मेरे पास मत आना दोस्तों, मुझे लिखने की बीमारी है।

I don’t depend on people anymore because I’m tired of being disappointed.

हा माना बहुत ख़तरनाक है
ये नई बीमारी जो आई है बाज़ार में,
पर कोई जाकर बताओ उसे की
तुमसे बड़ी बीमारी तो लोग दिलों में
लेके घूमते है जिसे गलतफहमी कहती है दुनिया।।

Read More

हा माना इश्क़ ओर फ़िक्र बहुत है,
पर हम भी मज़बूर बहुत हैं,

दुरी है घर से मेरी पर
ये दुरी जरूरी भी बहुत है,

जुबां खामोश दिल में कई राज है,
बातें कई सारी थी कल लेकिन खामोश आज है,

अकेले थे मुसीबत मै
कमियाबी में सब साथ है,

जुबां खामोश दिल में कई राज है,
कल तक जिनको याद भी ना थे वो भी आज पास है।।

Read More

कितना मुश्किल सवाल है

सच कहूं तो खुद से नफ़रत होने लगी है,
ना ज़िंदगी जी पा रहा हूं,
ना चैन से मर पा रहा हूं,

ना ढंग से सो पा रहा हूं, ना ढंग से जाग पा रहा हूं,
ओर लोग पूछ रहे है क्या हाल है,
उन्हे कौन बताए कि
मेरे लिए ये कितना मुश्किल सवाल है।।

-- किशन_साहू

Read More

जो लोग सच्चे होते है
अक्सर उनके दिल तोड़ दिए जाते है,
भरोसा जीत कर,

कुछ भी करके उन्हे बुरा बनाया जाता है,
हर वक्त हर पल बेवजह उन्हे यूं ही सताया जाता है,

जो लोग सच्चे होते है उनकी,
पीठ मै बड़े प्यार से खंजर गोपा जाता है,

तुम अच्छे हो इस बात का भी बड़ी चालाकी से फायदा उठाया जाता है,

अरे जनाब अच्छे ओर सच्चे लोगों को शरबत मै मिलाकर जहर पिलाया जाता है।।।

-Ki Shan S Ahu

Read More

याद दिलाती है तेरी हर बात कि,
ढलती शामें कुछ ख़ास है गई है अब मेरे लिए,
तेरे जाने के बाद एक ये ही सहारा है,

सफ़र कुछ इस कदर खतम हुआ मेरा,
कि सफ़र कुछ इस कदर खतम हुआ मेरा,
जो हमसफर थे कभी आज वो अनजाने मुशाफिर बने बैठे है।।

Read More