जय भवानी

मेरे अजनबी मेरे आशना,
तुझे हर्फ हर्फ दुआ लिखूं।
कोई ऐसा वसा नसीब कर,
तुझे चांद तारे हवा लिखूं।
गर बन ना सकू कभी तेरी ,
तो हयात को में फना लिखूं।
ये मेरी जिंदगी तेरी याद से हरपल जवां रहे,
मेरे अजनबी मेरे आशना में खुद को तुझसे ना कभी जुदा लिखूं।

Read More

दुनिया की रौनक से कट के सोती हूं,
🧠कहीं दिमाग,कहीं दिल❤️कहीं बदन,
कमाल देखिए में कितना बट के सोती हूं😴!

ले उठ रही हूं बज़्म से में तिष्नगी के साथ,
मगर ऐ साकी ज़ुल्म ना हो ये अब किसिके साथ।

अपना लड़ना भी मोहब्बत है तुम्हे इल्म नहीं, चीखते तुम रहे और मेरा गला बैठ गया!

पुरानी बातो की शराब करने लग गई हूं,
बड़ी बेशर्म में उनकी सुबह खराब करने लग गई हूं,
एक उनका लहजा ही काफी है मरहूम को,
बड़ी बेअदब में खुद को दफनाने लग गई हूं।

Read More

🕵️तुम्हारा शहेर, तुम्हीं मुद्दई,तुम्हीं मुनसिफ,
यकीन है मुझे कसूर मेरा ही निकलेगा।🙏

don't waste your words on someone who deserve ur silence
sometimes the best nd the most powerful thing to say is to say nothing.🙏