Best Humour stories stories in hindi read and download free PDF

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 22
by Yashvant Kothari

22 कभी जहॉं पर कल्लू मोची का ठीया था और सामने हलवाई की दुकान थी ठीक उस दुकान की जगह पर कुछ अतिक्रमण करके कल्लू मोची के नेता पुत्र ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 21
by Yashvant Kothari
  • 150

21 पुस्तके जीवन है । पुस्तके मशाल है । हर पुस्तक कुछ कहती है । हर पुस्तक जीवन जीने की कला सिखाती है । पुस्तक प्रेम जीवन से प्रेम ...

कथा एक बाँध की
by Alok Mishra
  • 297

कथा एक बाँध की       एक उच्च स्तरीय गोपनीय बैठक में यह तय किया गया था कि जंगलों के बीच बहने वाली ‘‘की’’ नदी पर ‘‘गो’’ बाँध बनाया जावे। ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 20
by Yashvant Kothari
  • 153

20 चारों बच्चों की उपस्थिति बाबू ने पूरी की । डीन एकेडेमिक ने स्वीकार की । बच्चें परीक्षा में बैढे । विश्वविधालय में नये सत्र की ष्शुरूआत थी । ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 19
by Yashvant Kothari
  • 144

19 शुक्लाजी व श्री मती शुक्ला टेन से वापस आ रहे थे । मुख्यमंत्री की मिटिंग का गहरा असर था । ये बात अलग कि उन्हें मिला कुछ नहीं ...

बजट - ‘‘हमें का मालूम’’ ? (व्यंग्य कथा)
by Alok Mishra
  • 351

       बजट - ‘‘हमें का मालूम’’ ? (व्यंग्य कथा)         वो बूढ़ा धीमे कदमों के साथ अपनी झोपड़ी में दाखिल हुआ । झोपड़ी में एक ओर मिट्टी ...

Hostel Boyz (Hindi) - 20 - Last Part
by Kamal Patadiya
  • 240

प्रकरण 31 : हॉस्टल और कॉलेज के त्यौहार अक्सर त्यौहारों में छुट्टी होने के कारण हम लोग ज्यादातर त्यौहार घर पर ही मनाते थे लेकिन मकर संक्रांति का त्योहार ...

टकला
by Alok Mishra
  • 441

//टकला//             शीर्षक पढ़ कर आपको यह लग रहा होगा कि आज मैं इन्टरनेट से चुराकर कुछ सामग्री परोसने जा रहा हुँ। ऐसा कुछ नहीं है। टकला होना या ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 18
by Yashvant Kothari
  • 204

18 ‘मेरा क्या हैं मेडम । आपके पीछे -पीछे चल रहा हूॅ । कहीं तो पहुॅच ही जाउूगा । ‘ ल्ेकिन पदम पुरस्कारों के लिए उच्च स्तर की सेंिटगं ...

Hostel Boyz (Hindi) - 19
by Kamal Patadiya
  • 213

प्रकरण 29 : यूनिवर्सिटी की फाइनल exam की date को postponed करवाया कॉलेज की फाइनल exam आने वाली थी और हमारा course अभी तक खत्म नहीं हुआ था, इसलिए ...

मैं इतिहास बोल रहा हुॅ
by Alok Mishra
  • 318

मैं इतिहास बोल रहा हुॅ           मैं इतिहास बोल रहा हुॅ । मै वो इतिहास हुँ जो शायद आप का  हो सकता है,किसी जीवित या अजीवित वस्तु का हो ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 17
by Yashvant Kothari
  • 153

17 इन्हीं विकट परिस्थितियों में नेता जी अपने महल नुमा - डाईगं रूम में मालिश वाले का इन्तजार कर रहे थे । वे आज गम्भीर तो थे,मगर आश्वत भी ...

Hostel Boyz (Hindi) - 18
by Kamal Patadiya
  • 294

प्रकरण 27 : प्रिंसिपल की ऑफिस में धमाल 31st की सेलिब्रेशन के बाद कोलेज प्रशासन की ओर से हमारा सरघस निकलना तय था। हम सबके भूतकाल के रिकॉर्ड को ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 16
by Yashvant Kothari
  • 291

16 ‘जिन्दगी जीने के लिए है और विश्वविद्यालय मंे तो मजे ही मजे। मौजां ही मौजां। याद है अपन जब विश्वविद्यालय मंे पढ़ते थे तो एक प्रोफेसर ने क्या ...

सूत्रों के हवाले से....
by Alok Mishra
  • 288

     सूत्रो के हवाले से ....         अभी - अभी सूत्रों के हवाले से खबर लगी है कि "फलाना" भी कोरोना पोजेटिव हो गया । ये फलाने हमारे ...

