Hey, I am reading on Matrubharti!

તું જ મારો અંત અને તું જ મારી #શરૂવાત
આના થી વધુ શુ કરું હું મારા પ્રેમ ની રજુઆત

तेरी आँखों का नशा
तेरी कातिल मुस्कुराहट
तेरी रूह का संगीत
तेरा बात बात पे रूठने का अंदाज़
फिर भी
तेरा मेरे बिन एक पल भी न रह पाना
ओर वो एक लफ्ज़
" મારા જીવ" हाय रे कभी मार देगा मुजे

-तेजल "अलगारी"

Read More

बड़े भरोसे से जिंदगी तेरे हाथ मे रख दी है
सवाँर ले या बिगाड़ दे तेरी मरजी

-तेजल 'अलगारी'

सिर्फ एक बहाने की तलाश में होते है

निभाने वाले भी ओर जाने वाले भी

कहते रहते हो सबको की भूल चुके हो मुजे

लाओ कभी हौसला खुद को बताने का भी

पहले दोस्ती थी फिर महोब्बत हो गई

महोब्बत का पता नही फिर दोस्ती भी खत्म हो गई

टुटके चाहा था जिसे

उसने आज तोड़कर रख दिया

जिस खुदा से कभी दिनरात मांगा था तुम्हे

आज उनसे दिनरात तुम्हे भूल जाने की ताकत मांगते है

-तेजल

अब उनसे बात नही होती जिन्हें अपनी सारी बात बता चुके है हम

-तेजल

उसने कहा था एकदिन ऐसा आएगा जब तुम सब भूल जाओगी ओर तुम्हे हमारे प्यार के पागलपन पे हसना आएगा

महीनों से इंतजार है उस एकदिन का

-तेजल

Read More