Hey, I am on Matrubharti!

शीर्षक- माँ

युग बदले, जीवन बदला,
बदला नहीं तो माँ के अस्तित्व का सार।
माँ आदि, माँ अनंत,
जो कराती संतान को भवसागर पार।
प्रभु ने भी सृष्टि सृजन हेतु जिसे चुना,
अधर्म के विनाश हेतु,
माँ के नत शिर हो लिए युगों अवतार।
माँ शब्द में एक ऐसी मंत्रशक्ति,
जिसके जप से हो जाता कल्याण।
माँ ही तो है हमारे सर्वस्व की पहचान।

माधव ने लिया अवतार,
बड़भागी बन पाया दो माताओं का प्यार।
एक माँ से पाया निश्छल प्रेम,
दूजी से सीखा त्याग, समर्पण के भाव।
संतान के शुभ के लिए जलते
अंगारों पर चल सकती है माँ
स्वयं संजीवनी बन संतान का
वृहत घाव भर देती है माँ ।

श्रीराम ने लिया अवतार,
पाया तीन माताओं का प्यार।
अपनी वचनबद्धता से सिद्ध किया,
माँ के कुटिल वचन में भी
संतान का भला निहित होता है।
माँ के मौन में भी अलौकिक संवाद छिपा होता है।

अपनी औलाद के खातिर इक माँ
कितने दु:ख उठाती हैं।
सीता माता की जीवनी यही दर्शाती है।
मलमल पर पांव धरने वाली
शूल पथ पर चलती जाती है।
अपने संतान के भविष्य के लिए
हर पीड़ा गले लगाती है।
अदम्य साहसी,करूणामयी,भयहारिणी माँ
जो कराती संतान को प्रेमामृत पान।

विनायक का मस्तक कटा,
क्रोधित हो जगजननी ही करने चली सृष्टि का संहार।
विपदा जब निज संतान पर आए
माँ के क्रोध को थामना दुष्कर हो जाए।
माँ के होते हुए उसके बालक का
कोई बाल भी बांका न कर पाए।
संतान के समक्ष अपना सर्वस्व
भूल जाती है माँ ।
प्रथम गुरु बन जीवन के पाठ पढ़ाती है माँ ।

स्वरचित एवं मौलिक
मानसी शर्मा

Read More

शीर्षक- युवा शक्ति

अतुल्य राष्ट्र के नव निर्माता,
हर युग में तू ही बना भाग्य विधाता,
पराकाष्ठा तू वीरत्व की,
अदम्य साहस की मूरत भी,
छू ले गगन ए वीर,
सबल प्रबल चल बहता सदा,
जैसे बहता नीर।

अपार शक्ति का पूंज है तू,
कर्मठता, सृजनात्मकता की अद्भूत गूंज है तू।
निज देश में पल कर अनंत सुखों से आच्छादित हो,
विदेश पलायन करना, मातृभूमि के चरणों में चूभता शूल है।
पर तू तो भारत मां के मस्तक पर सज़ा सबसे मनोहर फूल है।
तू पिंजरे का पंछी नहीं,
उन्मुक्त गगन में विचरण करना है।
"कलाम" के आदर्शों पर चल राष्ट्र पर अपना सर्वस्व न्यौछावर करना है।।

अंतर्मन में क्रांति,अधरो पर मुस्कान,
हिमालय सम अडिग तू,
राष्ट्र को दे नयी पहचान।
राष्ट्र को जरूरत अब,
एक और "आर्यभट्ट" व "प्रताप" की।
अपने परम पुरुषार्थ से इस देश का कर अब उत्थान तू।
बन जितेन्द्रिय,तू जग जीतेगा,
तेरे जयघोष का डंका सर्वत्र बाजेगा।
फिर होगा भारत का भी चहुं ओर वंदन,
राष्ट्र के प्रति तेरे समर्पण का भी होगा अभिनंदन।।

मौलिक एवं स्वरचित
मानसी शर्मा

Read More

Stay away from toxic person

If you wanna be happy
Stay away from toxic person.
If you wanna feel the aroma of positivity
Don’t let the mind enduring such negative burden.

