Hey, I am reading on Matrubharti!

धर्म से लोग बट जाते हैं
शर्म से जिंदगी बट जाती है
कर्म से आदमी बट जाता हैं

-Sandip

मैंने जानबुझ के कुछ नहीं किया
मुझे पता था फ़िर भी
मेंने कुछ नहीं किया

-Sandip

we are indians firstly and lastly
B.R. Ambedkar

वक़्त तब भी हमारा था
वक़्त अब भी हमारा है
तब हम खोये-खोये से थे
तब हम सोये-सोये से थे
अब हम कुछ करने का बीज़ बोये हुऐ है

-Sandip

Read More

जेसे आसमान तारों से भरा हुआ हैं
वेसे ही में विचारों से भरा हुआ हु

-Sandip

ये देखो रास्ते में कोन मिला है
ये तो चाँद खिला हैं

-Sandip

कागज़ पे आजादी लिखा जाएँ
एक ओर से कलम लीया जाएँ
दुजी ओर से काफिला देखा जाएँ
-Sandip

जिस सोच में हिंसा छिपी है
हर ऐसी सोच को मारना है
खोज-खोज कर मारना है

if you are #young
so you keep learning new things
all this will work on future
because after young age you have no free time
#જુવાન