Hey, I am on Matrubharti!

जब अपने 'अपना' ही ना समझे,
...तो गैर क्या खाक समझे ।।
तरुण सारस्वत जैश