introvert writer (JOURNALIST)

कुछ लोग इंकार के डर से इज़हार नहीं करते,
और कुछ लोग इज़हार तो करते हैं मगर प्यार नहीं करते।
#रूपकीबातें

कोई दिल में हो अगर तो किसी और पर नज़र नहीं ठहरती,
और अगर नज़र ठहरती है तो जो दिल में है,
तो दरअसल वो दिल में नहीं केवल आपके दिमाग में है।
#रूपकीबातें

Read More

welcome blue tick ❤️❤️
happpppppyyyyyyyyyy😄😄

#रूपकीबातें

मैं लगभग उसे भूल ही गई थी।
की अचानक मुझे बाजार में ब्लू शर्ट नज़र आ गई।
और फिर वो मुझे याद आ गया..
हिस्सों में भूली थी मैं उसे,
मगर जब याद आया..तो पूरा याद आ गया।
#रूपकीबातें

Read More

हमारे देश में मोमबत्ती के कारोबार में बहुत मुनाफ़ा है।
खैर..
बहुत दुःखद है मगर हमारा समाज मर चुका है।
मेरी तरफ से भी समाज की आत्मा की शांति के लिए एक महंगी वाली मोमबत्ती।

#riphumanity #ripsociety #रूपकीबातें

Read More

अचानक जब मुझे ये एहसास होता है कि मैं तुम्हारी हूँ, तो मैं खुद पर बहुत गुरूर करने लग जाती हूँ। पैर ज़मीं पर नहीं होते हैं। बहुत खुशकिस्मत होने का एहसास होता है। तुम्हारे साथ होने के सपने देखना और उनको पूरा करने की ज़िद, सब कुछ होता है....
लेकिन, दूसरे ही पल ये ख्याल आता है कि मैं तुम्हारी नहीं हूँ, तुमने कभी मुझे अपना नहीं कहा। ये तो मेरे ख्यालों की दुनिया है। जिसमें मैं तुम्हारी होती हूँ। और खुद पर ही हँसी आती है। क्योंकि मेरे ये ख्याल , ये सोच बहुत ग़लत है। तुमने कभी कुछ ऐसा नहीं कहा मुझसे, ऐसा कोई वादा नहीं किया। जिससे मुझे तुम्हारी ज़िन्दगी में खुद के खास होने का एहसास हो। तुमने कभी मुझे इस तरह नहीं देखा कि मैं जिसे मोहब्बत समझ लूँ। तुम तो औरों की तरह ही पेश आते हो, कुछ खास नहीं होता। कुछ ऐसा नहीं होता जो सिर्फ मेरे लिए हो। लेकिन फिर भी मैं खुद को तुम्हारे हो जाने का एहसास दिलाती हूँ......।
हां एक दिन मैं खुद को तुम्हारी नज़र से देखना चाहती हूँ। देखना चाहती हूँ कि तुम मुझमें क्या देखते हो ? क्या कुछ ऐसा भी है जो तुम मुझमें पसंद करते हो ? क्या तुम भी मुझे पाना चाहते हो ? क्या मेरे ख्याल तुम्हें सोने नहीं देते ? क्या तुम भी मुझसे मोहब्बत करते हो......?
#रूपकीबातें

Read More

कुछ आँसू ऐसे भी होते हैं,
जिनमें तकलीफ़ तो बहुत छुपी होती है,
मगर उनको बहने की इजाज़त नहीं होती।
#रूपकीबातें

Read More

मेरे सिवा किसी और का स्पर्श अगर तुम्हें नागवार है,
तो मुझे मंजूर है इश्क़ तुम्हारा।
#रूपकीबातें

जानते हो तुम मेरे लिए कितने खास हो,
हर वह शख़्स खुशनसीब है जिसके तुम आस-पास हो।
#रूपकीबातें

माना उसने मुझे छोड़ दिया मगर,
कैसे भूल जाऊं उसको,
क्योंकि जब मोहब्बत की थी उसने,
बड़ी लाज़वाब की थी।
#रूपकीबातें

Read More