i am a teacher ,poet and a story writer. i am from barmer Rajasthan.... Born on 13 oct 1997... join me on instagram @explore.life.with.shubham36

देश जोड़ो इसको तोड़ो नहीं। मेरे इस कविता में उन लोगो का नाम शामिल है जों देश को तोड़ने चाहते है। #criticism #love #peace #harmony #india #patriotism #comment #inspiration

Read my thoughts on @YourQuoteApp #yourquote #quote #stories #qotd #quoteoftheday #wordporn #quotestagram #wordswag #wordsofwisdom #inspirationalquotes #writeaway #thoughts #poetry #instawriters #writersofinstagram #writersofig #writersofindia #igwriters #igwritersclub

Read More

मुहावरे और लोकोक्ति हिंदी की उस खूबसूरती की झलक है जो एक अच्छा व्यंग्य और हास्य को परिणित करती है। तो पढ़िए ये खास रचना और अपना विचार जरूर साझा करें।
#humour #हास्य #love #life #motivation #hindi

Read More

बेखुदी है ये बेदर्दी,
तुम मिलो मेरे हमनसी।
तुम मेरे हो तुम ही हो,
मेरी सांसे मेरे जेहनसीब।

-Shubham Maheshwari

Don't worry you will get everything...
#motivation #inspiration #life #success #truth #love
follow me on yourquote @shubham36

follow the Matrubharti account @shubhamkumarbahetigmail.c

-Shubham Maheshwari

उनमें गुस्सा और है उनमें प्रेम,
जो देवो के देव है वहीं है महादेव।

photo credit : Sadguru App

वो फूल सी बेटी,
अपने सपनों को लिए बैठी थी।
अरमानों के पंख लिए,
वो उड़ान को बड़ी आतुर थी।
नकली दुनिया में आगे,
तो कई मुकाम थे उसने पाए।
उसकी मेहनत ही तो थी,
जो वो ख्वाब पूरा थी कर पाई।
मिली उसको नौकरी,
देर रात को घर पहुंचती थी।
थी बड़ी शालीन सी,
देसी कपड़े पहना करती थी।
हमेशा थी वो खुश रहती,
मां बाप का सहारा बन गई।
ना जाने किसकी नजर,
उसकी खुशियों को लग गई।
एक रात काली सी,
ना जाने कैसी घड़ी थी अाई।
एक अकेले सफर ने,
उसकी ज़िन्दगी खत्म कर डाली।
वो सवार थी एक बस में,
जिसमे बैठे थे कुछ अनजाने।
उसको अकेला देख कर,
टूट पड़े वो सभी दरिंदे।
बारी बारी उन हैवानों ने,
उस नारी कि अस्मत को लुटा।
उसने कितना पुकारा था,
पर किसी ने नहीं था उसको सुना।
अगले दिन उस कन्या के,
मा बाप जब थाने में पहुंचे।
तब उनको पता चला,
दरिंदगी का आलम उबला था।
सवाल ये करता कवि शुभम्,
क्या उस नारी की गलती थी?
इस पुरानी सोच में सोचो,
कितनी बेटियां यूं बिखरी।
नारी है कोई उपभोग नहीं,
कब ये समाज समझेगा?
ना जाने बुरी मानसिकता,
और कितना नीचा होगा?
#society #rape #rapevictim #hathras #daughter #girl

Read More