्कि पंछियों के मधुर संगीत से होती  हो
जब आपकी आंखे  सोशल मीडिया के संदेशों से नहीं बल्कि सुरज की पहली किरण से होती हो और आपका दिन  मोबाइल पर अंगुलियों के घर्षण से नहीं बल्कि दीन दुखियों के सेवामे गुजरता हो और आपकी शाम किसी फाइव स्टार के होटल  की मशीन वाले  कॉफी से नहीं बल्कि चूल्हे की  अदरक वाली चाय से होती हो ओर जिसकी रात ए.सी. लगे आलीशान कमरे के अंदर नहीं बल्कि चांद की चांदनी से रोशन तारो कि चादर ओढ़कर होती हो तो यकीं मानिए आपने ज़िन्दगी और प्रकृति दोनो की खूबसूरती को जिया है  ..... रितु की कलम से ✍️

Read More

एक शाम जो उस ओर ले चली जहा इस जहां की सबसे ज्यादा  खूबसूरती निखरती है
एक शाम जो धीरे धीरे चली तारो की जगमगाती रात की ओर....
एक शाम जो चली   उस चांद की बरसती चांदनी की ओर...
एक शाम जो बढ़ चली तेज रफ्तार से... ले चली उस खूबसूरत जगह इस सच्चे बादशाह की ओर उस पर्वर दीगार के नजदीक जहा मन शांत है और खूबसूरत पल में लबरेज़ है जिसके पास लेकर आती हूं हज़ारों शिकायत और करती हूं मन्नत पर वहां जाकर सब दुःख और तकलीफ भूल जाती हूं #goldan tempal...... रितु की कलम से✍️

Read More

#गुप्त
तेरा हर  राज़ को जो तुमने सिर्फ मुझे बताया था
उसे गुप्त रखने की कसमें खाई थी ...
पर अब पलट कर देखा तो तुमने तो यही कसमे न जाने  ओर कितने लोगो से भी खिलवाई थी
मुझे लगा एक मै ही तुम्हारे दिल में समाई थी
पर अब समझ आया ये तो बस मेरी आंखो के आगे तूने एक अंधे प्यार कि परत चढाई थी...... रितु की कलम से✍️

Read More

ये उदासी क्या आपकी आदत है!नहीं तो
विश्वास किया था आपने क्या कोई शिकायत है! नहीं तो

क्या हमसे दूर जाने की कोशिश है !नहीं तो
इतना भरोसा क्या कोई ख़ास है !नहीं तो

कुछ अंदाजे वफ़ा के सवाल है !नहीं तो
इतने खुश दिख रहे हो क्या कोई ग़म है !नहीं तो

तेरे इस हालत पर है सबको हैरत रितु
क्या तुम्हे भी इस पर हैरत है !नहीं तो

तो कुछ तो सवाल है ! नहीं तो
बस कुछ सवालों के जवाबो में हूं .....रितु की कलम से ✍️

Read More

तेरी सादगी ही सबसे बड़ा गहना है पगली
जब पहली बार देखा था तुझे सीढ़ियों से उतरते ..
वो पायल की धीमी सी छनकती आवाज़ से मानो पूरे माहौल में संगीत की धुन सी बजती हो...
तेरी झुकी हुई पलके और चहरे पर वो मासूमियत
तेरी जुल्फें जो तेरे चहरे को बार बार छुपाने की कोशिश कर रही थी और उस आधे से चहरे में तेरे खूबसूरती को पूर्ण करती वो गोल बिंदी बस ....... Ritu
ये तेरी सादगी
कुछ ऐसा अंदाजे - इश्के तारीफ़ करने का हुनर था उनकी बातो में ......
याद है या भूल गए ...रितु की कलम से ✍️

Read More

इश्के परवान कोई यूहीं नहीं चढ़ता
कुछ तो बात  होगी जो छूपा रखी है आपने  दिल की डायरी में... ओह शायद ...

तारीफ़ की फेहरिस्त कुछ लंबी थी जनाब 
तभी तो उन्हें फुर्सत नहीं मिली बयां करने की.... रितु की कलम से✍️ ...
#फुर्सत

Read More

कमी है तेरे प्यार की
कमी है उस खुशबू की जो दूर से ही तेरे आने का अहसास करवाती थी
कमी है उस विश्वास की जो तूने करवाया था मुझे
कमी है उस अटूट वाले रिश्ते की जिसकी तूने संजोए रखने कि कसमें खाई थी
कमी है उस बेफिक्री की जो तेरे आस पास रहते हुए मुझे महसूस हुई
कमी है उस तारीफ़ की जो तुम किया करते थे मेरी खुबसूरती की
कमी है उस ख़ास इंसान की जिसने मेरी एक अधूरी सी ज़िन्दगी की कमियों को पूरा किया था ..... रितु की कलम से✍️....
#कमी

Read More

में अा गया हूं भगवान बता इंतजाम क्या क्या है
.......
सभी का खून शामिल है यहां की मिट्टी में
किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है
.........

जनाजे पे मेरे लिख देना यारो
मुहब्बत करने वाला जा रहा है .....

ये तो बस कुछ पंक्तियां है राहत जी की पर वो जब भी बोलते पूरी महफ़िल को इतना मशरूफ कर देते अपनी शेर और श्यायरियो में......क्या ख़ूब लिखता था ....अपने दिल के जज़्बात को अल्फाजो में बयां करने का का इतना खूबसूरत अंदाज जितनी तारीफ़ करे कम है इस सितारे की .....
राहत साहब आप के जैसे कवि का जाना सच में एक कोहिनूर को खोने जैसा है ईश्वर आपकी आत्मा को शांति दे 🙏🙏

Read More