मैं एक प्राइमरी अध्यापिका हूं l मैं दिल्ली में रहती हूंl शुरू से ही पढ़ने, पढ़ाने में मेरी रूचि रही है l अपने मन के भावों को कविता, कहानी का रूप देने का यह मेरा छोटा सा प्रयास हैl आप सभी मेरी रचनाओं को पढ़ मेरा मार्गदर्शन करें, जिससे मेरी लेखनी को सही दिशा मिल सकेl

जब से पाया है साथ तेरा
मेरे जीवन में इंद्रधनुष सी छटा बिखर गई
डूबी ज्यों ज्यों तेरे प्यार की गहराई में
मैं इंद्रधनुष के रंगों सी निखर संवर गई।।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More

पिया , बांधी जबसे तुझ संग जीवन की डोर
तबसे मेरी हर शाम सुहानी उजली हर भोर।
सरोज ✍️

उम्र भर तेरा इंतजार भी मंजूर है मुझे
बस एक बार कह दे,
जुनून की हद तक चाहता है तू भी मुझे।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

हाथों में तेरे सदा मेरा हाथ रहे
आंखों में तेरी यूं ही विश्वास रहे
दुनिया की फिर नहीं परवाह
जीवन भर बस तू मेरे साथ रहे।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More

मेरे देश की मिट्टी में कुछ तो बात है
तभी, हम भारतीयों संग सकल विश्व करता
मेरे देश को झुक आदर सहित सलाम है।।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More

जल सी होती है स्त्रियां
ढालों जिस सांचे में, वो ढल जाती हैं।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

जगह बदली, बदले किरदार
पर कहां बदली किस्मत तेरी
उस घर में तो थी तू सदा पराई
इस घर में जगह बनाने के लिए
संघर्ष कर रही दिन रात।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More

शब्दों का ही तो जादू है
जो पल भर में पराए अपने बन जाते हैं
कितने भी हो गहरे जख्म
मीठे शब्दों के जादू से पलभर में भर जाते हैं।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More

मेरे दिल की बस एक ही
आरजू है सनम

हो तुझसे शुरू हो तुझ पर खत्म
मेरी जिंदगी का सफर।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More

वजन घटाने की सारी योजनाएं विफल हो जाती है
जब चटोरी जीभ जिद पर अपने आती है
पूरी पराठे, चाट पापड़ी हाय! इसको बहुत ही भाती है
कितना भी करना चाहे कंट्रोल
देख इनको यह तो कुछ ज्यादा ही लपलपाती है
फेल कर सारे डाइटिंग के प्लान
यह दिन पर दिन हमारा मोटापा बढ़ाती है
मुंह चिढ़ा डाइटिंग योजनाओं को
यह अपनी सफलता पर हाय ! देखो कैसे मुस्काती है।
सरोज ✍️

-Saroj Prajapati

Read More