They upset you and bully,
Their tongue get thorny.
They only drag up your flaws,
Always try to hide your virtues.

Your goodness is the reflection of your inner state.
Never try to serve toxin in someone’s plate.
Just liberate yourself from malice and envy
They are the fatal enemy of your humanity.

They try to paint you black,
They only deserve your silence smack.
They always keen to see you in pain.
But good people never do the same.

Just teart others as you want to be treated
Don’t leave the path towards good deed.
let the people prejudice you and judgemental about you,
They can’t dim your dazzle, that’s true.
You have to be good and do good,
May be they are termite but you aren’t wood.


-Mansha

Read More

शीर्षक: देश मेरा

सनातन भारतवर्ष ही संसार का सिरमौर है,
ऐसा पुरातन देश विश्व में न कोई और है।
हुई सभ्यता की शुरुआत जहां से, इसके निवासी कहलाते हम 'आर्य'।
ईश्वर की भवभूतियों का जो प्रत्यक्ष एवं प्रथम भंडार है।
फिर क्यूं न गर्व से कहूं
देश मेरा महान है।

जिसके भाल पर हिमालय सम मुकुट साजे,
कन्याकुमारी नूपुर बन छम-छम बाजे।
नदियां बहाएं सुधा जलधारा,
विविध बोलियों के बीच मातृभाषा नेह पाए ढ़ेर सारा।
विविधता में एकता जिसकी पहचान है।
फिर क्यूं न गर्व से कहूं
देश मेरा महान है।

जिसकी धरोहर "वेद" और स्तम्भ "विज्ञान" है।
जिसकी माटी ने जन्में अमर 'जय जवान' 'जय किसान' है।
लोकतंत्र, गणतंत्र, धर्म निरपेक्षता जिसके चरित्र एवं सद्भाव है।
किसानों की मेहनत व वीरों का वीरत्व जिसका अभिमान है।
फिर क्यूं न गर्व से कहूं
देश मेरा महान है।

जिसके वर्चच्व का डंका चहुं ओर बाजे,
देश मेरा पूर्णतः आत्मनिर्भर लागे।
विश्व शक्ति को भी ढांढस देने में
देश मेरा सज है।
जिसके अनुसरण में अब सर्व जग का उत्थान है।
फिर क्यूं न गर्व से कहूं
देश मेरा महान है।

लाखों सेनानियों ने सैकड़ों बरसों की बेड़ियों को तोडने के लिए,
मां भारती के चरणों पर अपना शीश चढ़ाया।
फिर कहीं जाकर हमने स्वाधीनता का स्वाद पाया।
कम समय में जिसने वैज्ञानिक व तकनीकी रूप से अपना अतुलनीय वर्चस्व बनाया है।
फिर क्यूं न गर्व से कहूं
देश मेरा महान है।

Read More

A blessing from God❤️

You're my whole world,
a true blessing from God.
You're the reason of my smile,
May our duo always shine.

Walking on thorny path became easy,
As you're always there for me.
I'm not afraid of dark,
As I know you're walking ahead of me
to illuminate my path.

Every girl wants a soulmate like you
May God bless our charming duo.
I'm lucky to have you in my life
And pray that you always keep flying high.

You're the ladder of my success,
a foundation of my dream.
Without whom my life is like going downstream.
You are different from other
You are the only one.
I know you love me more than anything,
For that I thank you a ton..

Mansi Sharma
Writer

Read More

If you only grab the positivity from your surroundings… you will be bright even in the dark…

-Mansha

If you wanna reach your goal, you have to come out of your comfort zone.

-Mansha

Your goodness is the reflection of your inner state.
Never try to serve toxin in someone’s plate.
Just liberate yourself from malice and envy
They are the fatal enemy of your humanity

-Mansha