मैं सेवानिवृत अध्यापिका हूँ . पठन और लेखन मेरा शौक रहा है . थोड़ा कुछ लिखने का प्रयास कर रही हूँ .आपकी समीक्षा मेरा मनोबल बढ़ाएगी .

क्या #विजय का जश्न ,
और क्या पराजय का मातम ,
ये जीवन भी तो ,
एक युद्ध है महाभारत का ,
यहाँ हार कर तो सब खोना ही है ,
विजय में भी हाथ कुछ नहीं आना ।
जीना है तो विजय या पराजय को छोड़ ,
सिर्फ और सिर्फ कर्मरत रहना है ।
यही विजय है ।।

#विजय

Read More

कभी कभी जाने अनजाने ,
हम समझ नहीं पाते किसी अपने को ,
और ठेस लगा बैठते हैं ,उसकी भावनाओं को ,
फिर "खेद " जताने और माफी के सिवा ,
कोई रास्ता नहीं होता हमारे पास ,
और धीरे -धीरे वह शख़्स ,दूर हो जाता है ,
सदा के लिए हमसे , बिना हमें अहसास कराए ,
फिर कभी वापस न लौटने के लिए ।
छोड़ जाता है पश्चाताप , केवल पश्चाताप ।।

#खेद

Read More

क्यूँ ये सफ़र जिंदगी का ,
कहीं थमता नहीं ,
क्योंकि भार अब जिंदगी का ,
सहा जाता नहीं ।
कोई मंजर रास्तों के ,
अब लुभाते नहीं ,
पर मंजिल का भी ,
कोई निशां दिखता नहीं ।।

#भार

Read More

बहुत सुनी हैं कथाएं ,
औरों की जिंदगियों की ,
अपने जीवन की कथा भी तो ,
किसी से कम तो नहीं ।।
#कथा