लेखनी मेरा विस्तार ..(3) पुसतकों का प्रकाशन.. "एक मुसाफिर ऐसा भी" बाल ठाकरे,"नस बंदी से नोट बंदी तक"काव्य संग्रह,"विकास पथ नरेन्द्र मोदी"Biography तीनों पुस्तकें"amazon" पर उपलब्ध हैं। ebook.."एक कदम आत्मनिर्भरता की ओर".coming soon new ebook... गजल़

सफलता पाने के लिए "अपमान और संघर्ष भी जरूरी है "अपमान और संघर्ष के बगैर सच में जिंदगी अधुरी है...
#डॉरीना

Read More

कुछ पन्नों के बदल जाने से
कोई हताश नहीं होता..
यही तो जिंदगी है पन्ने बदलतें
नहीं वो आज नहीं होता
डॉ रीना

दुनिया का सबसे "बड़ा दुख" "किसी पर निर्भर होना"...
दुनिया का सबसे "बड़ा अपमान" "किसी से अपेक्षा रखना"....
दुनिया का सबसे "बड़ा सुख" "चुनौतियों को स्वीकारना"... #डॉरीना
#अनामिका
#हिंदी_का_विस्तार

Read More

जब तक जिंदा हैं तब तक अपनी डीपी बदलते रहिए.. 🙃क्योंकि बाद में तो एक ही तस्वीर में फ्रेम होना है😇😆😆😆
#मस्ती
#डॉरीना

Read More

"वक्त किसी का हुआ नहीं है कर रहा आगाज
वक्त वक्त में मशरूफ है वक्त ही हमराज" #अनामिका
#डॉरीना
#हिंदी_का_विस्तार
#साहित्यसृजन

Read More

तुम "बेटियां" हो "आज" की
तुम "आवाज "हो "आगाज़" की
तुम "अंजाम" हो "समाज" की
तुम "नाज" हो "एहसास" की
तुम्हारे बगैर "संसार" नहीं
तुमसे अच्छा "धरा" पर
कोई अनुपम उपहार नहीं
#हिंदी_शब्द #हिंदी_का_विस्तार
#साहित्यसृजन #साहित्य_संगम
#डॉरीना
#अनामिका

Read More

"हाला में खुद डूबते हैं जमानें को दोष क्यों..
मतवाले प्याले टूटने, पर कब शोक मनाते हैं?"
#डॉरीना
#अनामिका
#हिंदी_शब्द
#हिंदी_का_विस्तार
#साहित्य_संगम

Read More

"गुजरे हुए कल की कोई दवा ले आओ
मयकदा बहक गया है बिन पैमाने के"
#डॉरीना
#अनामिका
#हिंदी_शब्द
#हिंदी_का_विस्तार
#साहित्य_संगम

Read More

"अपभ्रंश बगैर
शौरसेनी,पैशाची, ब्राचड़,खस,महाराष्ट्री,मागधी,का कहाँ हो सकता उत्थान"?
"आभीरों और मीणा की बोलियाँ भी हिंदी में पातीं हैं स्थान" ..
"हिंदी बगैर सरल नहीं,गणित,इतिहास,भूगोल और विज्ञान"
तो आओ करें हम सब मिलजुलकर #हिंदी_का_विस्तार
#अनामिका
#डॉरीना

Read More

"हिंदी सिर्फ राष्ट्रीयता को नहीं जोड़ती है
अपितु वह सभ्यता और संस्कृति में भी सेतु का निर्माण करती है"..
हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ
#डॉरीना
#हिंदी_का_विस्तार

Read More