*रूबरू होने की तो छोड़िये, गुफ़्तगू से भी क़तराने लगे हैं,* *ग़ुरूर ओढ़े हैं रिश्ते,अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं*

Tum Milo na Milo ye muqaddar ki baat he;
Magar tumhe Apna mankar💗ko bada sukun milta he..

Right!!??!!

it's a true!