poet and writer fallow me instragram id lamho_ki_guzarishey

प्रेम भारी रसना से जो भक्ति के भाव चख जाता हैं
हर मुराद पूरी हो उसकी जो भोले के दर जाता हैं
मात्र क्षमायाचना से प्राणी तर जाता हैं
इसी लिए तेरा महाकाल मेरा भोले कहलाता हैं...

Trisha R S... ✍️

Read More

सब कुछ तो हैं मेरे पास
फिर जिन्दगी में कुछ कमी क्यूँ हैं

अश्क़ भी सुख चुके हैं मेरे
फिर यह तकिये में नमी क्यूँ हैं

निकल दौड़ आया हूँ,
इस कशमकश से आगे फिर भी
धड़कने उसी मोड़ पर थमी क्यूँ हैं

एक कारवां हैं, साथ मेरे
फिर मुझे हर क़दम पर
तलाश तेरी ही रहीं क्यूँ हैं...

lamho_ki_guzarishey
Trisha R S... ✍️

Read More

बड़े शौक़ से पढ़ते हैं मेरे टूटे दिल के किस्से
जिन्हे हमारी मोहब्बत कभी रास ना आयी...

Trisha R S... ✍️

Lamho
ki
Guzarishey

मोहब्बत की असली परिभाषा पूछो उन शहीदो से...
जिसने अपनी जान गवां कर, ना जाने कितनो की मोहब्त महफूज़ रखा हैं... 🙏🙏🙏

Trisha R S... ✍️

Read More

तुम यूँ बेवजह याद ना आया करो
यादों को भी हिसाब देना पड़ता हैं...
Trisha

तेरे याद का पहलु मेरा साथ नहीं छोड़ता
एक दू हैं की कभी मुड़ के भी ना देखा.....

Trisha R S...✍️
IG//lamho_ki_guzarishey

हाथ थामने से पहले एक वादा कर पावोगे क्या

मैं चल नहीं पाऊँगी,
तुम्हारी महानगर की चौड़ी सड़को पर
तुम हाथ पकड़ कर मेरा
गाँव की पग डंडी पर
बोलो चल पावोगे क्या

तुम शहर के हैंडसम बंदे हो
मैं गाँव की साँवली सी लड़की
सब सौ ताने देंगे तुमको
बोलो सब सह पावोगे क्या

तुम ए सी में पलने वाले
मैं गाँव के सूरज में तपती
धूप में थोड़ा सा तुम भी
बोलो जल पावोगे क्या

तुम संगमरमर के मका में रहने वाले
मेरे घर में हैं कच्ची मिट्टी
तुम दिल की इस कच्ची मकानों में
बोलो तुम रह पावोगे क्या

तुम ब्लैक, कोल्ड कॉफी के दीवाने हो
मैं कुल्हड़ वाली चाय की मस्तानी हूँ
सोंधी सोंधी चाय की दो चुस्की
बोलो तुम भी ले पावोगे क्या

तुम डिस्को डांस दीवाने हो
मैं भक्त आरती माला की
दो पंक्ति भजन की संग मेरे
बोलो तुम भी भज पावोगे क्या

तुम अंग्रेजी गाने के पैमाने हो
मैं शायरी थोड़ी पागल सी
साथ मेरे क्षण भर को पागल
बोलो तुम भी बन पावोगे क्या

तन्हा तुम्ही को करना नहीं
कोशिश मेरी भी होगी
पर जरा तुम सोच लेना
तुम ऐ सब कर पावोगे क्या.... !!

Lamho_ki_guzarishey
Trisha R S...... ✍️

Read More

मेरे अल्फाज़ो को तो सब पढ़ लेते हैं....
तुम उसको पढ़ना जो कोरा सा हैं ...

Lamho_ki_guzarishey
Trisha R S....✍️

इश्क़......
जब माँ दरवाज़े पर ही मुझे रोक कर फोन ना उठाने पर गुस्सा करती हैं
फिर माथे को चुम कर
रोती हुई गले लगाकर जब पूछती हैं इतनी देर क्यूँ हो गयी
यह दुनियां का सबसे खूबसूरत इश्क़ हैं


Lamho_ki_guzarishey
Trisha R S.... ✍️

Read More