Hostel Boyz (Hindi) - 17
by Kamal Patadiya
  • 282

प्रकरण 25 : Ring Theory हम लोग कॉलेज प्रशासन के सामने अक्सर विरोध प्रदर्शन करते थे इसलिए हमारे क्लास का वह कोई नुकसान ना कर सके इसलिए हम लोगोने ...

भिखारी संघ
by Alok Mishra
  • 630

भिखारी संघ         सड़क के किनारे बैठे कुछ भिखारियों में से एक को यह ख़्याल आया कि आजकल हर वर्ग का अपना संघ  है जैसे व्यापारी ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 15
by Yashvant Kothari
  • 204

15 कोई कुछ नहीं बोला। सन्नाटा बोलता रहा। झिगुंर बोलते रहे। मकड़ियांे ने संगीत के सुर छेड़े। रात थोड़े और गहराई। यशोधरा बोली। ‘आज मेरी काम वाली ने बताया ...

पाप अच्छे हैं ...
by मंजरी शर्मा
  • 369

हेलो!! मैं "खट्टा-मीठा चैनल" से आपकी दोस्त एंड होस्ट मंजरी, आपके सामने पेश हूँ शर्मा निवास से 'लाइव'|जी हां, वही शर्मा निवास, जहाँ हंसने मुस्कुराने की किसी को नहीं है ...

Hostel Boyz (Hindi) - 16
by Kamal Patadiya
  • 312

प्रकरण 23 : कॉलेज में क्रिकेट वॉलीबॉल की मस्ती कॉलेज में रमत गमत के लिए बड़ा मैदान था जहां पर सब छात्र मिलकर खेलते थे। हमारे क्लास में से ...

चुनावी दूल्हा
by Alok Mishra
  • 405

    हमारे एक मित्र है , मोहन । बेचारे... कई वर्षों से कुंवारे होने का दर्द झेल रहे थे । आखिर काफी प्रयास और भागदौड़ के बाद एक ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 14
by Yashvant Kothari
  • 237

14 व्यवस्था कैसी भी हो। प्रजातन्त्र हो। राजशाही हो। तानाशाही हो। सैनिक शासन हो। स्वेच्छाचारिता हमेशा स्वतन्त्रता पर हावी हो जाती है। सामान्तवादी संस्कार समाज मंे समान रूप से ...

Hostel Boyz (Hindi) - 15
by Kamal Patadiya
  • 336

प्रकरण 21 : P.G.D.A.C.A. College ग्रुप मैं अपने कॉलेज के ग्रुप की थोड़ी बातें शेयर करना चाहता हूं। हमारा नसीब बहुत ही अच्छा था की हॉस्टल के ग्रुप के ...

विभाजन
by Ramnarayan Sungariya
  • 285

कहानी   विभाजन                                                     ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 13
by Yashvant Kothari
  • 207

13 पेज तीन पर माडल थे। चैनलांे मंे काम करने वाले थे। फैशन था। रेम्प था और स्थानीय चैनलांे के एंकर थे। एफ.एम. के जोकी थे, कुल मिलाकर एक ...

Hostel Boyz (Hindi) - 14
by Kamal Patadiya
  • 378

प्रकरण 19 : 26th जनवरी का भूकंप 26th जनवरी 2001 को गुजरात में जोरदार भूकंप आया था। उस भूकंप में लाखों लोग मर गए थे और करोड़ों की संपत्ति ...

व्यंग्य डॉक्टर कवि की अनोठी शल्य क्रिया’
by ramgopal bhavuk
  • 303

        व्यंग्य डॉक्टर कवि की अनोठी शल्य क्रिया’     रामगोपाल भावुक अश्वनी मास की धूप, गाँव में सफाई की कमी, मच्छरों का प्रकोप से लोग ...

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 12
by Yashvant Kothari
  • 393

12 दिल्ली का बहादुरशाह जफर मार्ग। भव्य अट्टालिकाएंे। इन भवनांे मंे प्रिंट मीडिया के दफ्तर। इन दफ्तरांें मंे बड़े-बड़े सम्पादक। पत्रकार। लेखक। दिल्ली के बुद्धिजीवी। देशभर के बुद्धिजीवी यहां ...

प्रभु जी (व्यंग्य)
by Alok Mishra
  • 195

प्रभु जी .....        बहुत दिनों से देख रहे हैं कि आप कितने महान है । आपकी महानता के चर्चे दूर-दूर तक है । आप तो वो पारस है ...

Hostel Boyz (Hindi) - 13
by Kamal Patadiya
  • 312

प्रकरण 17 : Paper Briefing Work मेरा पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स चल रहा था। हम सब ग्रुप वालों की पॉकेट मनी बहुत ही कम थी, इसलिए मैंने तय किया ...